googlenews
गल्र्स ऑन दि गो

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी हर किसी को प्रभावित कर रही है। इसके बुरे प्रभाव से बचने के लिए जरूरी है लाइफ में रिफ्रेशमेंट की। रिफ्रेशमेंट के लिए घूमना एक अच्छा ऑप्शन है, लेकिन घूमने का मजा तभी आता है जब परिवार या दोस्तों का साथ हो। एकल महिलाओं के सामने अक्सर एक बड़ी समस्या होती है कि वह अकेले कहां जाएं और कैसे एंजॉय करें। वुमेन ऑन क्लाउड्स, वॉव क्लब यानी यानी वुमेन ऑन वंडरलस्ट और गल्र्स ऑन दि गो जैसी कई वुमेन ट्रैवल क्लब्स हैं, जो सिर्फ महिलाओं को अपने ट्रिप्स का हिस्सा बनाते हैं। इन क्लब्स का फंडा बाकी ट्रैवल वेबसाइट्स से काफी अलग होता है। यह क्लब्स पहले से ही अपने ट्रिप्स प्लान करते हैं, जैसे कहां जाएंगी, कब जाएंगे और वहां क्या-क्या करेंगे। साथ ही इस ट्रिप में प्रति व्यक्ति कितना खर्च आएगा और उसमें क्या-क्या शामिल होगा। इन सभी जानकारियों के आधार पर महिलाएं ट्रिप में शामिल होती हैं। ट्रिप्स पर जाने वाले ग्रुप में सदस्यों की निश्चित संख्या होती है जिसके पूरे होते ही ग्रुप बन जाता है। इन ट्रिप्स पर जाकर महिलाओं को खूब मौज मस्ती करने का मौका मिलता है। हर पूर्वनियोजित ट्रिप में महिलाओं का ग्रुप जाता है। इन ट्रिप्स में देश और विदेश के टूर पैकेज उपलब्ध होते हैं। इन क्लब्स की खास बात ये है कि इसमें महिलाओं को किसी के सहारे की जरूरत नहीं पड़ती है। अलग-अलग जगहों से हर ऐज ग्रुप की महिलाएं आती हैं। ऐसे में महिलाओं को एक-दूसरे से काफी कुछ सीखने को और साथ में नए-नए दोस्त भी मिलते हैं। इस तरह के ट्रिप्स महिलाओं के जीवन में आत्मविश्वास के साथ उमंगों की नई उड़ान भी भरते हैं। 

वॉव यानी वुमेन ऑन वंडरलस्ट

वॉव ट्रैवल क्लब समय-समय पर महिलाओं के लिए इंडिया और वल्र्ड टूर दोनों तरह के टूर पैकेज का आयोजन करता है। वॉव क्लब में महिलाएं छोटे बच्चों को भी ले जा सकती हैं। उनके लिए कुछ अलग पैकेजेस होते हैं। क्लब की महिला सदस्य अब तक देश विदेश के अनेक खूबसूरत डेस्टिनेशंस घूम चुकी हैं। इनमें इजिप्ट, मलेशिया, स्विटजरलैंड, लद्दाख, मुंबई आदि स्थान शामिल हैं। वॉव क्लब द्वारा आयोजित मलेशिया ट्रिप का हिस्सा बनी दिल्ली की प्रेमलता सिंह कहती हैं कि मेरा मलेशिया का ट्रिप बहुत यादगार रहा। मैं एक सिंगल वुमेन हूं और मुझे घूमने का बहुत शौक है। लेकिन अकेले मैं घूमने नहीं जा पाती थी। अपनी फैमिली के साथ घूमने जाना मुझे बहुत पसंद है लेकिन अब मेरे भाई-बहन सभी अपने अपने परिवारों में व्यस्त हैं। ऐसे में वॉव क्लब ने मेरे सपनों को साकार किया। उस ट्रिप में मैंने केवल मस्ती ही नहीं की बल्कि मुझे हमेशा के लिए कई ऐसे दोस्त मिल गए जो मेरे लिए अनमोल हैं। क्लब के टूर पैकेजेस में महिलाओं के टिकट्स, होटल, फूड आदि सभी कुछ शामिल होता है।

