googlenews
कलर्स टीवी पर जल्द आ रहीं हैं दुर्गा और चारु: Colors New Serial
Durga aur Charu

Colors New Serial: कलर्स टीवी पर जल्द ही नया शो शुरू होने जा रहा है। सीरियल प्यार के सात वचन धर्म पत्नी के साथ-साथ जल्द ही एक और सीरियल शुरू होगा । शो का नाम है चारु और दुर्गा। कलर्स टीवी प्रसारित होने वाला सीरियल दुर्गा और चारु एक ड्रामा है। ये सीरियल बैरिस्टर बाबू का दूसरा सीजन है। सीरियल में मुख्य भूमिका में औरा भटनागर और वैष्णवी प्रजापति हैं। ये दोनों ही लीड कैरेक्टर में देखने को मिलेंगी। शो के प्रोडूसर शशि सुमीत मित्तल हैं। शो का प्रोमो टीवी पर दिखाया जा चुका है। सीरियल की कहानी मुख्य रूप से दो बहनों के जीवन पर आधरित होगी। दुर्गा और चारु का प्रसारण सोमवार से शुक्रवार को होगा। शो में एक्ट्रेस रानी मुखर्जी की सिस्टर इन लॉ ज्योति मुखर्जी भी नजर आएंगी।

दुर्गा और चारु बनी औरा और वैष्णवी

सीरियल दुर्गा और चारु का किरदार निभाने वाली दो बाल कलाकार हैं। सीरियल में दुर्गा के किरदार में बाल कलाकार औरा भटनागर बडोनी हैं। वहीं चारु के किरदार को निभाने वाली बाल कलाकार वैष्णवी प्रजापति हैं। सीरयल में ये दोनों कलाकार बहन का किरदार निभा रहीं है जो बचपन मे ही परिस्तिथियों की वजह से बिछड़ गयीं है। दोनों की परवरिश दो अलग परिवेश और अलग परिवार के बीच दिखाई जाएगी।

कौन है वैष्णवी प्रजापति?

वैष्णवी प्रजापति एक बाल कलाकार हैं। जिनकी उम्र नौ साल है। ये एक डांसर भी हैं। हरियाणा के पानीपत में जन्मी वैष्णवी सबसे पहले डांस रिएलिटी शो सुपर डांस सीजन 2 का हिस्सा बन चुकी हैं। डांस शो में वो एलिमिनेट जो गयी थीं। वैष्णवी प्रजापति कई टीवी सीरियल में भी काम कर चुकीं हैं।इन्होंने स्टार प्लस के सीरियल चीकू की मम्मी दूर की में लीड रोल निभाया था। इसके अलावा सीरियल मेरी हानिकारक बीवी और तुझसे है राब्ता में भी काम कर चुकी हैं।

कौन है औरा भटनागर बड़ोनी?

Child Artist Sutra Bhatnagar

सीरियल दुर्गा और चारु में दुर्गा का किरदार निभाने वाली बाल कलाकार औरा भटनागर देहरादून की हैं। उनकी उम्र ग्यारह साल की है। दुर्गा और चारु से पहले औरा बैरिस्टर बाबू में बोनदिता का किरदार निभा चुकीं हैं। 2020 में उन्हें कलर्स टीवी पर प्रसारित होने वाले बैरिस्टर बाबू के लिये चुना गया था जिसमे उनके किरदार को काफी पसंद किया गया था। सीरियल दुर्गा और चारु में ये दोनों अनिरुद्ध और बोनदिता की बेटियों का किरदार निभा रही हैं। कहानी में अनिरुद्ध और बोनदिता अब जीवित नहीं हैं। उन दोनों की दो बेटियां है जो अलग घरों में परवरिश पाकर बड़ी होती हैं।

Leave a comment