अवसाद या डिप्रेशन का तात्पर्य मनोविज्ञान के क्षेत्र में मनोभावों संबंधी दुख से होता है। ये ज़रूरी नहीं है कि डिप्रेशन सिर्फ रिश्तों को लेकर ही हो कई बार ये ‘काम’ को लेकर या फिर कुछ करने को लेकर होता है जिसे आपने कभी नहीं किया। डिप्रेशन एक तरह का डर है जो आपके मन-मष्तिष्क और शरीर को हानि पहुँचता है। अगर आप भी डिप्रेशन से जूझ रही हैं तो अपनी डाइट में इन 4 चीज़ों को ज़रूर शामिल करें ताकि इससे छुटकारा पाया जा सके।
मैग्नीशियम याददाश्त को तेज करता है। इसकी जरूरत पूरी करने के लिए ड्राई फ्रूट, मूंगफली और अंजीर डाइट में शामिल करना चाहिए।
जिंक भी आपके दिमाग की सेहत के लिए जरूरी है। यह शरीर की कोशिकाओं में होता है। जिंक के लिए आप आहार में लहसुन, मूंगफली, दालें, बादाम शामिल करें।
आयोडीन की कमी होने पर दिमाग ठीक तरह से काम नहीं कर पाता। तो अपने आहार में आयोडीन की सही मात्रा को जगह दें।
ओमेगा-3 दिमाग के न्यूरॉन सेल के लिए अच्छा माना जाता है। मछली को ओमेगा 3 का अच्छा स्रोत माना जाता है, इसे आहार में शामिल करें। अगर आप शाकाहारी हैं तो ओमेगा-3 के लिए ड्राई फ्रूट, सरसों के बीज, सोयाबीन, फल और हरी सब्जियों खाएं।