googlenews
ट्रेडमिल पर भागना बेहतर है

आज के समय में हर कोई खिद को फिट रखना चाहता है। फिट रखने के लिए रनिंग के बेहतरीन ऑप्शन है। रनिंग से कई फायदे हैं जो हमारे शरीर को हेल्थी बनाए रखने के साथ-साथ वरदान साबित हो सकता है। रनिंग भी दो तरह की है। पहली आउटडोर रनिंग यानि की घर के बाहर किसी पार्क या रोड में दौड़ना। दूसरी ट्रेडमिल में रनिंग यानि घर या जिम के अंदर मशीन में दौड़ना। हालंकि कुछ लोगों को सिर्फ दौड़ने से मतलब होता है चाहे वो आउटडोर हो या ट्रेडमिल। लेकिन कुछ लोग इस बात में ही कन्फ्यूज रहते हैं कि दोनों में कहां पर रनिंग बेस्ट होती है। तो आज हम इस लिख के जरिये आपकी इस समस्या को हल करने की क्पोशिश करेंगे। जो आपके बेहद काम आने वाली है।

पहले जानें ट्रेडमिल के फायदे– ट्रेडमिल एक व्यायाम मशीन है जिसमें कंट्रोलिंग रोटेटिंग बेल्ट होती है जिस पर आप चल सकते हैं या अपनी तय स्पीड के अनुसार दौड़ भी सकते हैं। ट्रेडमिल अधिकांश एक्सरसाइज के लिए इस्तेमाल में लाया जाता है। आप इसे दुकानों या ऑनलाइन खरीद सकते हैं। ट्रेडमिल का उपयोग करने का कई फायदा है। अधिकांश ट्रेडमिल घर के अंदर होते हैं, आप इसे दिन या रात और किसी भी जलवायु में उपयोग कर सकते हैं। यह उन लोगों के लिए अधिक सुलभ हो सकता है जो रात में व्यायाम करते हैं। इसके अलावा कोई इंजरी से ठीक हो रहा है तो वो ट्रेडमिल के जरिये धीरे-धीरे आगे बढ़ सकता है। ट्रेडमिल पर दौड़ना आपके जोड़ों के लिए बेहतर हो सकता है क्योंकि अधिकांश ट्रेडमिल में कुछ प्रभावों को अवशोषित करने के लिए कुशन बेल्ट होते हैं। 

अब जानें नुकसान– ट्रेडमिल अधिकांश घर के अंदर या किसी जिम में ही रख रखते हैं। यो सिर्फ एक ही जगह पर स्थित रहता है। आप अपने अनुरूप इसका स्थान आसानी से बदल नहीं सकते। ये एक समय के बाद बोरिंग भी लग सकता है। हालांकि ट्रेडमिल है तो इसे चलाने के लिए पर्याप्त बिजली का उपयोग होता है। जो आपको महंगा पड़ सकता है। बात मिडिल क्लास की करें तो ट्रेडमिल में दौड़ना आपको महंगा भी पड़ सकता है। 

अब जानें आउटडोर रनिंग के फायदे– आउटडोर रनिंग में बाहर की ओर एक पगडंडी, रास्ता, फुटपाथ या किसी अन्य बाहरी इलाके को चलाना शामिल है। अधिकतर लोग ताजी हवा, असमान जमीन की चुनौती और चलने वाले मार्गों के लिए असीमित विकल्पों के कारण आउटडोर दौड़ लगाते हैं। रनिंग स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाती है। बाहर दौड़ने से हमें ताज़ी हवा मिलती है। जिससे तनाव के साथ साथ आपको फेफड़ों से सम्बंधित तनाव से छुटकारा मिलता है। आउटडोर रनिंग आपको प्रकृति से अधिक जुड़े रखने में मदद करता है। आउटडोर रनिंग आपको मांसपेशी समूहों को सक्रिय करने और बेहतर संतुलन विकसित करने में मदद कर सकती है। शोधकर्ताओं की मानें तो जब आप कठिन सतहों पर चल रहे होते हैं तो बाहर की हड्डियां मजबूत हो सकती हैं। आपके जानकार ख़ुशी होगी कि आउटडोर रनिंग पूरी तरह से मुफ्त है। जहां आपको कुछ भी खर्चा करने की जरूरत नहीं होती।

अब जानें नुकसा– शुष्क, मध्यम गर्म तापमान में सड़क पर दौड़ना सबसे अच्छा है। इस बीच  बारिश, बर्फ और बेहद ठंडे या गर्म तापमान में ये जोखिम भरा हो सकता है। अधिक ठंड या गर्मीं में बाहर दौड़ना खतरनाक है। वहीं रात में दौड़ने से चोट लगने का खतरा बढ़ जाता है। अगर आपकी आदत आउटडोर रनिंग की है तो आप खुद भी बदलते मौसम में बाहर नहीं दौड़ पाते होंगे।

रनिंग के कई फायदे हैं। जिससे हड्डियों के साथ-साथ मांसपेशियां मजबूत होती है। आप खुद को फिट महसूस करते हैं और निरोगी रहते हैं। रनिंग कहीं भी करें चाहे वो ट्रेडमिल में हो या आउटडोर। फायदे और नुक्सान दोनों में ही हैं। लेकिन काम एक ही है। इसलिए आप अपनी सुविधा, समय और आय के हिसाब से कोई भी विकल्प चुन सकते हैं। दोनों के बीच स्वास्थ में डालने वाले प्रभाव में कुछ खास अंतर नहीं है।

यह भी पढ़ें

अपने इम्यून सिस्टम को कैसे मजबूत बनाएं