वर्णिका  की 6 साल की बेटी जब स्कूल से घर आयी तो बहुत उदास थी रोज़ चुलबुली सी नज़र आने वाली बच्ची आज कुछ गुमसुम सी बैठी थी। मम्मी के बार-बार पूछने पर उसने बोला कि कल से वो बस से स्कूल नहीं जाएगी। बस वाले अंकल उसे बहुत गंदे लगते हैं। वो उससे बात-बात पर डराते  हैं और कभी-कभी उसे ऐसे पकड़ते हैं की उसे बिलकुल अच्छा नहीं लगता। ये सिर्फ वर्णिका की ही नहीं किसी भी मां की कहानी हो सकती है।  हो सकता है कई बार आपका बच्चा गुड टच और  बैड टच के बारे में समझ ही नहीं पाता और जाने अंजाने उसका शारीरिक या मानसिक शोषण होता है। आइए जानते हैं क्या है गुड टच और बैड टच और बच्चों को इसके बारे में कैसे समझाएं 
 
 
क्या होता है गुड टच और बैड टच ?
 
बच्चों को बताएं की माता-पिता के अलावा किसी और के सामने अपने  कपड़े न बदलें। बच्चों को समझाएं की उनके प्राइवेट पार्ट्स को उनके अलावा कोई और टच करे जो बच्चे को खराब लगे तो तुरंत घर में पेरेंट्स को बताएं। प्राइवेट पार्ट्स को कोई और टच करता है तो वो बैड टच होता है। कोई बच्चे को छुए और बच्चे को अच्छा नहीं लगे तो ये भी बैड टच की श्रेणी में ही आता है। बच्चों को ये भी समझाएं की कोई रिश्तेदार या स्कूल में कोई भी उनको ग़लत तरीके से गलत जगह पर छुए तो वो भी बैड टच है। इसके अलावा जब कोई बच्चों को अच्छी भावना से टच करता है जो उन्हें अच्छा लगता है तो वो गुड टच होता है। डॉक्टर बच्चों को टच करता है तो वो गुड टच है या फिर स्कूल में कोई भी बच्चे को प्यार से टच करे तो वो भी गुड टच है। 
 
 
बच्चों को कैसे बताएं गुड और बैड टच के बारे में  बताने के कुछ आसान तरीके 
 
  • बच्चों में आत्मविश्वास बढ़ाएं और कुछ भी गलत होने पर आवाज़ उठाना सिखाएं। 
  • बच्चों का मन बहुत कोमल और संवेदनशील होता है। किसी भी बात का असर उन पर बहुत जल्दी होता है। पेरेंट्स को बिना किसी झिझक के बच्चों को बैड टच की शिक्षा देनी चाहिए।  किसी कहानी या फिर वीडियो दिखाकर बच्चे को समझाएं। 
  • इन बातों को समझने के लिए बच्चे को थोड़ा समय दें। 
  • बच्चों को बताएं कि उनके प्राइवेट पार्ट्स उनकी बॉडी का हिस्सा हैं और इन्हें उसके अलावा कोई दूसरा नहीं छू सकता ।
  • बच्चों से हमेशा बात करके पूछें कि स्कूल में क्या हुआ किसी ने उन्हें कुछ गलत बोला हो तो वो भी पूछें।  
  •  बच्चों से बेहद करीबी रिश्ता बना कर रखें, उसे हमेशा इस बात के लिए उत्साहित करें कि वो कुछ भी पेरेंट्स से  छुपाए नहीं। 
  • बच्चों को इस बात का भरोसा दिलाएं की उनका सीक्रेट पेरेंट्स किसी से शेयर नहीं करेंगे। 
  • बच्चों को गुड टच और बैड टच के बारे में बताने के लिए इंटरनेट पर कई वीडियो भी हैं जिन्हें दिखाकर आप बेहद आसानी से समझा सकते हैं कि ये क्या होता है। 
ये भी पढ़े-
 
 
आप हमें फेसबुक , ट्विटर और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।