googlenews
honey for skin

पपीते के छिलके

पपीते में पाया जाने वाला विटामिन ए त्वचा के लिए बेहद उपयोगी होता है। इसके छिलके में पाए जाने वाले पोषक तत्व आपकी त्वचा को पोषण देते हैं। इन्हें नियमित रूप से चेहरे पर लगाने से एपिरियंस में इंप्रूवमेंट होगा और रिंकल्स या फाइन लाइंस में कमी आएगी। छिलकों में मौजूद पपाइन डैड स्किन सेल्स को हटाकर आपको एक सुंदर लुक देगा।

अनार के छिलके

अनार के छिलकों में एंटीऑक्सीडेंट्स और विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है। यह स्किन के लिए काफी फायदेमंद है। अनार के सूखे छिलकों को पीसकर इन में एक चम्मच नींबू का रस, एक चम्मच शहद मिलाएं। यह मास्क आपके चेहरे को नमी देता है और इससे रंग निखरता है। डार्क स्पॉट्स को भी कम कर देता है।

संतरे के छिलके

इन में मौजूद विटामिन सी पिंपल्स को सुखाता है। त्वचा का सांवलापन दूर करता है। संतरे के छिलकों को सुखाकर इनका पाउडर बना लेना चाहिए और इसमें दूध मिलाकर इसका गाढ़ा पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाना चाहिए। चेहरे की झाइयां और दाग धब्बे इस पेस्ट को लगाने से काफी हद तक कम हो जाते हैं। यही नहीं अगर संतरे के छिलके को दांतो से चबाया जाए तो सांसों में भी ताजगी का अहसास होता है।

 

नींबू के छिलके

संतरे की तरह नींबू के छिलके में भी विटामिन सी मौजूद होता है। नींबू के छिलके का भीतरी हिस्सा चेहरे पर लगाने से मुहासे और एक्ने की समस्या काफी हद तक कम हो जाती है। विटामिन सी एक ऑक्सीडेंट है जो स्क्रीन पर किसी भी प्रकार की क्षति को तेजी से भरता है। अगर यही छिलका दातों पर रगड़ आ जाए तो कहा जाता है कि दांतो का पीलापन भी कम होता है।

 

केले के छिलके

पिंपल्स और एक्ने का यदि खात्मा करना हो तो केले के छिलके काफी फायदा करते हैं। इनका भीतरी हिस्सा गालों पर रगड़ें और कुछ देर लगा रहने दें। मुहांसे सूख जाएंगे। चेहरे पर नियमित रूप से केले के छिलके को रगड़ने से एक्सफोलिएशन हो जाता है और डेड सेल्स निकल जाते हैं।

आलू का छिलका

इनमें माइल्ड एसिडिटी होती है। जो त्वचा का रंग साफ करने में मददगार है ।इसके प्रयोग के लिए थोड़ा सा पानी इसमें मिलाकर मिक्सी में चला लें और किसी पतले कपड़े से इसे छान लें। इसके बाद, उसे रुई की सहायता से पूरे चेहरे पर 20 मिनट के लिए लगा ले। 20 मिनट के बाद चेहरा सादे पानी से धो लें। अगर इस के रस को बालों में लगाया जाता है तो बाल शाइनी हो जाते हैं।

ये भी पढ़ें-