Types of acne scars

एक अवस्था के बाद एक्ने की समस्या से जूझना पड़ सकता है। लेकिन उससे भी अधिक परेशानी का सबब है उन मुहांसों के द्वारा छोड़े गए एक्ने स्कार। एक्ने स्कार की वजह है चेहरे पर गहराइ तक उनका होना या मुहांसों को कई बार जाने अनजाने छेड़ देना।

कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल में सीनियर डर्मेटोलॉजिस्ट डॉक्टर भावुक मित्तल के मुताबिक एक्ने स्कार होने के दो कारण हो सकते हैं एक तो वह जो टिश्यू लॉस होने के कारण होते हैं और दूसरे वो जो अधिक टिश्यू के कारण होते हैं। उसी के हिसाब से उन्हें विभाजित किया जा सकता है। आज हम Types of acne scars यानी अलग-अलग कैटेगरी के एक्ने में आपको अंतर बताने वाले हैं और उन्हें ठीक करने का तरीका भी।

Types of acne scars- एक्ने के प्रकार

बॉक्स कार स्कार

बॉक्स कार एक्ने स्कार

यह एक्ने स्कार गोल या आयताकार होते हैं और इनकी साइड में ऐसा प्रतीत होता है मानो सीधी रेखाएं खींची गई हो। इसमें आपका चेहरा ऐसा लगेगा मानो डॉट डॉट के निशान हो गए हो। जब किसी पिंपल्स के कारण आपका कोलेजन नष्ट हो जाता है, तो आपका टिश्यू भी नष्ट हो जाता है जिस कारण यह स्कार उभर आते हैं ताकि उस टिश्यू की जगह को भरा जा सके। इनके लिए सबसे अधिक आम उपचार डर्मल फिलर्स होता है और इन्हें एक्ने स्कार के अंदर भरा जाता है।

आइस पिक एक्ने स्कार

आइस पिक एक्ने स्कार .

यह बहुत ही गहरे और पतले-पतले धब्बे होते हैं। इसके हो जाने के बाद ऐसा प्रतीत होता है मानो आपके चेहरे में सुई से कई सारे निशान कर दिए गए हों। अगर सिस्ट आदि के कारण आपकी स्किन में किसी तरह का संक्रमण हो जाता है तो यह आइस पिक एक्ने स्कार का कारण होता है। इसके उपचार के काफी सारे तरीके होते हैं। इनका उपचार आपको डॉक्टर या प्रोफेशनल के पास जाकर ही करवाना होगा। आप पंच एक्सीजन या पंच ग्राफ्टिंग का प्रयोग कर सकते हैं।

रोलिंग स्कार

रोलिंग एक्ने स्कार

इस प्रकार के निशान एक तरंग की तरह उभरते हैं। इसमें आपकी स्किन बहुत अन इवन हो जाती है यह काफी डिफाइन भी होते हैं। जब आपकी स्किन और उसके नीचे टिश्यू के बीच में किसी टिश्यू का बैंड विकसित हो जाता है तब यह एक्ने स्कार देखने को मिलता है। इसे ठीक करने के लिए आपको सब्सिजन, जैसे- उपचार का सहारा लेना पड़ता है। इस प्रक्रिया को करते समय डॉक्टर आपको बेहोश कर सकते हैं।

हाइपर ट्राफिक स्कार

हाइपर ट्राफिक एक्ने स्कार

यह बहुत ही कठोर निशान होते हैं और यह आपकी स्किन के सर्फेस से ऊपर उठे हुए होते हैं। यह स्कार आपके शरीर में कहीं भी हो सकते हैं। अगर आपको कोई गहरा घाव हो या आप किसी ट्रॉमा से गुजर रही हो तो आपको यह स्कार हो सकता है।

अगर आपकी स्किन में कोलेजन अधिक उत्पादित हो जाता है तब आपको यह स्कार देखने को मिलता है। इसके उपचार के लिए आप काफी सारी क्रीम, जेल आदि का प्रयोग कर सकते हैं जो डॉक्टर आपको सुझाव देंगे।

