Posted inकथा-कहानी

प्रिया का आत्मसम्मान – गृहलक्ष्मी कहानियां

प्रिया अपने पिता की बहुत लाडली बेटी थी। इस वर्ष 71 प्रतिशत प्राप्त करके अपने विद्यालय में वह पूरी क्लास में अब्बल आई थी। बचपन से ही वह पढाई में बहुत  होशियार थी।  शहर के सबसे अच्छे कालेज में उसको मनचाहे कोर्स -बी.ए. इंग्लिश- में एडमिशन भी मिल गया था। अपनी प्रतिभा से वह जल्दी  […]