भारतीय समाज में बहुत ही कम होता है कि पति अपनी पत्नी का एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के बारे में जानकर उसे माफ कर दे , उससे तो सीधे रिश्ता ही तोड़ दिया जाता है और बात तलाक तक पहुंच जाती है। आखिर क्यों नहीं पुरुषों की तरह ही उन्हें भी दुबारा अपने रिश्ते को जोड़ने का मौका मिलता है। क्यों नहीं पुरुष भी यही सोच पाता है कि उस में भी कोई कमी रही होगी तभी उसकी पत्नी किसी और की तरफ आकर्षित हुई होगी। 

एक रिसर्च के मुताबिक पुरुष की तुलना में महिलाओं के कम ही एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर बन पाते हैं। इसकी वजह यह भी है कि महिलाओं की तुलना में पुरुषों को इस तरह के रिश्ते में खासी दिलचस्पी होती है।

रिलेशनशिप व फैमिली कांउंसलर निशा खन्ना का कहना है कि इसमें कोई शक नहीं कि अगर कोई शादीशुदा महिला किसी और से अपने संबंध रखती है तो उसका पति उसे दुबारा बहुत कम ही अपना पाता है।  ऐसा क्यों होता है और इसके पीछे कौन सी वजहें हैं आईये जानते हैं-

1- एक पुरुष के लिये उसकी इज्जत बहुत ही मायने रखती है और कई पुरुष अपनी इज्जत को अपनी पत्नी से जोड़कर भी देखते है। जब उनको यह पता चलता है कि उनकी पत्नी का किसी और के साथ अफेयर है तो उन्हें काफी धक्का लगता है, उन्हें लगता है कि उनकी इज्जत सरेआम निलाम हो गई है और इसी वजह से वह अब दुबारा कोई रिश्ता अपनी पत्नी से नहीं रखना चाहता है।

2- सबसे अहम बात यह है कि एक लड़की चाहे वह कितना भी पढ़ी-लिखी हो, शादी के बाद उसे पति के घर ही रहना पड़ता है। पति कभी भी अपनी पत्नी पर निर्भर नहीं होता जबकि कई सारी शादीशुदा महिलायें आज भी अपने पति पर निर्भर  है। पति को जब पता चलता है कि उसकी पत्नी का किसी और से अफेयर है तो उसको अपनी जिंदगी से आसानी से निकाल फेंकता है।

3- बहुत से पुरुष रिश्ते में मिले धोखे को बर्दाश्त नहीं कर पाते और उनके लिये अपनी पत्नी को माफ करना बेहद ही मुश्किल होता है।

4- एक कारण यह भी है कि हम जिस समाज में रहते है उसका भी भय होता है, भय होता है जग हसाई का। एक पुरुष के लिये समाज में अपनी प्रतिष्ठा को बनाये रखना बेहद ही मायने रखता है और इसी वजह से वह अपनी पत्नी को माफ करने में कतराता है।

5- लड़कियां लड़कों के मुकाबले ज्यादा इमोशनल होती है और यही वजह है कि पति चाहे कितनी भी गलती करें, वह माफ कर देती हैं जबकि एक पति के लिये ऐसा करना बहुत ही मुश्किल होता है क्योंकि लड़के लड़कियों के मुकाबले में मानसिक रुप से मजबूत व प्रैक्टिल ज्यादा होते हैं।

विवाह एक ऐसा बंधन है जिसमें हर जोड़ा एक साथ जीने-मरने की कसमें खाता है और एक-दूसरे के सुख-दुख में सहभागी बनने का वादा भी करता है। लेकिन यह जोड़ें अब बिखरने लगे हैं, आप चाहे बदलती जीवन शैली, आपस में टकराता अहम, बढ़ती उम्मीदें, पैसा या कोई और वजह कह ले, सच तो यही है कि अब ये शादीशुदा जोड़े शादी के कुछ समय बाद अपने रिश्ते से बोर होने लगते हैं और किसी और की तरफ आकर्षित हो जाते  हैं। इस भाग-दौड़ भरी जिंदगी में बेहद जरुरी है कि चाहे पति हो या पत्नी एक दूसरे के प्रति समर्पित हो और अपने प्यार  से रिश्ते की ताज़गी को बनाये  रखे ताकि कोई तीसरा आकर रिश्ते में दरार ना डालें।