googlenews
#हेल्थ

कुछ ही दिन पहले काफी टाइम के बाद मैं अपनी फ्रेंड पूजा के घर डिनर पर गयी थी। पूजा ने बहुत ही लाजबाब खाना बनाया था। मुझे खाना बहुत टेस्टी लगा लेकिन उसके पति की भौहें तन गयी कि खाने में मिर्च- मसाला ही नहीं है जबकि ऐसा नहीं था। खाने में हर एक चीज अपनी उचित मात्रा में थी। पूजा ने बताया उसके पति की हमेशा यही शिकायत रहती है कि उसके खाने में स्वाद नहीं है, बिना मिर्च- मसाले का फीका खाना उनसे खाया नहीं जाता। उसके पति का तर्क होता है कि बिना नमक- तेल का खाना बीमारों का खाना होता है उसे हम क्यों खाएं।

मेरे मन में यही उधेड़- बुन चल रही थी कि लोगों को थोड़ी देर के जीभ के स्वाद के आगे अपनी सेहत का जरा सा भी ध्यान नहीं रहता। उसी बीच मेरी नजर हाल ही में आई “वर्ल्ड हैल्थ ऑर्गनाइज़ेशन” की एक रिपोर्ट पर पड़ी जिसके अनुसार हर एक व्यक्ति पर प्रतिदिन एक चम्मच नमक, 6 से 8 चम्मच चीनी और 4 चम्मच तेल खर्च होना चाहिए। जबकि “इंडियन मेडिकल एसोसिएशन” के मुताबिक एक औसत भारतीय पर रोजाना दो से तीन चम्मच नमक, 16-20 चम्मच चीनी और 8 चम्मच तेल खर्च होता है जो कि हेल्थ के लिए ठीक नहीं है। इस रिपोर्ट को लेकर डॉक्टरों ने सलाह दी है कि यदि आप बीमारियों से छुटकारा पाना चाहते हैं तो अपने भोजन में नमक, चीनी और तेल का इस्तेमाल कम कर दें।

भोजन में यदि नमक, तेल और चीनी न हो तो लोगों को भोजन में स्वाद नहीं आता। ऐसा भोजन खाने में स्वादिष्ट तो लगता है लेकिन यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक होता है। इसलिए जब भी ऐसा भोजन करने का मन करे, उसके पहले इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि ज्यादा नमक, तेल, मिर्च- मसाला और चीनी खाना कई ऐसी बीमारियों को जन्म देता है जो आपको जीवन भर परेशान करती हैं जैसे- हाई बी॰ पी॰, डायबिटीज़, अल्सर और किडनी से संबन्धित बीमारियाँ। इस तरह के भोजन को ज्यादा लेने से मोटापे की समस्या भी बढ़ सकती है जो कि सभी बीमारियों की जड़ है। जैसे ही मोटापा शरीर में आता है वैसे ही शरीर बीमारियों का घर बनने लगता है। इसलिए बीमारियों से बचने का बेहतर तरीका यही है कि अपने भोजन से नमक, चीनी, तेल और मिर्च- मसाले को कम करें और स्वस्थ जीवन जिएँ।  

ये भी पढ़ें-
 
आप हमें फेसबुक , ट्विटर और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।