कौन कहता है कि पहली नजर का प्यार, प्यार नहीं सिर्फ आकर्षण होता है, प्यार में वह रूहानियत हो तो एक पल में कोई अपना बन जाता है, फिर कई मुलाकातों की बात बेईमानी हो जाती है, यकीन नहीं होता तो एक नजर टीवी के लोकप्रिय कलाकार रुबीना दिलैक और अभिनव शुक्ला की जोड़ी को देख लें, कभी पहली नजर में हुआ ये प्यार अब दो जिस्म एक जान बन चुका है। दोनों ही एक दूसरे के काम का सम्मान करते हैं और शादी के दो सालों में भी इनके प्यार में अब भी प्रेमी-प्रेमिकाओं की शिद्दत वाला खुमार ही नजर आता है। दोनों की जोड़ी बिग बॉस 14 का भी हिस्सा बनी। एक दूसरे के हमसफर बन कर, इनका सफर किस तरह सुहाना है, अनु वर्मा से इन्होंने शेयर किये अपने रिलेशनशिप की दिलचस्प बातें-

पहली मुलाकात

अभिनव और रुबीना की पहली मुलाकात एक कॉमन फ्रेंड के घर पर गणेश चतुर्थी के दौरान हुई थी। उसके बाद दोनों में बातचीत शुरू हुई। रुबीना कहती हैं कि उन्होंने ही सबसे पहले अपने प्यार का इज़हार किया था और खुद अभिनव को इस रिश्ते को आगे बढ़ाने के लिए पहल किया। रुबीना कहती हैं कि अभिनव हमेशा से काफी शांत स्वभाव के रहे हैं, लेकिन ऐसा भी नहीं है कि जहां जरूरी है, वहां अपनी बात नहीं रखेंगे, वह गलत होते देखना पसंद नहीं करते हैं। उनकी यहीं खूबी, मुझे आकर्षित करती है।  

अपनी जोड़ी की यूएसपी- कभी एक दूसरे पर अपनी राय नहीं थोपी

रुबीना और अभिनव इस बारे में एकमत होते हुए कहते हैं कि हम दोनों की जोड़ी की यूएसपी यही है कि हम दोनों बहुत स्ट्रांग हैं। हम दोनों की जो भी अलग राय होती है, हम उसका सम्मान करते हैं, ऐसा नहीं है कि हम एक दूसरे पर, कुछ भी थोपने की कोशिश करते हैं। साथ ही हम एक दूसरे को पूरा स्पेस देते हैं, कभी जब इनको इनके दोस्तों के साथ वक्त बिताना होता है या मुझे मेरे दोस्तों के साथ जाना होता है, तो ऐसा नहीं है कि हम एक दूसरे में दखल देते हैं। हम दोनों की यह भी खासियत है कि हम दोनों में जहां मतभेद आती है या दूरियां आती हैं, हम वहां चीजों को सुलझाने में यकीन करते हैं। बात को आगे नहीं बढ़ाते।

दोस्ती का रिश्ता कायम रहे

रुबीना और अभिनव यह भी मानते हैं कि पति पत्नी के रिश्ते में दोस्ती पहले आनी चाहिए। वे कहते हैं कि चूंकि हम दोनों एक प्रोफेशन से हैं, तो यह हमारे लिए प्लस प्वाइंट है। इसलिए हमारे प्रोफेशन को लेकर, जो भी उतार-चढ़ाव आते हैं। हम एक दूसरे से शेयर करते हैं और मुझे लगता है कि आप एक दोस्त से ही अपनी बातें कह सकते हैं। एक बात और हम दोनों ध्यान में रखते हैं कि जाहिर है कि शादी के बाद जिम्मेदारियां बढ़ जाती हैं, बदलाव आते हैं, लेकिन उन बदलाव को खुद पर और अपनी खुशियों पर बहुत हावी नहीं होने देना चाहिए, एक दूसरे का सम्मान करते हुए, एक दूसरे के लिए वक्त निकालना भी रिश्ते को और मजबूत बनाता है।

अभिनव इम्पल्सिव, तो रुबीना को झूठ से सख्त नफरत

रुबीना कहती हैं कि अभिनव को गलत बातें बर्दाश्त नहीं होती हैं, ऐसे में कई लोग यह सोच बैठते हैं कि वह मुंहफट है, लेकिन ऐसा नहीं है। हां, वह थोड़े इम्पल्सिव जरूर हैं। लेकिन यहीं बात उन्हें औरों से अलग बनाती है। वहीं अभिनव बताते हैं कि रुबीना को झूठ से सख्त नफरत है। वह फौरन पकड़ लेती है कि कौन इंसान, किस इरादे से क्या बातें कह रहा है। इसलिए वह वैसे लोगों से रिश्ता नहीं रखना चाहती, हम दोनों के रिश्ते की यहीं खूबी है कि हम दोनों एक दूसरे पर ट्रस्ट करते हैं और एक दूसरे से कभी झूठ नहीं बोलते। अभिनव यह भी बताते हैं कि रुबीना साफ-सफाई को लेकर बहुत अधिक पर्टिकुलर है।  वह गंदगी, बिल्कुल बर्दाश्त नहीं कर सकती।