वंडर क्लाउड क्लब

वंडर क्लाउड क्लब में महिलाओं के लिए नए और एक्जॉटिक टूर पैकेजेस का आयोजन किया जाता है, जिसमें भारत और विदेश की कई आकर्षक जगहें शामिल होती हैं। ये क्लब यात्रा के दौरान महिलाओं के मनोरंजन के लिए एक्टिविटीज का भी आयोजन करता है। वंडर क्लाउड के लद्दाख ट्रिप का हिस्सा बनी हरियाणा की पल्लवी सिंह का कहना है कि इस तरह की यात्रा मेरे लिए एक अनोखा अनुभव था। मैं घर की चारदिवारी से निकलकर एक अलग ही दुनिया में चली गई थी। इस ट्रिप के माध्यम से मुझे लद्दाख की खूबसूरती ही नहीं, बल्कि नए दोस्तों से मिलने का भी मौका मिला। ग्रुप के साथ फोटो और सेल्फी जैसी चीजों के लिए सजने-संवरने का मेरा पुराना शौक जाग उठा। मैं तो कहूंगी कि सभी महिलाओं को बिना किसी पुरुष के सहयोग के एक बार इस तरह के टूर पैकेज को आजमाना चाहिए। 

गल्र्स ऑन दि गो

गल्र्स ऑन दि गो क्लब मुंबई बेस्ड बुमेन सोलो ट्रैवल क्लब है। इसमें महिला घुमक्कड़ी के लिए कई अमेजिंग और नई जगहों के पूर्वनियोजित टूर पैकेज मिलेंगे, जैसे कि लद्दाख, नागालैंड, स्पेन, अंटार्टिका आदि। इसके एक ट्रिप में 15 से 30 महिलाएं शामिल होती हैं। बदलते समय में महिलाओं के लिए ये एक अच्छा प्लेटफॉर्म है, जिसमें एकल महिलाएं बिना पुरुषों के दुनिया भर की सैर का मजा उठाती हैं। महिलाओं के ग्रुप का टूर पैकेज काफी रोचक होता है। महिलाएं यात्रा का पूरा मजा उठा सकें, इसलिए उनके लिए कई तरह की एक्टिविटीज़ और एडवेंचर्स का भी आयोजन किया जाता है। इन टूर पैकेजेस की कीमत भी अलग-अलग होती है, जो आपके पैकेज के चुनाव पर निर्भर करती हैं। गल्र्स ऑन दि गो के गोवा ट्रिप पर गई उदयपुर की चांदी खेतरपाल हमें बता रही हैं कि गोवा जाने का मेरा बहुत मन था। मैंने अपने दोस्तों के साथ कई बार प्लान बनाया पर कुछ कारणों से मेरा प्लान बार-बार कैंसिल हो रहा था। फिर मैंने गल्र्स ऑन दि गो क्लब के बारे में पढ़ा, उनकी वेबसाइट पर जाकर सदस्यता ली और पहले से प्लान्ड ट्रिप में अपना नाम दर्ज कराया। वो गोवा ट्रिप मेरे लिए आज भी यादगार है। मैंने गोवा के कई बीच घूमे। वहां जो मौज मस्ती की, वह अक्सर मुझे यादों में गुदगुदा जाती है।

दिवा ओडिसेज़

अगर आप लग्जरी हॉलीडे पैकेज प्लान कर रही हैं तो आप दिवा ओडिसेज़ के ट्रिप को भी चुन सकती हैं। इसमें देश-विदेश की कई जगहों के पूर्वनियोजित ट्रिप पैकेज उपलब्ध हैं। 18 महिलाओं के ग्रुप के इस ट्रिप का हिस्सा मां और बच्चे दोनों बन सकते हैं। दिल्ली की आयशा खान अपने ऑस्ट्रेलिया ट्रिप का अनुभव बताती हैं कि मेरे पति कंपनी प्रोजेक्ट की वजह से पिछले 7 महीनों से अमेरिका में हैं। मैं और मेरा बेटा यहां अकेले रहते हैं। विंटर वेकेशन की छुट्टियों में में मेरा बेटा कहीं बाहर घूमने जाना चाहता था, लेकिन परेशान थी कि अकेले उसे लेकर जाऊं कैसे? फिर मैंने दिवा ओडिसेज़ का ऑस्ट्रेलिया ट्रिप पैकेज लिया जहां हमने बहुत मस्ती की। इस ट्रिप पर मुझे और मेरे बेटे को नये दोस्त भी मिले जो अब भी हमारे संपर्क में हैं। वहां हमें अनेक एक्टिविटीज और एडवेंचर्स करने को मिले जो हमेशा के लिए यादगार बन गए। मैं इसलिए भी और ज्यादा खुश थी, क्योंकि मेरे बेटे ने वहां बहुत एंजॉय किया। मैंने तय किया है कि मैं अपने बेटे के साथ अब हर साल ऐसे ट्रिप्स पर जाया करूंगी। द्य