क्या आपके नए कपड़े दो-तीन बार में धोने के बाद ही पुराने व फेड नजर आने लगते हैं? क्या उनमें जल्द ही रुएँ हो जाते हैं? क्या अपने फेवरिट कपड़ों को पहनने का अब आपका मन नहीं करता? अगर इन सभी सवालों का जवाब हां है तो इसका अर्थ है कि आप अपने कपड़ों की देखभाल सही तरह से नहीं कर रही हैं? जिस तरह हर इंसान अलग होता है, उसकी स्किन अलग होती है और इसलिए उसे अलग तरह से अपनी स्किन का ख्याल रखना पड़ता है। ठीक उसी तरह, अलग-अलग फैब्रिक से बने कपड़े भी डिफरेंट केयर मांगते हैं। आप हर तरह के कपड़े को यूं ही मशीन में नहीं धो सकतीं। कुछ फैब्रिक बेहद ही डेलिकेट होते हैं और इसलिए उन्हें हैंडवॉश करना पड़ता है। वहीं कुछ कपड़ों को ड्राई क्लीनिंग की जरूरत होती है। इसी तरह, कुछ कपड़ों के दाग निकालने के लिए स्पॉट क्लीनिंग ट्रीटमेंट की सलाह नहीं दी जाती है। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको अलग-अलग फैब्रिक के कपड़ों की देखरेख का सही तरीका बता रहे हैं-

लिनन के कपड़ों की केयर का तरीका

 

 

लिनन एक एनवायरमेंट फ्रेंडली फैब्रिक है जो आपको ठंडक का अहसास कराता है। हालांकि, यह एक डेलिकेट फैब्रिक है, इसलिए इसे सालों तक नए जैसा बनाए रखने के लिए आपको इस तरह लिनन के कपड़ों की देखभाल करनी चाहिए-

  • लिनन के कपड़ों को हमेशा ठंडे या गुनगुने पानी में ही धोएं। कभी भी इनके लिए गर्म पानी का इस्तेमाल ना करें। गर्म पानी सिकुड़न पैदा कर सकता है और साथ ही फाइबर को भी नुकसान पहुंचा सकता है।
  • लिनन के कपड़ों को धोने के लिए बहुत ही माइल्ड डिटर्जेंट का इस्तेमाल करें। नाजुक लिनन के लिए बच्चे के कपड़ों के लिए डिटर्जेंट एक अच्छा विकल्प है। कोई भी कठोर चीज आपके आउटफिट को खराब कर देगी।
  • कभी भी लिनन के कपड़ों को ट्विस्ट या स्क्रब ना करें, क्योंकि इससे कपड़ा खिंच सकता है और इस तरह यह अपना मूल आकार खो देगा और फिर आपका आउटफिट अच्छा नहीं लगेगा।
  • यूं तो फ़ैब्रिक सॉफ़्टनर कपड़ों के लिए अच्छे माने जाते हैं, अपने लिनन के कपड़ों पर फ़ैब्रिक सॉफ़्टनर के उपयोग से बचें। लिनन एक प्राकृतिक फाइबर है जो हर बार धोने के साथ नरम हो जाता है। इस फ़ैब्रिक सॉफ़्टनर केवल फ़ैब्रिक को नुकसान ही पहुंचाएंगे।

 

सिल्क के कपड़ों की केयर का तरीका

सिल्क एक ऐसा फैब्रिक है, जिसके कपड़े आपको एक रॉयल लुक देते हैं। लेकिन अगर इनकी केयर सही तरह से ना की जाए, तो यह जल्द ही अपनी चमक खो देते हैं। सिल्क के कपड़ों की केयर करने के लिए आप कुछ टिप्स अपनाएं-

  • बार-बार सिल्क के कपड़ों को धोने से बचें। हर बार इन्हें पहनने के बाद धोना आवश्यक नहीं है। अगर आप ऐसा करती हैं तो इससे इनकी शाइन चली जाएगी। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि इन्हें धोने के लिए ठंडे पानी का ही इस्तेमाल करें।
  • सिल्क के कपड़ों को कभी भी मशीन में धोने की सलाह नहीं दी जाती है, क्योंकि यह बेहद ही डेलीकेट होते हैं। इसलिए हमेशा इन्हें हाथों से ही धोएं। साथ ही इन्हें क्लीन करने के लिए किसी माइल्ड डिटर्जेंट का ही इस्तेमाल करें।
  • आप सिल्क के कपड़े पर ब्लीच और क्लोरीन का इस्तेमाल करने से भी बचें। इससे ना सिर्फ फैब्रिक को नुकसान पहुंचता है, बल्कि कपड़ों में एक पीलापन भी आ जाता है।
  • सिल्क के कपड़ों को धोते समय कभी भी इन्हें जोर से नहीं रगड़ना चाहिए, क्योंकि इससे कपड़े के फैब्रिक को नुकसान पहुंचता है। साथ ही इन्हें लंबे समय भिगोने से भी बचें।
  • सिल्क के पुराने कपड़ों को नए जैसा बनाने के लिए हल्के गुनगुने पानी में डिसटिल्ड विनेगर का इस्तेमाल किया जा सकता है। लेकिन इसमें भी कपड़ों को 10-15 मिनट से ज्यादा देर के लिए भिगोकर ना छोड़ें।
  • सिल्क एक ऐसा फैब्रिक है, जो बेहद ही डेलीकेट होता है, इसलिए सिल्क के कपड़ों से दाग हटाने के लिए स्पॉट ट्रीटमेंट तकनीक की सलाह नहीं दी जाती है।

