महिलाएं घर और बाहर की जिम्मेदारियों के कारण इतना बिजी रहती हैं कि अक्सर अपनी हेल्थ को नजरअंदाज कर देती हैं। खुद पर ध्यान न देने से महिलाओं का वजन लगातार बढ़ने लगता है और आमतौर पर हिप्स, थाइज और टांगो पर फैट जमा हो जाता है जिस वजह से वह बेडौल दिखाई देने लगती है। इसलिए इस हिस्से के फैट को कुछ आसान एक्सरसाइज की मदद से कम किया जा सकता हैं। आइए जानते हैं, कुछ ऐसी एक्सरसाइज और उन्हें करने का तरीका।

 

जंप स्कावट्स

यह बहुत ही सिंपल और आसान एक्सरसाइज है लेकिन यह हमारी टांगों के लिए बहुत फायदेमंद है। हालांकि इस एक्सरसाइज को हमें थोड़ा तेजी से करना होगा। यह फंक्शनल कार्डियो एक्सरसाइज है। इसे करने से टांगों की शेप बहुत अच्छी हो जाती है। साथ ही इस एक्सरसाइज को रोजाना करने से हिप्स की शेप अच्छी होती है और ग्लूट्स में फर्क पड़ता है। इससे कोर भी टाइट होता है।

एक्सरसाइज करने का तरीका

इसे करने के लिए हमें सबसे पहले जंप करना होगा।  

फिर स्कावट्स करना होगा। 

ऐसा ही हमें लगातार करना होगा।

 

ओपन टू क्लोज जंप स्कावट्स

यह एक्सरसाइज टांगों को टोन करने के लिए बहुत अच्छी है। इसके लिए हमें ग्राउंड को टच करना होता है। आमतौर पर जंप स्कावट्स एक्सरसाइज का इस्तेमाल सेल्युलाइट को कम करने के लिए किया जाता है। इसे करते समय हम फंक्शनल ट्रेनिंग और कार्डियो भी करते हैं इसलिए इसे फंक्शनल कार्डियो कहा जाता है। इसमें हम स्कावट्स और जंप दोनों करते हैं। इससे हमारे सेल्युलाइट पर फर्क पड़ता है और टांगें टोन होती है। जब हम जमीन को टच करते हैं तो हमारी लोयर बैक की भी एक्सरसाइज हो जाती है। पहले हफ्ते में आपको 10 से 12 बार करना होगा। फिर अगले हफ्ते इसे बड़ा कर 20 कर दें। यह बहुत छोटी और आसान एक्सरसाइज है जिसके कुछ मिनटों में ही 12 बार किया जा सकता है।

एक्सरसाइज करने का तरीका   

इसमें आपको दो बार एक साथ स्कावट्स करना होगा। 

एक बार पैरों को जोड़कर फिर जंप करके पैरों को खोलकर स्कावट्स करें।

ऐसा करते हुए आपको जमीन को छूना होगा। 

ऐसा आपको लगातार करना होगा।

 

जांघो को कम करने के लिए स्टेबिलिटी बॉल लेग लिफ्ट्स व्यायाम अपनाएं 

जांघ पतला करने के लिए यह व्यायाम बहुत ही आसान है, जिसमें आपको बॉल को एक जगह अपने पैरों से टिकाये रखना है। ये स्टेबिलिटी बॉल एक्ससरसाइस जांघ के अंदर के तरफ की वसा को कम करने में मदद करेगा। ये व्यायाम थाई के अंदर की वसा को टोन और कोर करता है।

एक्सरसाइज करने का तरीका

सबसे पहले एक तरफ होकर लेट जाएँ। एक हाथ को अपने सिर के नीचे रखें और एक हाथ को ज़मीन पर रखें।

अब एक बड़ी बॉल को अपने पैरों के बीच में रखें।

फिर धीरे.धीरे बॉल को उठाने में अपने दोनों पैरों और कूल्हों का इस्तेमाल करें। फिर अपनी पुरानी अवस्था में वापस आ जाएँ और बॉल को ज़मीन पर रख दें।

इस तरह इस व्यायाम को तीन सेट में 15 बार दोहराएं।

 

थाई को पतला करने के लिए लेग सर्कल व्यायाम 

ये व्यायाम आपकी लेग्स को न सिर्फ सही शेप दे सकता है बल्कि इसे रोज़ाना करने से शरीर को नई चुस्ती और स्फूर्ति का एहसास भी होता है। 

एक्सरसाइज करने का तरीका

सबसे पहले कमर के बल लेट जाएँ और पैरों को एकदम सीधा कर लें। हाथों को अपने साइड में रखें।

फिर अपने बाएं पैर को ज़मीन से ऊपर उठायें और एकदम सीधा कर लें। या फिर अपनी क्षमता के अनुसार इस अवस्था को बनाये रखें।

पैर को सीधा करने के बाद उसे पांच बार गोल.गोल घुमाएं।

फिर पैर को रोकें और फिर पांच बार उल्टा घुमाएं।

फिर धीरे.धीरे अपने पैर को ज़मीन पर लेकर आएं। यही प्रक्रिया दूसरे पैर से भी दोहराएं।

 

रोजाना दौड़ें 

दौड़ उन लोगों के लिए बहुत अच्छी होती है जिनकी जांघ की मांसपेशियां बहुत भारी हैं। इससे माँसपेशियों का आकार कम होने लगता है और यह व्यायाम मांसपेशियों के आसपास जमा होने वाले फैट को भी कम करता है, जिससे जांघ पतली और सुडौल होने लगती हैं। इस व्यायाम से आपकी थाई को एक नया आकार मिलेगा। इसलिए, जांघ को पतला करने के लिए अपने शरीर के स्टेमिना के हिसाब से रोज़ाना दौड़ना शुरू करें। 

 

लेग स्ट्रैच

यह एक्सरसाइज भी काफी प्रभावी है इससे टांगों का दर्द भी दूर रहेगा। इसको करने के लिए पैरों को सीधे करके बैठ जाए। फिर एक टांग को दूसरी जांग पर रखें और दूसरी टांग को लंबा रखकर हाथों से पकड़ने की कोशिश करें। अपने पैर को 5 मिनट तक पकड़ कर रखें। इस प्रक्रिया को 10 बार दोहराएं। 

 

रस्सी कूदना 

जांघ पर जमा एक्सट्रा फैट को कम करने के लिए आपको नियमित रूप से रस्सी कूदनी चाहिए। ये एक आसान एक्सरसाज है। इसके अलावा आप चाहें तो दौड़ भी सकते हैं। दौड़ने से जांघों पर दबाव पड़ता है जिससे आपको फायदा होगा।

 

अर्ध चंद्रासन  

जैसा कि नाम से ही जाहिर हैए अर्ध चंद्रासन करते समय शरीर की स्थिति अर्ध चंद्र के समान हो जाती है। इस आसन को खड़े होकर किया जाता है। एक हाथ और पैर धरती को छूते हैं। वहीं दूसरा हाथ ऊपर रहता है और दूसरा पैर एकदम सीधा। अगर अभी भी समझ नहीं आया तो आप तस्वीर के माध्यम से इसे समझ सकते हैं। यह आसन घुटनेए किडनीए छोटी आंतए लीवरए छातीए लंग्स और गर्दन के लिए फायदेमंद होता है। इससे एक समय पर लगभग सभी अंगों का व्यायाम साथ में हो जाता है। यही वजह है कि इसे करने से शरीर रोगमुक्त रहता है।

 

 

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com

यह भी पढ़ें-

जानिये सुबह सुबह तन और मन जागृत करने के ये ५ सरल तरीके