घर के कामों में भी साझेदारी है जरूरी

रुबीना और अभिनव दोनों ही इस बात से इत्तेफाक रखते हैं कि अगर आप अपने लाइफ पार्टनर की कद्र करते हों तो इसका यह मतलब नहीं है कि हर दिन उन्हें महंगे गिफ्ट लाकर दिया करें, बल्कि उनकी असली मदद तब होगी, जब दोनों एक दूसरे की मदद रोजाना वाले कामों में करेंगे। चूंकि असली रियलिटी चेक यही पर होती है कि कौन सा इंसान कितने पानी में है। इस बारे में रुबीना कहती हैं कि हम दोनों ही घर के कामों में पूरी तरह से सक्षम हैं। एक दूसरे की मदद करते ही हैं। लॉक डाउन में जब, घर पर कोई हेल्पर नहीं था तब हम दोनों मिल कर एक दूसरे के साथ, पूरा काम किया करते थे। अभिनव कहते हैं कि कुकिंग करना रुबीना को पसंद है। ऐसा नहीं है कि उस पर प्रेशर है कि उसे ही कुकिंग करनी है, लेकिन रुबीना को कुकिंग पसंद है तो वह अपनी मर्जी से कुकिंग करना पसंद करती है और लोगों को खिलाना भी काफी पसंद है। तो वह कुकिंग वाला हिस्सा संभाल लेती थी, मैं बाकी काम। वहीं रुबीना कहती हैं कि बचपन से उनकी मां को वह देखती आई हैं कि कैसे वह सबका ख्याल रखती थी। सबकी पसंद की चीजें बनाती थीं, तो उनमें यह गुण वहीं से आये हैं।

संक्षिप्त परिचय

रुबीना दिलैक को पहली सफलता धारावाहिक जीटीवी ‘छोटी बहू’ से मिली, इसके बाद कलर्स के शो शक्ति से उन्हें काफी लोकप्रियता मिली। उन्होंने छोटी बहू से पहले ‘बनूं मैं तेरी दुल्हन’ ‘सात फेरे’ ‘पवित्र रिश्ता जैसे शोज में भी छोटी भूमिका निभाई थी। रुबीना ‘बिग बॉस-14’  में प्रतिभागी बनी और विनर भी। वहीं अभिनव शुक्ला ‘गीत हुई सबसे पराई, ‘एक हजारों में मेरी बहना है’, ‘सिलसिला बदलते रिश्तों का’ जैसे शोज का हिस्सा रहे हैं। साथ ही उन्होंने ‘जय हो’ ‘अक्सर-2’ और ‘लुका छुप्पी’ जैसी फिल्मों में अभिनय किया है। अभिनव ‘बिग बॉस 14’ का भी हिस्सा रहे हैं।

एक दूसरे को बदलने की कोशिश न करें

रुबीना कहती हैं कि जो लोग यह सोचते हैं कि किसी खास दिन एक दूसरे को गिफ्ट देना ही एफर्ट है तो मैं इस बात को नहीं मानती, मेरा मानना है कि आप जब तक हर दिन एक दूसरे के साथ ग्रो करना नहीं सीखेंगे। एक दूसरे के प्रति कद्र जाहिर नहीं करेंगे, आपका प्यार बढ़ नहीं सकता। इसलिए रिलेशनशिप में हर दिन एफर्ट लगाना जरूरी है। साथ ही यह भी जरूरी है कि आप इस बात को समझने की कोशिश करें कि आपके पार्टनर को किस चीज में खुशी मिलती है। फिर उन्हें उस काम को करने देंगे। ईगो रखने से एक दूसरे में दूरी आएगी। इसलिए रिलेशनशिप में वह कभी नहीं होना चाहिए। हमारी ही यहीं कोशिश है। रुबीना कहती है कि हम दोनों ने कभी एक दूसरे को बदलने की कोशिश नहीं की है। एक दूसरे को भी योरसेल्फ  रहने दिया है और इससे भी हमारी रिश्ते की मजबूती बढ़ी है।

यह भी पढ़ें –सास का शगल होती है घर में राजनीति