googlenews
भोलेनाथ
महादेव को प्रसन्न करने के लिए लोग उन्हें चंदन, बेल पत्र, भांग-धतूरा, दूध और भस्म चढ़ाते हैं। लेकिन क्या आपको पता कि कुछ ऐसी चीजें भी है जिनको भूलकर भी भोलेबाबा को अर्पित नहीं की जानी चाहिए। आइये जानते हैं, वे कौन-सी वस्तुएं है जो शिवलिंग पूजा में पूर्णतः निषेध है।
 
तुलसी
 
शिव पुराण के अनुसार कभी भी शिवलिंग की पूजा के समय तुलसी की पत्तियों की उपयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि भोलेनाथ ने देवी वृंदा के पति जलंधर का वध किया था। अपने पति की मौत से नाराज़ तुलसी ने भगवान शिव का बहिष्कार कर दिया था।
 
नारियल पानी
 
शिवलिंग पर नारियल तो अर्पित किया जाता है लेकिन शिवलिंग पर नारियल के पानी से अभिषेक नहीं करना चाहिए। देवताओं को चढ़ाया जाने वाला प्रसाद सभी लोग ग्रहण करते हैं लेकिन शिवलिंग का अभिषेक जिन सामग्रियों से होता है उन्हें ग्रहण नहीं करते हैं इसलिए शिवलिंग पर नारियल का पानी नहीं चढ़ाना चाहिए।
 
केतकी का फूल 
 
शिव पुराण के अनुसार केतकी के फूल ने भगवान शिव से झूठ बोला था। इस कारण शिवजी की आराधना करते समय केतकी के फूल को नहीं चढ़ाना चाहिए। इसके साथ ही गुडहल के फूल को भी शिवजी की पूजा में वर्जित माना जाता है।
 
कुमकुम
 
भगवान शिव विध्वंसक के रूप में भी जाने जाते हैं इसलिए शिवलिंग पर कुमकुम चढ़ाना वर्जित है। 
 
हल्दी
 
शिवलिंग पर हल्दी कभी नहीं चढ़ाई जाती है।