Whatsapp pay
व्हाट्सएप पेमेंट

पेमेंट से संबंधित धोखाधड़ी के कई मामले प्रकाश में आते रहे हैं। यही वजह है कि हममें से कई लोग ऑनलाइन पेमेंट करने से घबराते हैं। अगर आप व्हाट्सएप पर पेमेंट का इस्तेमाल करते हैं और धोखाधड़ी से बचना चाहते हैं, तो यह आर्टिकल आपकी मदद के लिए है। 

ऐसे बरतें सावधानी

  1. यह याद रखें कि व्हाट्सएप आपसे आपकी जानकारी पाने के लिए कभी भी आपसे संपर्क नहीं करता है। अगर व्हाट्सएप कभी आपसे संपर्क करता भी है, तो वह बिल्कुल भी वैध तरीके से करेगा। यदि आपको व्हाट्सएप की तरफ से कोई मैसेज, ईमेल या फोन मिलता है, जिस पर आपको शक हो तो इसकी जांच करने के लिए आप किसी भी समय व्हाट्सएप से संपर्क कर सकते हैं। 
  2. सबसे जरूरी बात आपको किसी भी अनजान या संदिग्ध लिंक पर क्लिक नहीं करना चाहिए। 
  3. ध्यान रखें अगर कोई आपसे पैसों के लिए अनुरोध करता है और आप उस अनुरोध को स्वीकार कर लेते हैं तो आपके अकाउंट से पैसे तुरंत निकाल लिए जाएंगे। इसलिए आप सिर्फ उन लोगों के पैसे के अनुरोध को स्वीकार करें, जिन पर आप भरोसा करते हैं। 

अगर आपका फोन खो जाता है या चोरी हो जाता है, तो आपको तुरंत ही अपने बैंक को इसकी सूचना देनी चाहिए। इसके साथ ही whatsapp.com पर संपर्क करें को चुनकर व्हाट्सएप से संपर्क करना चाहिए। 

यदि आपको जरा भी शक होता है कि कोई मैसेज आपको धोखाधड़ी के इरादे से भेजा गया है, तो आप तुरंत ही उस मैसेज भेजने वाले नंबर को ब्लॉक करने के लिए रिपोर्ट कर सकते हैं। अगर आप किसी नंबर को ब्लॉक करना चाहते हैं, तो चैट खोलें और ब्लॉक करें पर टैप करके रिपोर्ट करके ब्लॉक करें पर टैप करें। 

अन्य जरूरी बातें

आपके लिए यह जानना जरूरी है कि आप अपने ओटीपी या बैंक अकाउंट से जुड़े विवरण को कभी भी किसी के साथ शेयर ना करें। यह इसलिए जरूरी है क्योंकि लोग ओटीपी आपके बैंक अकाउंट से जुड़े विवरण का गलत इस्तेमाल कर सकते हैं। 

आप सिर्फ उन लोगों से ही पैसों का लेनदेन करें, जिन पर आप भरोसा करते हों। 

शिकायतें हल करने के तरीके

  1. कोई भी व्यक्ति यूपीआई लेन- देन के बारे में पीएसपी (पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर) ऐप या टीपीएपी (थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर) ऐप में शिकायत दर्ज कर सकता है। 
  2. इसके लिए व्यक्ति को ऐप में उस ट्रांजैक्शन को चुनना होगा, जिससे संबंधित उसे शिकायत करनी है। 
  3. अगर यूपीआई ट्रांजैक्शन ऐसे टीपीएपी ऐप से किया गया है, जिसका इस्तेमाल पीएसपी बैंक करते हैं तो व्यक्ति को यूपीआई से जुड़ी सभी शिकायतें पहले उस टीपीएपी पर करनी पड़ेगी। यदि टीपीएपी ऐप पर शिकायत करने से कोई हल नहीं निकलता है, तो शिकायत पहले पीएसपी बैंक में और फिर उस बैंक में की जाती है जहां व्यक्ति का अकाउंट है। सबसे अंत में एनसीपीसीआई में शिकायत की जाती है। इन सब जगहों पर जाने के बावजूद भी व्यक्ति की शिकायत का हल ना निकले, तो व्यक्ति ‘बैंकिंग ऑम्बुड्समैन’ और/या ‘डिजिटल शिकायतों के लिए ऑम्बुड्समैन’ के पास जा सकता है। 

Leave a comment