किसी भी रिश्ते की बुनियाद विश्वास पर टिकी होती है। मगर कई बार छोटी मोटी नोक झोक और बेबुनियाद शक रिश्तों में कड़वाहट घोल देता है। दिखने में खुशहाल लगने वाले रिश्ते कई बार अंदर से न जाने कितना दर्द झेल रहे होते हैं। शुरूआती दौर में हमें अपने पार्टनर की हर बात अच्छी लगती हैं। मगर जैसे जैसे वक्त बीतता चला जाता है हम अपने साथी को जान जाते हैं। उसके बाद रिश्तों के मध्य तकरार बढ़ने लगती है। कारण कोई भी हो सकता है। सबसे मुख्य कारण होता है कि हम ये जान जाते हैं कि हमारा साथी कैसे माहौल से ताल्लुक रखता है और किन लोगों से घिरा हैं। बस इन्हीं कुछ छुट पुट बातों से तकरार का सिलसिला आरंभ हो जाता है। धीरे धीरे दोनों की इगो हर्ट होने लगती है, जिसके चलते स्वभाव में बदलाव देखने को मिलता है। इन सब बातों से रिश्तों में कड़वाहट घुलने लगती है। अगर आप भी किसी रिलेशनशिप में हैं तो इन संकेतों के जरिए यह जान सकते हैं कि आपका रिलेशनशिप कितना हैप्पी है।

 

एक दूसरे को करें प्रोत्साहित

बहुत बार ऐसा होता है कि हमारे साथी को किसी काम में काफी सफलता हासिल होती है और कई बार हमारा साथी काफी मेहनत करने के बाद भी असफल रहता है। तो इन दोंनों ही सूरतों में आपको अपने साथी को प्रोत्साहित करना है। अगर आप एक दूसरे को प्रोत्साहित करते हैं और एक दूसरे को आगे बढ़ने में मददगार साबित होते हैं, तो इससे आपको रिश्ते को मज़बूती के साथ साथ एक पहचान भी मिलती है। सफलता में अगर आप जश्न मनाते हैं, तो असफलता में भी आप साथी के हाथ को मज़बूती से थामे रहे। ये जज्बा आपो सुनहरे कल की ओर ले जाएगा।

 

मुलाकात की कोशिश

कोशिशे उन्ही की कामयाब होती हैं, जो पूरी शिद्दत से अपनी मंज़िल को पाने की चाह रखते हैं। अगर आप अपने साथी से मिलने का वक्त तय कर चुकी हैं, तो उसे पूरी इमानदारी से निभाएं और एक दूसरे की भावनाओं की कद्र करें। वक्त बेवक्त होने वाली मुलाकातें जिंदगी के सफर को और आसान बना देती हैं और आगे चलकर यही मुलाकातें सुनहरी यादों का रूप ले लेती हैं। 

 

पार्टनर पर करो विश्वास

विश्वास हर रिश्ते को मज़बूत बनाता है और उपर डठाता है। अपने साथी पर बेवजह आरोप लगाने से बचें अन्यथा आपका रिश्तो कमज़ोर होने लगेगा। दुनिया में ऐसे न जाने कितने ही लोग है जो दूसरों के रिश्ते टूटने से राहत महसूस करते हैं, तो आप उन लोगों से दूर रहे और अपने रिश्ते में आ रही कडत्रवाहट को लेकर किसी से भी बात करने से बचें। अन्यथा रिश्तों में एक ऐसा मोड़ आ जाएगा जब आप का रिष्ता दूसरों के लिए मज़ाक का विषय बनकर रह जाएगा।

 

खुद को महसूस करें महफूज़

अगर आप खुद को एक दूसरे के साथ महफूज़ महसूस करते हैं, तो समझ लीजिए कि आपका रिश्ता बेहद मज़बूत हैं और इस रिश्ते में बेपनह मोहब्बत हैं। ऐसे में हमेशा अपने रिश्ते को खुशहाल बनाने की कोशिश करते रहे, ताकि आपका पार्टनर एक मज़बूत स्तभ की तरह हर वक्त आपके साथ रहे। एक बेहतर रिश्ते की पहचान यह भी है कि आप एक दूसरे के साथ प्यार महसूस करते हैं।

 