इन्फ्लेमेशन के बाद होने वाली हाइपर पिगमेंटेशन

इन्फ्लेमेशन के बाद होने वाली हाइपर पिगमेंटेशन

अगर पिंपल के जाने के बाद आपकी स्किन पर अधिक गहरा निशान हो गया है तो यह असल में एक्ने स्कार नहीं बल्कि इन्फ्लेमेशन के बाद होने वाली हाइपर पिगमेंटेशन होती है। अगर आपकी स्किन पर कोई घाव, रैश, पिंपल आदि हुआ है तो उसके बाद यह काफी आम होता है। इसके उपचार में भी आपको कुछ करने की आवश्यकता नहीं है, बल्कि यह अपने आप ही समय के साथ ठीक हो जाती है।

How to treat scars- कैसे करें इन निशानों का उपचार?

टॉपिकल रेटिनोइड्स

टॉपिकल रेटिनोइड्स

इस प्रक्रिया को एक्ने हटाने के लिए प्रयोग किया जाता है। साथ ही एक्ने स्कार के निशान भी इसे हल्के हो जाते हैं। एक्ने के जो निशान भूरे, लाल, या पर्पल कलर के होते हैं वह बहुत ही आम होते हैं और लगभग हर किसी को इसी रंग के निशान परेशान करते हैं। टॉपिकल रेटिनोइड इन सभी निशानों पर कार्य करता है।

लेजर ट्रीटमेंट

लेजर ट्रीटमेंट

लेजर ट्रीटमेंट दो तरीके से किया जाता है पहला अबलेटिव और दूसरा नॉन अबलेटिव। पहले ट्रीटमेंट में त्वचा की बाहरी परत को हटाया जाता है और दूसरे ट्रीटमेंट में त्वचा को बिना हटाए एक्ने स्कार का इलाज किया जाता है।

पंच तकनीक

पंच तकनीक

इस तकनीक में पंच एलिवेशन, पंच ग्राफ्टिंग व पंच एक्सिज़न किया जाता है। ताकि एक्ने स्कार को दूर किया जा सके। इस तकनीक के बाद चेहरे पर बहुत हल्का सा छोटा सा निशान बचता है। जो कुछ समय बाद हल्का हो जाता है या माइक्रोडर्मेब्रेजन या लेजर उपचार से रिसर्फेसिंग तकनीकों का उपयोग कर उसे हल्का करा जा सकता है। 

एक्ने स्कार के लिए पंच ग्राफ तकनीक का सहारा लिया जाता है। जिसमें स्किन कट का निशान लगाकर अंदर से त्वचा को निकालकर ग्राफ्टिंग की जाती है।

माइक्रोडर्मेब्रेजन

माइक्रोडर्मेब्रेजन

यह एक कॉस्मेटिक तरीका है जो कि डरमेट्रोलॉजिस्ट के द्वारा प्रयोग किया जाता है। इसमें सतह पर से स्किन सेल को हटाया जाता है और स्किन को साफ और निखरा हुआ बनाया जाता है।

स्टेरॉयड ट्रीटमेंट

स्टेरॉयड ट्रीटमेंट एक्ने स्कार

ट्रीटमेंट हाइपरट्रॉफिक और केलॉयड स्कार के लिए किया जाता है। स्टेरॉयड को त्वचा में सीधी तौर पर इंजेक्शन के द्वारा इंजेक्ट किया जाता है। जिससे टिशू सिकुड़ जाते हैं और धीरे-धीरे नरम होकर निशान वाले टिशू पहले से बेहतर हो जाते हैं। कॉर्टिकोस्टेरॉइड क्रीम और इंप्रेग्नेटिड टिप्स काफी देर के लिए लगाकर छोड़ दी जाती है। ताकि जब उन्हें हटाया जाए तो निशान पहले के मुकाबले हल्के पड़ चुके हो।

1 सप्ताह में चेहरे के काले धब्बों को कैसे करें दूर?

