What is Cold Sore

कई बार आपके होंठ पर होने वाला दाना कोल्ड सोर है या फिर पिंपल यह पता ही नहीं चल पाता है। दोनों ही स्थितियों में हमें थोड़ी बेचैनी महसूस होती है। कोल्ड सोर और पिंपल दोनों दिखने में एक समान होते हैं इसलिए, हमारे लिए इनके बीच का अंतर जान पाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। कुछ लक्षणों से हम इन दोनों के बीच का अंतर पता कर सकते हैं, इनके कारणों और उपचार में भी अंतर होता है। तो आइये समझते हैं कि What is Cold Sore और इससे जुडी कुछ जरूरी बातें।

What is Cold Sore: कोल्ड सोर का क्या अर्थ है?

कोल्ड सोर का

यह छोटे छोटे दानों का एक समूह होता है जो आम तौर पर आप के निचले होंठ के आस पास देखने को मिलता है। इसके आने से पहले आपको इस भाग में गुदगुदी हो सकती है, जलन हो सकती है और खुजली भी हो सकती है। इन दानों के अंदर फ्लूइड भरी हुई होती है। यह फूटने के बाद अपने आप ही एक से दो हफ्ते के अंदर अंदर ठीक हो जाते हैं। कोल्ड सोर सभी उम्र के व्यक्तियों में हो सकते हैं। इस कोल्ड सोर के पीछे का कारण हर्पस सिंपलेक्स वायरस होता है।

क्या है कारण?

यह एक वायरस के द्वारा पैदा होता है जिसका नाम है हर्प सिम्पलेक्स वायरस। एचएसवी एक और एचएसवी दो, कोल्ड सोर की दो कैटेगरी होती हैं। पहली कैटेगरी मुंह या होंठों पर होने वाले सोर की होती है वहीं दूसरी कैटेगरी में उन सोर को शामिल किया जाता है जो प्राइवेट भागों में होते हैं। स्किन से स्किन कॉन्टैक्ट होने पर यह वायरस आसानी से फैल सकता है। इसके कुछ कारण किस करना, ओरल सेक्स, एक ही तौलिये का प्रयोग करना, एक ही रेजर का प्रयोग करना आदि हो सकते हैं।

आप इनकी पहचान कैसे कर सकती हैं?

अगर आप डॉक्टर के पास जाएंगी तो वो देखकर ही बता देंगे कि यह पिंपल है या कोल्ड सोर। वह वायरल कल्चर आपको सुझा सकते हैं जिसमें आपकी स्किन सेल्स को वायरस के लिए टेस्ट किया जाता है। आप का ब्लड टेस्ट भी हो सकता है। इसके अलावा कुछ केस में बायोस्पी भी की जाती है।

कोल्ड सोर का उपचार

एंटी वायरल दवाइयां

आपके डॉक्टर इन्हें ठीक करने के लिए आपको कुछ एंटी वायरल दवाइयां सुझा सकते हैं। यह दवाई पिल की फॉर्म में भी हो सकती है और क्रीम की फॉर्म में भी।

घरेलू उपचार

आप कोल्ड कंप्रेस का पालन करके भी इस स्थिति से निजात पा सकते हैं। अपने होंठों को सूर्य से दूर ही रखे। ओवर द काउंटर उपलब्ध क्रीम का प्रयोग करें। इसके अलावा आप नींबू, एलोवेरा आदि का प्रयोग करके भी इस सोर को ठीक कर सकते हैं।

कोल्ड सोर और पिंपल में क्या है अंतर?

  • कोल्ड सोर अधिकतर निचले होंठ पर निकलता है और बहुत कम ऐसा होता है जब वह ऊपरी होंठ पर देखने को मिलता है। वहीं पिंपल आपके होंठ या चेहरे के किसी भी भाग पर देखने को मिल सकता है।
  • कोल्ड सोर के कारण आपको खुजली हो सकती है, जलन हो सकती है और थोड़ी बहुत गुदगुदाहट भी हो सकती है वहीं पिंपल केवल छूने के बाद दर्द कर सकता है।
  • छोटे छोटे दाने जब एक समूह बना लेते हैं तब कोल्ड सोर बनता है तो वहीं पिंपल एक व्हाइट हेड या फिर ब्लैक हेड के कारण भी हो सकता है।

पिंपल क्या होते हैं

पिंपल

पिंपल एक्ने का एक प्रकार है, जो व्यक्ति को जीवन में किसी भी एक स्टेज पर हो सकते हैं। जब पोर्स बंद हो जाते हैं और डेड स्किन सेल्स इकट्ठे हो जाते हैं तो बैक्टीरिया के जमाव की वजह से पिंपल्स होते हैं। ये शरीर में कहीं भी हो सकते हैं। जैसे कि फेस या बैक या फिर चेस्ट। ये ही पिंपल बढ़ जाएं तो यह दर्द भरे भी हो सकते हैं। इनमें सिस्ट या पस भी पड़ सकती है।

पिंपल्स के कारण

  • गर्भावस्था
  • मासिक धर्म
  • पीसीओएस
  • मेडिकेशन
  • बर्थ कंट्रोल पिल्स
  • कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स

क्या है इनका इलाज?

हल्के मुंहासों वाली महिलाएं अक्सर घर पर ही अपने मुंहासों का इलाज कर सकती हैं:

  • ऑयल फ्री सौंदर्य प्रसाधन और त्वचा देखभाल उत्पादों का चयन
  • दिन में दो बार चेहरे को धोएं और सोने से पहले मेकअप को हटायें
  • बालों को नियमित रूप से शैम्पू करना, खासकर अगर वे तेलीय हैं
  • मुंहासों का उपचार सैलिसिलिक एसिड या बेंज़ॉयल पेरोक्साइड से

कुछ सावधानियां

  • बार-बार पिंपल्स को छूना गलत है
  • ज्यादा कसे हुए कपड़े पहनना
  • ज्यादा नमी या गंदगी में रहना
  • ज्यादा मेकअप प्रोडक्ट का इस्तेमाल करना भी गलत है, बचें।

अगर आप कोल्ड सोर का उपचार पिंपल की तरह करेंगे तो आराम नहीं मिलेगा। वैसे भी कोल्ड सोर एचएसवी इन्फेक्शन की वजह से भी हो सकते हैं। इसलिए एंटीवायरल क्रीम और गोलियों का प्रयोग करें। कोल्ड सोर फैल सकते हैं एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में जबकि पिंपल्स के साथ ऐसा नहीं है। इसलिए यदि किसी व्यक्ति को कोल्ड सोर है या जेनिटल हर्पीज है तो आपको सेक्सुअल इंटरकोर्स के दौरान पूरी सावधानी बरतने की जरूरत है।

Leave a comment