पिम्पल्स की समय एक ऐसी समस्या है, जिससे हर कोई जूझता है। शोध के मुताबिक लगभग 85 फीसदी युवा इससे परेशान हैं। देखा जाए तो, ऐसे कई पारम्परिक उपचार हैं, जिनकी मदद से पिम्पल्स का उपचार करना सम्भव है। लेकिन वो काफी महंगे होते हैं, जो आपकी स्किन के लिए के लिए नुकसानदायक भी हो सकते हैं। जिससे स्किन में रूखापन, लालिमा और जलन जैसी समस्याएं पनप सकती हैं। लेकिन यहां आपके लिए राहत भरी बात ये है कि आपके पास पिम्पल्स के उपचार के लिए प्राक्रतिक तरीकों का विकल्प है। जो काफी कारगर है। अगर आप भी पिम्पल्स की समय से परेशान हैं, और कई जतन करने के बाद भी इस समस्या से छुटकारा नहीं मिल रहा तो ये लेख ख़ास आपके लिए ही है।

सेब का सिरका– सेब का सिरका स्किन के लिए काफी अच्छा माना जाता है। इसे सेब के अनफ़िल्टर्ड रस से बनाया जाता है। इसमें बैक्टीरिया और फंस से लड़ने की क्षमता होती है। सेब के सिरके में साइट्रिक एसिड और कार्बनिक अम्ल होते हैं। शोध के मुताबिक सेब का सिरका चेहरे में सूजन को दबाता है और निशान को मिटाता है। हालांकि कुछ विशेषज्ञ इसे इस्तेमाल करने की सलाह नहीं देंगे, क्योंकि सेंसटिव स्किन वालों को इससे जलन भी महसूस हो सकती है।

कैसे करें इस्तेमाल– सेब के सिरका और पानी को मिलकार, कॉटन की मदद से अपनी स्किन पर लगाएं। फिर कुछ मिनट के बाद इसे पानी से धो लें। आप इस प्रक्रिया को दिन में एक से दो बार दोहरा सकते हैं।

जिंक सप्लीमेंट– जिंक को स्किन के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। इससे स्किन में हार्मोंस की वजह से हो रहे बदलाव को रोकने में मदद मिलती है। जिंक सप्लीमेंट की मदद से पिम्पल्स को कम करने में मदद मिलती है। जिंक सप्लीमेंट का इस्तेमाल हर रोज ल्ह्भाग 40 मिलीग्राम कर सकते हैं। आप इसके लिए किसी जानकार की सलाह भी ले सकती हैं।

शहद और दालचीनी का मास्क– शहद और दालचीनी में त्वचा में बैक्टीरिया से लड़ने की ताकत होती है। को सीधा पिम्पल्स को ट्रिगर करते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल– आप शहद में दालचीनी का पाउडर मिलाएं। और चेहरे पर लगाकर करीब 15 मिनट के लिए छोड़ दें। सूखने के बाद इसे धो लें। आप इस मास्क को हफ्ते में एक से दो बार दोहरा सकते हैं।

टी ट्री ऑयल– मेलेलुका अल्टरनिफ़ोलिया की पत्तियों से निकाला जाने वाला टी ट्री ऑयल स्किन के लिए काफी फायदेमंद होता है। इससे बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता होती है और स्किन से सूजन को भी कम करता है। अगर आप इसे हार रोज अपने स्किन पर लगाएंगी तो पिम्पल्स की समस्या दूर हो जाएगी।

कैसे करें इस्तेमाल-टी ट्री ऑयल में पानी मिलाएं। और कॉटन से अपने पिम्पल्स वाले एरिया में लगाएं। इस प्रक्रिया को आप दिन में एक से दो बार दोहरा सकती हैं।

ग्रीन टी भी फायदेमंद– एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर ग्रीन टी काफी फायदेमंद होती है। ये ना सिर्फ शरीर को अंदर से बल्कि बाहर से दमकाने में मदद करती है। इससे पिम्पल्स कम होते हैं। ग्रीन टी पॉलीफेनोल्स बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करती है, जो पिम्पल्स बनने का कारण होते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल– ग्रीन टी को तीन से चार मिनट उबालें। फिर इसे ठंडा होने के बाद कॉटन की मदद से या स्प्रे की मदद से अपने चेहरे पर लगाएं। इसे सूखने दें, और फिर धो लें। आप बची हुई उबली पत्तियों को शहद की मदद से मास्क भी बना सकती हैं।

लगाएं विच हेज़ल–  विच हेज़ल को विशेष चाल की पत्तियों से निकला जाता है। इसमें पिम्पल्स से लड़ने की भरपूर शक्ति होती है। आप इससे कई तरह के स्किन सम्बन्धित जैसे- एक्जीमा, खरोंच, जलन, पिम्पल्स का इलाज कर सकते हैं। 

कैसे करें इस्तेमाल– हेज़ल विच को पानी में मिलाएं, और 30 से 35 मिनट भिगोने के बाद इसे अच्छे से भिगो लें। ठंडा होने पर इसे अपनी स्किन पर लगाएं। आप इसे दिन में दो बार लगा सकती हैं।

एलोवेरा-एलोवेरा के फायदे काफी हैं। इसकी जेल कई तरह के स्किन केयर प्रोडक्ट्स के लिए इस्तेमाल की जाती है। इससे स्किन में जलन, लाल धब्बे और पिम्पल्स के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है। सैलिसिलिक एसिड और सल्फर से भरपूर एलोवेरा जेल सबसे ज्यादा पिम्पल्स के लिए फायदेमंद है।

कैसे करें इस्तेमाल-एलोवेरा जेल को सीधे अपनी चेहरे पर लगाएं। आप हार रोज सोने से पहले अपने चेहरे पर लगा सकती हैं। आप इसे स्टोर भी कर सकती हैं। 

ये कुछ ऐसे प्राकृतिक उपचार हैं, जिनकी मदद से आप पिम्पल्स की समस्या से निजात पा सकती है। अगर आप भी पिम्पल्स की समस्या से गुजर रही हैं tतो हमारी बताई हुई टिप्स की जरुर आजमाएं।

यह भी पढ़ें-ग्लोइंग स्किन के लिए फूडआपको हमारे ब्यूटी टिप्स कैसे लगे? अपनी प्रतिक्रियाएं हमें जरूर भेजें। ब्यूटी-मेकअप से जुड़े टिप्स भी आप हमें ई-मेल कर सकते हैं- editor@grehlakshmi.com\