एनबीएफसी यानि नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी से संबंधित कई ऐसी बातें हैं, जिसके बारे में आम लोगों को जानना जरूरी है। इसके बारे में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अपनी लेटेस्ट बुकलेट में इसके बारे में लोगों को शिक्षित करने की कोशिश की है। यह आर्टिकल एनबीएफसी डिपॉजिट और उससे जुड़ी सावधानियों के बारे में है।

कैसे पता चलेगा कि डिपॉजिट लेने वाला एनबीएफसी असली है या नहीं?

डिपॉजिट करने वालों को यह सत्यापित करना चाहिए कि डिपॉजिट स्वीकार करने वाली एनबीएफसी की लिस्ट में है या नहीं, जो https://rbi.org.in पर उपलब्ध है। साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि यह डिपॉजिट स्वीकार करने की प्रतिबंधित कंपनी की लिस्ट में नहीं है।

एनबीएफसी को अपनी साइट पर रिजर्व बैंक द्वारा जारी रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (सीओआर) को मुख्य तौर पर डिस्प्ले करना चाहिए। इस सर्टिफिकेट में यह भी दिखना चाहिए कि एनबीएफसी को विशेष तौर पर आरबीआई द्वारा डिपॉजिट स्वीकार करने के लिए अधिकृत किया गया है। डिपॉजिट करने वालों को यह सुनिश्चित करने के लिए कि सर्टिफिकेट की जांच करनी चाहिए कि एनबीएफसी डिपॉजिट स्वीकार करने के लिए अधिकृत है।

एनबीएफसी 12 महीने से कम और 60 महीने से ज्यादा की अवधि के लिए डिपॉजिट को स्वीकार नहीं कर सकते हैं और डिपॉजिट करने वाले को एनबीएफसी द्वारा भुगतान की जाने वाली अधिकतम ब्याज दर 12.5% से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

रिजर्व बैंक ब्याज दरों में बदलाव को https://rbi.org.in → साइटमैप → एनबीएफसी लिस्ट → अक्सर पूछे जाने वाले सवाल पर प्रकाशित करता है।

डिपॉजिट करने वालों द्वारा ली जाने वाली सावधानियां

डिपॉजिट करने वाले को कंपनी के पास रखी गई डिपॉजिट की हर राशि के लिए एक उचित रसीद लेने पर जोर देना चाहिए।

उस रसीद पर कंपनी द्वारा अधिकृत अधिकारी द्वारा हस्ताक्षर होना चाहिए। इस पर डिपॉजिट की तारीख, डिपॉजिट करने वाले का नाम, शब्द और अंक में राशि, भुगतान का ब्याज दर, मैच्योरिटी तारीख और धन राशि लिखा होना चाहिए।  

ब्रोकर या एजेंट आदि के मामले में, जो एनबीएफसी की ओर से पब्लिक डिपॉजिट जमा करते हैं, डिपॉजिट करने वालों को खुद को संतुष्ट करना चाहिए कि ब्रोकर या एजेंट को एनबीएफसी द्वारा सही तरह से अधिकृत किया गया है।

डिपॉजिट करने वाले को यह ध्यान में रखना चाहिए कि एनबीएफसी के डिपॉजिट करने वालों के लिए डिपॉजिट इंश्योरेंस सुविधा उपलब्ध नहीं है।

आरबीआई को ऑनलाइन शिकायत कैसे दर्ज करें

कृपया इस लिंक पर जाएं – https://cms.rbi.org.in/ सेबी को शिकायत

कृपया इस लिंक पर जाएं – https://scores.gov.in/ भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण (आईआरडीएआई) को शिकायत  

कृपया इस लिंक पर जाएं – https://igms.irda.gov.in/नेशनल हाउसिंग बैंक (एनएचबी) को शिकायत

कृपया इस लिंक पर जाएं – https://grids.nhbonline.org.in/ साइबर पुलिस स्टेशन को शिकायत

कृपया https://cybercrime.gov.in/ पर जाएं।

 

ये भी पढ़ें –

RBI Alert : एमएलएम स्कीम धोखेधड़ी और जाली दस्तावेजों के साथ धोखाधड़ी वाले लोन से रहें सावधान

RBI Alert : नकली विज्ञापन, एसएमएस, ईमेल, इन्स्टेन्ट मैसेजिंग, वेबसाइट या एप से मिलने वाली लोन धोखेधड़ी से रहें सावधान

 

मनी अलर्ट सम्बन्धी यह आलेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही टेक्नॉलजी से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com