googlenews
इन 5 तरीकों से परिवार में करें मनी मैनेज: Money Management Tips
Money Management Tips

Money Management Tips: पैसे की बात आते ही कई घरों में लड़ाई होने लगती है। यह लड़ाई सिर्फ इसलिए नहीं होती कि पुराने पैसे में सबको हिस्सेदारी चाहिए होती है, बल्कि इसलिए भी होती है क्योंकि सबकी कमाई अलग-अलग होती है। पैसे को लेकर की जाने वाली बहसें कभी खत्म होने का नाम ही नहीं लेती हैं। परिवार बड़ा हो, तो सबकी उम्मीदें भी होती हैं। और अगर एकल परिवार हो तो भी एक-दूसरे की कमाई और खर्च को देखकर जलन जैसी भावना भी आ जाती है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि अपने परिवार में मनी को कैसे मैनेज किया जाए। यहां उन 5 तरीकों के बारे में बताया जा रहा है, जिनकी मदद से अपने परिवार में मनी को मैनेज करने में मदद मिल सकती है। 

यह भी पढ़ें | क्या है BIS केयर ऐप?

1.) साझा न करें फाइनेंशियल डिटेल्स

Money Management Tips
Do not share financial details

सबसे जरूरी बात तो यह है हर व्यक्ति को अपनी फाइनेंशियल डीटेल खुद तक ही रखनी चाहिए। सबको अपनी सैलरी या अपने पति की सैलरी बताने की जरूरत नहीं है। साथ ही, अपने खर्च भी गिनाने की कोशिश कतई नहीं करनी चाहिए। माता-पिता कई बार अनजाने में ही अपने बच्चों की सैलरी, खर्च आदि दूसरों को बता देते हैं। इसे तुरंत रोकना जरूरी है। घर चलाने वाले कपल के सिवा किसी को भी सैलरी और खर्च के बारे में जानने की इजाजत नहीं होनी चाहिए। निजता की इस रेखा को स्वयं ही खींचना चाहिए। 

2.) टिप्पणी करने से बचें

कभी भी किसी के खर्च करने की आदत के बारे में चुगली करने से बचना चाहिए। सबको अपनी मर्जी और अपने पैसे खर्च करके जिंदगी जीने की आजादी मिली हुई है। इसमें किसी की दखलंदाजी बिल्कुल भी ठीक नहीं है। फ्लाइट की जगह ट्रेन, कैब की जगह पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल, ये कुछ ऐसे निर्णय हैं जो हर परिवार अपने कम्फर्ट और जेब के अनुसार तय करता है। किसी और का कोई हक नहीं बनता है कि वह इसपर टिप्पणी करे। कभी भी किसी को पैसे और खर्च को लेकर मुफ्त में सलाह मत दीजिए। 

3.) ज्यादा दयालु न बने

कभी भी किसी के प्रति बहुत ज्यादा दयालु बनने की कोशिश आपके फाइनेंशियल भविष्य में उठा-पठक ला सकती है। बड़े परिवार में भाई-बहनों से बहुत उम्मीदें पाल ली जाती हैं। यदि बहू कमा रही है, तो उससे उम्मीद पाल ली जाती है। अपनी सैलरी को अपने माता-पिता और भाई-बहनों से शेयर करना प्राकृतिक है लेकिन उतना ही करें, जितनी बड़ी आपकी चादर हो। उनकी उम्मीद के अनुसार अपने जेब में छेद करना बिल्कुल भी ठीक नहीं है। इससे आपको खुशी नहीं मिलने वाली है। 

4.) सोच समझकर दें उधार

Money Management Tips
Lend wisely

यदि आपने कभी किसी की जरूरत पड़ने पर मदद की है, तो इसका मतलब यह नहीं है कि आपके पास उन्हें जज करने का अधिकार है। उन्हें अपनी जिंदगी से जुड़े हर फैसले लेने का हक है, भले ही आपने उनकी किसी भी तरह से मदद की हो। हां, यह जरूर है कि आपसे उधार लेकर आपका भाई फ्लाइट में यात्रा कर रहा है और आप ट्रेन में तो अगली बार आप उसे उधार देने से संबंधित फैसले के बारे में जरूर सोच सकते हैं।

5.) झूठे दिखावे से बचें

यह मान लें कि जलन की भावना होती है। भाई-बहनों में जाने-अनजाने तुलना होती है और यह सैलरी और घर-परिवार के पैसों से भी जुड़ी होती है। इन भावनाओं को हल्के में लेने से सही रहता है। कभी भी अपने पास के ज्यादा पैसों से दूसरों को छोटा महसूस कराने जैसी हरकत करने से बचना चाहिए।   

Leave a comment