राजस्थान के जल महल के बारे में आपने जरूर सुना होगा शायद आप वहां पर गई भी हों। लेकिन अब आपको देश के एक दूसरे जल महल के बारे में जान लेना चाहिए। ये जलमहल भी राजस्थान वाले महल की तरह ही सुंदर और राजसी अहसास देता है। इसका नाम है नीर महल और ये है त्रिपुरा में। त्रिपुरा को अभी भी लोग अपनी ट्रेवल लिस्ट में शामिल नहीं करते हैं। लेकिन नीर महल जैसे माउनमेंट आपको इस राज्य की ओर जरूर खींच लाएंगे। नीर महल को देखने की इच्छा हो रही है तो चलिए इस खास महल के बारे में जान लेते हैं। ये महल और इसके बनने के पीछे की कहानी  ये रही-

कैसे जाएं- त्रिपुरा की राजधानी अगरतला से 55 किलोमीटर दूर बनीरुद्रसागर झीलही इस महल का ठिकाना है। नीरमहल बिलकुल इस झील के बीचोंबीच बना है। इस जगह का नाम मेलाघर है। अगर आप ट्रेन से यहां आएंगी तो सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन कुमारघाट है जो यहां से 160 किलोमीटर दूर है। 200 किलोमीटर दूर धर्म नगर भी पास का रेलवे स्टेशन ही है। लेकिन आपको नजदीकी यात्रा करनी है तो आपको हवाई यात्रा ही करनी होगी क्योंकि अगरतला एयरपोर्ट रेलवे स्टेशन की तुलना नीरमहल से ज्यादा पास है।

गर्मियों का 90 साल पुराना महल- ये महल करीब 90 साल पहले बनवाया गया था। 1930 में इसेमहाराजा बीर बिक्रम किशोर देबबर्मनने बनवाया था। इसको बनवाने का मकसद खास गर्मी के लिए राजसी ठिकाना बनाना था।ग्रीष्मकालीन महलके तौर बनवाते हुए भी इसकी वास्तुकला का खास ध्यान रखा गया है। इसमें हिंदू और मुस्लिम दोनों ही शैलियों का इस्तेमाल हुआ है।

बलुआ पत्थर से बना सुंदर महल- ये महल पानी के बीच में बना है लेकिन किसी खास मटेरियल से नहीं बनाया गया है बल्कि इसको बलुआ पत्थर और संगमरमर से बनवाया गया है। इसका सफ़ेद लुक आपको बाहर से ही सुंदर और प्रभावी लगेगा। इसकी सुंदरता बढ़ाने मेंफ्लड लाइटेंऔर बगीचे भी पूरी भूमिका निभाते हैं।

 9 साल में तैयार हुए महल-  इस महल को तैयार होने में पूरे नौ साल का समय लगा। इसमें 24 कमरे हैं तो पूर्वी इलाके में ओपन एयर थिएटर भी है। जहां कई इवेंट भी होते हैं। जबकि महल का पश्चिमी इलाका रॉयल परिवार के लिए है। महल बहुत सोच समझ कर बनवाया गया है क्योंकि यहां नौकरों के लिए भी अलग से कमरे हैं।

जल महोत्सव है खास-  अगस्त में हर साल आयोजित होने वाले जल उत्सवमें ही लोग यहां की यात्रा ज्यादा करते हैं। इस दौरान यहां नाव की दौड़ और तराइकि प्रतियोगिता भी होती है। यहां पर वॉटर स्पोर्ट्स का मजा भी लिया जा सकता है और अनोखे विदेशी पक्षी भी देखे जा सकते हैं।

ट्रैवलसंबंधी हमारे सुझाव आपको कैसे लगे?अपनी प्रतिक्रियाएं जरूरभेजें। आपट्रैवलसंबंधी टिप्स व ट्रेंड्स भी हमें ईमेल कर सकते हैंeditor@grehlakshmi.com

ये भी पढ़ें- पटना में गुजारिए24घंटे,ये जगह निराश नहीं करेगी आपको