googlenews
जानिए नवजात शिशु को सुलाने की सही पोजीशन क्या है: Newborn Sleep Pattern
Newborn Sleep Pattern

सोने की स्थिति भी नवजात शिशु के लिए मायने रखती है

बच्चे के सही विकास के लिए जरूरी है कि आपको बच्चे को खिलाने से लेकर सुलाने तक की सही तरीका पता हो। नवजात शिशु का सही पोजीशन में सोना सेहत के लिए जरूरी है। बच्चे को गलत पोजीशन में सुलाने से बहुत नुक्सान हो सकता है। इसलिए आपको शिशु को सुलाने के मामले में विशेष ध्यान देने की जरूरत है।

Newborn Sleep Pattern: नए पेरेंट्स के लिए बच्चों को बड़ा करना चुनौतीपूर्ण होता है। पहले कुछ महीने बच्चे की छोटी-छोटी बातों पर बहुत ध्यान देना होता है। बच्चे के सही विकास के लिए जरूरी है कि आपको बच्चे को खिलाने से लेकर सुलाने तक की सही तरीका पता हो। नवजात शिशु का सही पोजीशन में सोना सेहत के लिए जरूरी है। बच्चे को गलत पोजीशन में सुलाने से बहुत नुकसान हो सकता है। इसलिए आपको शिशु को सुलाने के मामले में विशेष ध्यान देने की जरूरत है। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि आपके बच्चे के लिए कौन सी सही स्लीपिंग पोजीशन है।

अगर आप नहीं जानते और अपने नवजात शिशु की स्लीपिंग पोजीशन को लेकर परेशान रहते हैं, तो चलिए हम आपको बताते हैं:

Newborn Sleep Pattern: हमेशा पीठ के बल सुलाएं

Newborn Sleep Pattern
Always sleep on your back

नवजात शिशु को सुलाने के लिए बेस्ट पोजिशन होती है पीठ के बल सुलाना। कई शोध और अध्ययनों में पाया गया है कि नवजात शिशु को पीठ के बल ही सुलाना चाहिए। इससे अचानक मृत्यु यानी सडन इंफेंट डेथ सिंड्रॉम का खतरा कम होता है क्योंकि पीठ के बल सोने से बच्चे को सांस लेने में तकलीफ नहीं होती है। इस स्थिति में शिशु का दम नहीं घुटता है। बच्चे को पीठ के बल सोने से वो काफी रिलेक्स महसूस करते हैं। ये सबसे सेफ पोजीशन है। जब बच्चा बड़ा होने लगता है, तो वो खुद ही करवट बदल लेता है। कई बार बच्चे खुद ही रोल हो जाते हैं और स्लीपिंग पोजिशन बदल लेते हैं। ऐसे में घबराने की जरूरत नहीं है बस बच्चे को फिर से पीठ के बल सुला दें। अगर बच्चा खेलते-खेलते रोल हो रहा है, तो इससे उसका विकास अच्छा होता है। इसलिए उसे ऐसा करने दें। पीठ के बल सोने से नवजात शिशु मे रिफ्लक्स का कोई खतरा नहीं होता। अगर कोई फ्लूइड नवजात के मुंह में आ भी जाए, तो वे उसे निगल लेते हैं।

शिशु को सही पोजीशन में सुलाने के साथ ही इन बातों का ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है:

  • बच्चे के सिर की दिशा को समय-समय पर बदलते रहना बहुत जरूरी होता है। अगर आप बच्चे के आसपास ना हो और बच्चा जाग ना रहा हो, तो उसे तकिये पर ना सुलाएं। इससे उसके सिर की दिशा एक जगह स्थिर हो जाएगी, जो सही नहीं है।
  • स्तनपान के बाद बच्चे को तुरंत ना सुलाएं, क्योंकि ऐसा करने से बच्चा उल्टियां करना शुरू कर सकता है।
  • कई बार पेरेंट्स नवजात को आराम और अच्छी नींद देने के लिए या रोने से बचाने के लिए शिशु को पेट के बल सुला देते है, लेकिन ये स्लीपिंग पोजीशन नवजात के लिए बिलकुल भी सेफ नहीं है।
Newborn Sleep Pattern Tips
Newborn Sleep Pattern Tips
  • नवजात शिशु को करवट के बल नहीं सुलाएं। इस स्लीपिंग पोजीशन में भी नवजात को अच्छी तरह से ऑक्सीजन नहीं मिल पाती है और उसको सांस लेने में दिक्कत हो सकती है।

Leave a comment