googlenews
जानिए 10 मिनट में कैसे पूरी करें 8 घंटे की नींद: Yoga Nidra Benefits
Yoga Nidra Benefits

Yoga Nidra Benefits: योग निद्रा यानी आध्यात्मिक नींद जो व्यक्ति की इद्रियों पर काबू पाने का एक आसान रास्ता है। योग निद्रा से इधर-उधर भटक रहे मन को वश में किया जा सकता है और नींद की गुणवत्ता को भी बढ़ाया जा सकता है। इससे 7 से 8 घंटे की नींद को आप महज 10 मिनट में पूरा कर सकते हैं। आध्यात्मिक नींद एक ऐसी कीमती नींद है जिससे चंद मिनटों में तनाव और थकान दूर हो जाती है। दरअसल, सोने और जागने के बीच की स्थिति को ही योग निद्रा का नाम दिया गया है।

सदियों से हमारे ऋषि मुनि ध्यान की मुद्रा में समाधि लगाकर बैठा करते थे। उनकी साधना और कड़ी तपस्या की बदौलत उन्हें बहुत से वरदान प्राप्त भी हुए। अगर आप भी अपने जीवन को कुशल और चिंता मुक्त रखना चाहते हैं, तो कुछ देर तक योगनिद्रा का अभ्यास अवश्य करें। उसके लिए इन बातों का ख्याल रखें।

योग निद्रा के लिए रखें इन बातों का ध्यान

Yoga Nidra Benefits and Tips
Practice Yoga Nidra in a room with a very calm environment
  • योग निद्रा का अभ्यास उस कक्ष में करें, जहां बहुत अधिक शांत वातावरण हो और किसी प्रकार की कोई बातचीत न हो, ताकि ध्यान भंग न हो पाए।
  • योग निद्रा का अभ्यास आप दिन में जागकर करते हैं, तो इस बात का ध्यान रखें कि बहुत ज्यादा मुलायम गद्दे पर सोने की गलती न करें। इसके लिए आप योगा मैट का भी प्रयोग कर सकते हैं।
  • इसे करने के लिए सबसे पहले कमर के बल लेट जाएं और पूरे शरीर को ढीला छोड़ दें।
  • इस बात का ख्याल रखें कि आपके शरीर का कोई हिस्सा अकड़ा तो नहीं है। इसके बाद आपको अपनी सांस पर ध्यान केन्द्रित करना है और अपनी सांस को आते और जाते हुए महसूस करना है।
  • अब धीरे-धीरे आप बाहरी दुनिया से खुद को अलग कर लें।
  • इससे अब मन पर धीरे-धीरे आपका नियंत्रत बनने लगता है।
  • इसके बाद आप अपना ध्यान पंजों पर ले जाएं और आपके शरीर का दिनभर वजन उठाने वाले पंजों को ढीला छोड़ दें और मन की आंखों से अपने पैरों को देखने का प्रयास करें।
  • शरीर के बाकी हिस्सों को भी बंद आंखों से देखने का प्रयास करें। अब घुटनों पर अपने ध्यान को ले आएं।
  • इसी प्रकार से अपने ध्यान को धीरे-धीरे शरीर के सभी हिस्सों पर एक-एक कर ले आएं और समस्त शरीर ढीला पड़ने लगेगा।
  • खुद को पूरी तरह से रिलैक्स कर दें। धीरे-धीरे ध्यान कंधों पर आ जाता है और फिर गर्दन तक पहुंच जाता है। उसके बाद ध्यान चेहरे पर आ जाता है।
  • शरीर के सभी हिस्से सुकून महसूस करने लगेंगे। इसके बाद शरीर से तनाव दूर हो जाता है।
  • आप चाहकर भी अपने हाथों पैरों को नहीं उठा पाते हैं। गहरी सांस लें और उर्जा का अनुभव करें।
    नकारात्मक गतिविधियां अपने आप समाप्त हो जाती हैं।

अब हथेलियों को आंखों पर रखें। अब आप आसन पर बैठ जाएं और खुद को शांत रखें। शरीर में एक नई शक्ति और उर्जा का संचार होता है। जिसके बाद आपका मन पूरी तरह से आपके वश में आ चुका होता है। अगर आप ध्यान की निरंतर प्रैक्टिस करेंगे, तो आापके अंदर न केवल एकाग्रता बढ़ेगी बल्कि दस मिनटों के इस प्रयास से आप आठ घंटे की नींद भी पूरी कर पाएंगे।

Leave a comment