गेंदे का फूल

गेंदे का फूल

गेंदे के फूल में सौन्दर्य बढ़ाने के गुण के बारे में शायद ही सुना होगा। गेंदे का फूल का मास्क काफी असरदायक होता है। इसकी मदद से चेहरे के दाग धब्बों को हटाने में मदद मिलती है। गेंदे के फूल में टोनिंग इफेक्ट के साथ एस्ट्रिंजेंट भी होता है। जिससे स्किन कोमल, टोन और मॉइस्चराइज़ होती है। इससे सिर के रूखेपन और रुसी से छुटकारा मिलता है। ब्यूटी एक्सपर्ट शहनाज हुसैन की मानें तो बालों को धोने के लिए फूलों से ठंडे और गर्म दोनों तरह के इन्फ्यूजन बनाए जा सकते हैं, जो काफी असरदार होते हैं। चेहरे के दाग धब्बे हटायें और खूबसूरत देखें।

एलोवेरा पैक

एलोवेरा पैक

आज के टाइम में एलोवेरा के फायदे के बारे में लगभग सभी लोग जानते होंगे। इसका उपचार स्किन से जुड़ी कई तरह की समस्याओं के लिए किया जाता है। एलोवेरा एक अच्छा मॉइस्चराइजर भी है। जो स्किन को नम बनाए रखने में मदद करता है।

एलोवेरा से डेड स्किन को हटाने में मदद मिलती है। क्योंकि इसमें एंटी-ओक्सिडेंट के गुण होते हैं। इसका फेस मास्क बनाने के लिए आप संतरे के छिलके का पाउडर, दही एलोवेरा जेल में मिला लें। इसके लगाने के लगभग 30 मिनट बाद इसे धो लें। 

नींबू का रस शरीर से काले दाग मिटाए

नींबू का रस

विटामिन सी से समृद्ध नींबू का रस सजा के दाग धब्बों को मिटाने के लिए ब्लीचिंग एजेंट का काम करता है। एक बाउल में आधा नीबू का रस निचोड़े उसमें कुछ बूंदें गुलाब जल की मिलाएं और आपकी स्किन की प्रकृति के अनुसार कुछ बूंदें एसेंशियल ऑयल की या फिर ग्लिसरीन की मिलाएं। काले निशान वाली जगह पर लगाएं सूखने दें कम से कम 20 मिनट या आधा घंटा के बाद उसे साफ और साधारण पानी या ठंडे पानी से मौसम के अनुरूप धो लें।

बहुत बार पूछे जाने वाले सवाल (FAQ’S)

प्रश्न: यह कैसे पता चलेगा कि पिंपल बाद में निशान बन जाएगा?

उत्तर: अगर आपका पिंपल सिस्टिक और नोड्यूलर है तो पूरी संभावना है कि इस का निशान आपकी त्वचा पर बनेगा। क्योंकि इस प्रकार के पिंपल त्वचा में गहराई से बनते हैं। अगर आप उन्हें नोचते हैं या दबाते हैं तो उसकी वजह से चेहरे पर निशान पड़ जाते हैं। इसलिए बेहतर होगा कि जब इस प्रकार का कोई भी आप पिंपल देखें तो ना उसे फोड़ें/ नोचें और ना ही उसे दबाएं।

प्रश्न: क्या एलोवेरा जेल लगाने से चेहरे के निशान कम हो सकते हैं

उत्तर: तो हमारा जवाब है शायद नहीं लेकिन आप इन को हल्का करने में कामयाब हो सकते हैं। कुछ शोधों से पता चला है कि एलोवेरा में मौजूद तत्व एलोसिन हाइपरपिगमेंटेशन और डार्क मार्क्स को हल्का करने में अच्छी तरह से कार्य करता है।

आपको अगर एक्ने स्कार की समस्या गंभीर, हैं तो आप डॉक्टर से सलाह जरूर लें। उनके दिए सुझाए उपचार को ही प्रयोग में लाएं। अगर आप ओवर द काउंटर उपलब्ध दवाई लेते हैं तो उससे अधिक कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

Leave a comment