बराबरी का दर्जा

अगर आप अपने पार्टनर को बराबरी का दर्जा देते हैं, तो बदले में आप भी अपने साथी से वफा और प्यार पाएंगे। अगर आपका पार्टनर हर छोटे मोटे काम में आपके साथ खड़ा है और हर मंज़िल को पाने में वो आपका मददगार है, तो समझ लीजिए कि आप एक आर्दश कपल हैं और आपका रिश्ता बेहद मज़बूत हैं और आप एक दूसरे को समान मानते हैं।

 

परिपक्वता का स्तर

कई बार दाम्पत्य जीवन और घर परिवार को लेकर बहुत से ऐसे फैसले लेने पड़ते हैं, जो बिना मैच्योरिटी के संभव ही नहीं हैं। अगर आप मैच्योर हैं और हर हालात की नज़ाकत को समझते हैं, तो यकीनन आप आसानी से हर फैसला लेने में कामयाब साबित हो सकते हैं। फैसला लेने की क्षमता आपके पार्टनर की नज़र में आपकी अहमियत को और भी बढ़ा देती हैं और आप एक बेहतर भविष्य का निर्माण करने में सफल साबित हो सकते हैं। अपनी दिनो दिन बढ़ रही परेशानियों, बेवजह झगड़े, बात बात पर बहस और बाकी हालातों को परिपक्वता से हैंडल करना भी आपके रिश्ते को खुशहाल बना सकता है।

 

वादों पर अटल रहें

बहुत बार हम अपने किए हुए वादों को भूल जाते हैं। नतीजन हमारे रिश्तों में खटास भरने लगती है। अगर आप अपने पार्टनर से किसी भी चीज़ को लेकर कोई कमिटमेंट करती हैं, तो ध्यान रहे कि आप उस पर हमेशा अटल बनी रहें। अगर आप अपने कमिटमेंट को पूरा नहीं करते हैं तो इससे आपका रिश्ता टूटनें की कगार पर पहुंच सकता है।

 

अपनी जिम्मेदारी को समझें

हर रिश्ते को निभाने के लिए दोनों लोगों की बराबर जिम्मेदारी बनती हैं। हर शख्स यही चाहता है कि मेरा पार्टनर जिम्मेदार हो और हम काम को सलीके से करें। अगर रिलेशनशिप में आपका पार्टनर अपनी ज़िम्मेदारियों को बराबर बांट कर निभा रहा हैं तो इससे रिश्ता खुशहाल बन सकता है।

 

टीम की तरह काम करें

रिलेशनशिप में अगर दोनों ही पार्टनर एकण्दूसरे के खिलाफ काम करेंगे तो इससे मतभेद होना लाजिमी है लेकिन अगर आप टीम के एक साथी की तरह काम करेंगे तो इससे आप दोनों एकसाथ खुश रह पाएंगे। ये देखने में बहुत आसान लगता है लेकिन असल में रिश्ते के बीच दो पार्टनर्स के बीच ईगो आ जाता है जिसकी वजह से टीम के रूप में काम कर पाना नामुमकिन सा  हो जाता है।

 

संतुलन बनाए रखें

जरूरत से ज्यादा प्यार और ज़रूरत से ज्यादा दबाव किसी भी रिश्ते को खोखला कर सकता है। अगर आप लिमिट से ज्यादा किसी को प्यार करते हैं तो वो शख्स आपको शायद उतनी अहमियत न दे पाए औश्र अगर आप किसी पर हर वक्त अपना दबाव बनाए रखेंगे, तो इससे भी आपका रिलेशन बिखरने लगेगा। ऐसे में रिश्तों में अगर संतुलन है, तो उससे जीवन में खुशियां बढ़ती हैं। संतुलन से आप और आपके पार्टनर के बीच सामंजस्य बना रहता है।

 

रिलेशनशिप टिप्स कैसे लगे प्रतिक्रियाएं हमें जरूर भेजें। रिलेशनशिप से जुड़े टिप्स आप हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com

 

ये भी पढ़ें 

त्र्यंबकेश्वर मंदिर में कैसे प्रकट हुए थे शिव, जानें रहस्य

 

 

 

 

रिलेशनशिप टिप्स कैसे लगे?अपनी प्रतिक्रियाएं हमें जरूर भेजें। रिलेशनशिप से जुड़े टिप्स आप हमें ई-मेल कर सकते हैं- editor@grehlakshmi.com

ये भी पढ़ें  

ये आदतें बताती हैं कि आपका पार्टनर रिश्ते में कितना इनसक्योर है