 

कॉटन के कपड़ों की केयर का सही तरीका

 

 

इस मौसम में कॉटन के कपड़े पहनना हर कोई पसंद करता है। हालांकि, इन्हें भी सही देख-रेख की जरूरत होती है। कॉटन के कपड़ों की देखभाल के लिए आप इन टिप्स को अपनाएं-

  • कॉटन के कपड़ों को कभी भी यूं ही वॉशिंग मशीन में धोने के लिए मशीन में नहीं डालना चाहिए। बल्कि हमेशा इन्हें क्लीन करने से पहले उसके लेबल को अवश्य पढ़ें। जहां कुछ कॉटन क्लॉथ्स मशीन में धोए जा सकते हैं, वहीं कुछ कपड़ों के लिए हैंड वॉश करना उचित माना जाता है। इस तरह आपसे कोई गड़बड़ ना हो, इसलिए लेबल पढ़ने के बाद ही उन्हें धोएं।
  • कॉटन के कपड़ों को धोने के लिए ठंडा या हल्का गुनगुना पानी ही इस्तेमाल करें। बहुत अधिक गरम पानी में कॉटन के कपड़ों के सिकुड़ने का खतरा बना रहता है।
  • कॉटन के कपड़े जल्दी सूख जाते हैं। हालांकि, इन्हें सुखाते समय ध्यान में रखें कि इन्हें तेज धूप में सुखाने की भूल ना करें। बल्कि इन्हें छांव में सुखाएं। आप इन्हें हल्की धूप में भी सुखा सकती हैं।
  • कॉटन के कपड़ों को प्रेस करते समय आयरन को बहुत गर्म ना करें, बल्कि जब यह हल्की गर्म हो, तभी इसका इस्तेमाल करें। बहुत अधिक हीट कॉटन को नुकसान पहुंचाती है।
  • सिल्क की तरह ही कॉटन के कपड़ों पर ब्‍लीच का इस्‍तेमाल करना उचित नहीं माना जाता। अगर आप कपड़ों से दाग हटाने के लिए ब्लीच का इस्तेमाल करने के बारे में सोच रही हैं तो उसकी जगह नींबू और विनेगर को प्राथमिकता दें।

 

डेनिम के कपड़ों की केयर का सही तरीका

 

 

डेनिम एक ऐसा फैब्रिक है, जिसे इन दिनों बेहद पसंद किया जा रहा है। पुरूष हो या महिलाएं, बच्चे हों या बड़े, हर कोई डेनिम आउटफिट को जरूर पहनता है। अगर आपके पास भी डेनिम की जैकेट या जींस है तो उसकी केयर के लिए आप इन टिप्स को अपनाएं-

  • सबसे पहले तो आपको डेनिम के कपड़ों को बार-बार और जल्दी-जल्दी नहीं धोना चाहिए। आमतौर पर महिलाएं सोचती हैं कि डेनिम एक रफ एंड टफ फैब्रिक है और इसलिए इन्हें बार-बार क्लीन किया जा सकता है। जबकि इस फैब्रिक से कपड़ों को इसलिए बनाया जाता है, ताकि उन्हें बार-बार वॉश करने की जरूरत ना पड़े।
  • अपनी डेनिम जैकेट या जींस धोने से पहले, इसे ज़िप और बटनों को बंद करना ना भूलें। साथ ही डेनिम के कपड़ों को धोने से पहले उल्टा कर सकते हैं।
  • गर्मी के कारण डेनिम फैब्रिक को नुकसान पहुंच सकता है, इसलिए इन्हें धोने के बाद ड्रायर का इस्तेमाल करने से बचें। वहीं डेनिम आउटफिट को सीधी तेज धूप में भी ना सुखाएं। आप इन्हें हवा में या हल्की धूप में सुखा सकती हैं।
  • डेनिम के कपड़ों पर दाग लग जाने पर ब्लीच का इस्तेमाल ना करें, यह आपके कपड़े के कलर को नुकसान पहुंचा सकता है। बेहतर होगा कि आप ब्लीच को लिक्विड डिटर्जेंट या फैब्रिक स्टेन रिमूविंग प्रॉडक्ट से स्विच करें और दाग हटाएं।

 

यह भी पढ़ें – जेगिंग्स में स्टाइलिश दिखने के लिए कुछ इस तरह करें इसे पेयर

लाइफस्टाइल संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही लाइफस्टाइल से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें – editor@grehlakshmi.com