राम से बड़ा राम का नाम,राम का नाम ही आये काम| ये बात बिलकुल सही हैं, राम नाम एक कल्पतरु है और इस कल्पतरु का लाभ मिलता है, रामायण को पड़ने या सुनने से और घर के पूजा घर में रामायण रखने से ,रामायण जीवन के लिए संजीवनी है, ये लेख पढ़े और जाने रामायण से मिलने वाले लाभों को|

  • रामायण एक महाकाव्य ही नहीं बल्कि जीवन दर्शन है जो हमको धर्म पर चलने के सीख देती है, डर और शंका के वातावरण से बाहर निकालती है|
  • जिस घर में रामायण होती है और उस घर के लोगों द्वारा पढ़ी जाती है वहा कोई संकट आता ही नहीं है, और अगर आता भी है तो पल भर में दूर भी हो जाता है क्योंकि हर सनातन धर्मी जानता है की जहां पर रामायण का पाठ होता है उस जगह की रक्षा हनुमानजी खुद करते है, जब रक्षक हनुमानजी हो तो कोई संकट टिक नहीं सकता-इस लिए अपने घर में लाल कपडे में रामायण पूजाघर में हमेशा रखे पढ़े|
  • रामायण की हर चौपाई एक औषधि है, भूत, पिशाच, प्रेत, दरिद्रता, बीमारी व हर नेगेटिव एनर्जी से रक्षा करके तन, मन, धन से जुड़ीं हर समस्या को दूर करती है, समाज में सम्मान दिलाती है, जिस घर में रामायण का रोज, सप्ताह या एक माह तक रोज पाठ यानि मास परायण होता है, उस घर के लोगों को आकाल मौत का व दुर्घटनाओं और नवग्रहों के अनिष्ट प्रभावों का भय नहीं होता क्योंकि उस घर के हर इंसान की रक्षा खुद श्रीरामजी, सीताजी और हनुमानजी करते है|

रामायण पढ़ने वाला इंसान हर संकट को सुलझाने की समझ व ताकत रखता है| रामायण के हर कांड की अलग महत्ता है, इसमे सात कांड हैं और हर कांड को पढने से कुछ विशेष लाभ मिलता है जो की इस तरह से हैं|

  1. बाल कांड—अगर आपकी कोई संतान को लेकर समस्या है जैसे संतान न होना, संतान का बीमार होना, संतान के ग्रहों का ख़राब होना, पढाई या रोजगार में दिल ना लगना, संतान के विवाह में बाधा आना, संतान का चरित्र या व्यवहार ख़राब होना, संतान का माता पिता और परिवार से विमुख चलना यानि संतान से जुडी कोई भी परेशानी हो तब 41 दिन तक रोज रामदरबार के चित्र के आगे घी का दिया जलाकर अपनी समस्या बताकर पाठ करने से संतान से जुडी हर समस्या दूर होती हैं |
  2. अयोध्या कांड—परिवार की लोगो में अगर आपसी मनमुटाव हो रहा हो घर मकान सम्बन्धी कोई भी विवाद हो, कोई बाहर का इंसान परिवार में झगड़ा करवा रहा हो तो रामदरबार के  चित्र के आगे अपनी समस्या बताकर अयोध्या कांड का पाठ 7 मंगलवार करे लाभ होगा|
  3. अरण्यकाण्ड—शत्रु बाधा, रोग बीमारी कोर्ट कचहरी विवाद या कोई भी भय हो तो राम दरबार के चित्र आगे घी का दिया जलाकर अपनी समस्या बताकर 7 दिन तक रोज अरण्यकाण्ड का पाठ करे तुरंत लाभ होगा|
  4. किसकिन्धा कांड—मित्रोँ से लडाई, परिवार में मनमुटाव, रोजगार या सर्विस में सफलता के लिए रामदरबार के चित्र के आगे घी का दिया जलाकर अपनी समस्या बताकर 9 शनिवार तक पाठ करने से लाभ होगा |
  5. सुंदरकांड—जीवन में कोई भी दुःख, भय, चिंता, कार्यो में बाधा रूकावट नवग्रहों से जुड़े कोई भी दुष्प्रभाव व रोजगार,वैवाहिक जीवन में तनाव,संतान से जुडी कोई भी संमस्या,भूत प्रेत नजर बाधा सबके निवारण के लिये रोजाना ही करे या फिर  मंगलवार,शनिवार को राम दरबार के चित्र के आगे घी का दिया जलाकर रामजी और हनुमानजी से अपनी समस्या कहते हुए सुंदर कांड का पाठ करे तत्काल लाभ होगा|
  6. लंकाकांड या युद्धकांड—शत्रु और रोगों पर विजय पाने के लिए 11 शनिवार  राम दरबार के चित्र के आगे घी का दिया जलाकर अपनी समस्या कहकर लंकाकांड का पाठ जोर से करे लाभ होगा|
  7. उत्तरकांड—मानसिक शांति, स्वास्थ्य, आयु जीवन में हर सफलता के लिए रामदरबार के आगे घी का दिया जलाकर मन की बात कहे और पाठ करे लाभ मिलेगा,जीवन की हर मुश्किल आसान होगी हर और सफलता व सुख होगा|

अगर आप सम्पूर्ण रामायण का पाठ नहीं कर पा रहे है तो आप रामायण की कोई भी चौपाई को दिन-रात और उठते-बैठते बोले ऐसा करने से आपको पूरी रामायण को पढने का लाभ मिलेगा| भारत की पहचान और सनातन धर्म का आधार हैं रामायण ये शाश्वत सत्य है की जिस घर में रामायण आदर के साथ रखी होती है उस घर में कभी भी कोई दुःख नहीं आता, दिन में रामायण का पाठ करने से घर में अन्न भंडार हमेशा भरे रहते है माँ लक्ष्मी स्थिर रहती है, शाम के समय रामायण का पथ करने से बीमारी दूर होती है आरोग्य बढता है, पूर्णिमा के दिन रामायण पढने से आकाल मृत्यु नहीं होती लम्बी आयु व निरोगी काया मिलती है तो फिर रोज रामायण पढ़े ओर जोर से बोले जय श्री राम, जय हनुमान |

यह भी पढ़ें – चकला और बेलन प्रयोग करने के भी होते हैं [नियम]

Leave a comment