एक व्यक्ति कई कारणों से अपनी त्वचा पर लाल  चकत्ते  देख सकता है,फिर चाहें वो एलर्जी रिएक्शन  से लेकर गर्मी के संपर्क में आने तक ही क्यों न हों । त्वचा पर लाल  चकत्ते  कई बार हानिकारक नहीं होता और  जिसका वे घर पर ही इलाज  कर लेते है । तो कई बात हानिकारक होने की वजह से, कुछ लोगों  को घर पर या ओवर-द-काउंटर (ओटीसी) उपचार की आवश्यकता हो सकती है। इस लेख में, हम त्वचा पर लाल  चकत्ते  के कुछ संभावित कारणों, उनके उपचार के विकल्पों और डॉक्टर से संपर्क करने के बारे में आपको बताएंगे । 

कब लें सहायता 

त्वचा पर  चकत्ते  कई आकार , रंग , और कई तरह की बनावट में होते है । सभी लाल  चकत्ते को आपातकालीन चिकित्सा उपचार की आवश्यकता नहीं होती है। हालांकि, लोगों को डॉक्टर  की सलाह जरूर लेनी  चाहिए, अगर उनमें रैशेज हों और इनमें से और  कोई भी लक्षण दिखाई दें:

* रैश अगर पूरे शरीर पर हो ।

* बुखार

* ब्लिस्टर्स या घाव 

* साँस लेने , बोलना, या निगलने में कठिनाई

* चेहरे, आंखों या होंठों में सूजन

*  गर्दन में अकड़न

 लोगो को किसी भी तरह के रैशेज से सावधानी बरतनी चाहिए , क्योंकि वे दर्दनाक हो सकते है , आंखों के लिए नुकसानदायक ,और आपके मुंह के अंदर भी घाव कर सकते हैं । अगर कोई संदेह हो तो , प्राइमरी केयर प्रोवाइडर या बोर्ड सर्टिफाइड डर्मेटोलॉजिस्ट को दिखा सकते है ।

क्यों होते है लाल  चकत्ते 

हीट रैश ( घमौरियां ) 

घमौरियां ज़्यादातर गर्म व नम स्थितियों में होती हैं। घमौरियां तब होती हैं, जब आपकी त्वचा के अवरुद्ध छिद्र आपकी त्वचा के नीचे मौजूद पसीने को बाहर नहीं निकलने देते।  जिस कारण हमारे शरीर पर छोटे-छोटे लाल दाने निकल आते हैं । कुछ प्रकार की घमौरियां कांटेदार या अत्यधिक खुजली वाली हो सकती हैं।

 लक्षण

* छोटे लाल धब्बे जिन्हे पिंपल्स भी कहा जाता है ।

* खुजली होना 

* सूजन और खराश

*  चक्कर आना

*  जी मिचलाना

 इलाज 

हीट रैश आमतौर पर 24 घंटे के भीतर चला जाता है ।

उपचार में आमतौर पर खुजली, जलन और सूजन को शांत करने के लिए लोशन का उपयोग करना शामिल है । 

त्वचा को ठंडा रखे और टाइट फिटिंग कपड़े न पहनें ।

केराटोसिस पिलारिस 

केराटोसिस पिलारिस (केपी) एक आम त्वचा की स्थिति है जिसमें त्वचा पर छोटे लाल, सफेद या मांस के रंग के धब्बे हो जाते हैं। यह अक्सर ऊपरी बांहों के बाहरी हिस्सों को प्रभावित करती है। यह फोरआर्म्स और अपर बैक  को भी प्रभावित कर सकती है ।

लक्षण 

* त्वचा जो खुरदरी या सूखी महसूस होती है । 

* त्वचा पर छोटे, दर्द रहित धक्कों के पैच । 

* खुजली । 

 इलाज  

लोग केराटोसिस पिलारिस के लक्षणों का इलाज कर सकते हैं:

* यूरिया या लैक्टिक अम्ल युक्त मॉइस्चराइज़र

* अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड

* ग्लाइकोलिक एसिड

*  दुग्धाम्ल

* रेटिनोइड्स

* सलिसीक्लिक एसिड

* लेजर या लाइट थेरेपी 

कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस : संपर्क से आने वाले चर्मरोग 

कॉन्टैक डर्मेटाइटिस तब होती है जब कोई व्यक्ति किसी पदार्थ के संपर्क में आता है जो उनकी त्वचा को इरिटेट करता है या एलर्जी पैदा करता है । 

लक्षण 

* रैशेज 

* ड्राई स्किन 

* ब्राइट स्किन रैश 

* त्वचा पर छोटे लाल  चकत्ते  का समूह 

* त्वचा पर  इरिटेटीन और खुजली होना 

* तीव्र खुजली, जकड़न या जलन

* धूप के प्रति संवेदनशीलता 

 इलाज 

* ऐसे स्किन केयर प्रोडक्ट्स से बचे जिसमे हॉर्स केमिकल होते है ।

*  सोने से बने गहनों न पहनें 

* उन खाद्य पदार्थों या दवाओं से बचें जो एलर्जी का कारण बनती हैं । 

* यदि कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस  एक छोटे से क्षेत्र तक सीमित है, तो आप 1% हाइड्रोकार्टिसोन क्रीम लगा सकता है।

एटोपिक डर्माटाटिस

एटोपिक , जिसे एक्जिमा के रूप में भी जाना जाता है, एक क्रोनिक इम्फ्लेमेट स्किन कंडीशन  है । 

* फॉलीकुलर एक्जिमा : इस प्रकार का एक्जिमा बालों के रोम को प्रभावित करता है।

* पपुलर एक्जिमा: त्वचा पर लाल धब्बे

इसके अलावा : 

* अत्यधिक खुजली वाली त्वचा

* त्वचा की गर्मी , सूजन और सूखी, परतदार त्वचा

इलाज 

* स्टेरॉयड और एंटीथिस्टेमाइंस जैसे दवाओं का सेवन करें ।

*  खुर त्वचा के इलाज के लिए एक मॉइस्चराइजर लगाए ।

* ब्लीच बाथ लें, जिसमें प्रति 40-गैलन टब में आधा कप ब्लीच का उपयोग करने की आवश्यकता होती है, प्रति सप्ताह 1-2 बार ऐसा करें । 

रोजेसी

रोजेसी एक त्वचा की स्थिति है जो त्वचा की जलन, लालिमा और छोटे पिंपल्स का कारण बनती है। यह किसी को भी हो सकता है ज्यादातर यह 30 – 60 वर्ष के लोगो में पाया जाता है । 

 लक्षण

* माथे, नाक, गाल और ठुड्डी पर इरीटेशन  या लाल त्वचा ।

* छोटे धक्कों या फुंसियां  

* पलकों की सूजन

*  धुंधली दृष्टि 

 इलाज 

* अल्ट्रावायलेट किरणों , अल्कोहल , और हर्ष केमिकल से बचे 

* चेहरे को बैलेंस ph क्लींजर से धोए ।

* मॉइश्चराइज का इस्तेमाल करें 

* सनस्क्रीन लोशन लगाएं 

 *  कैफीन युक्त उत्पादों और मसालेदार खाद्य पदार्थों से भी बचे । 

इन्फेक्शन जिनसे हो सकते है त्वचा पर लाल दाने

कुछ संक्रमण भी त्वचा पर लाल  चकत्ते  का कारण बन सकते हैं । 

उदाहरण

 चिकनपॉक्स या सिंगल्स (चेचक या दाद ) 

वैरिकाला-जोस्टर वायरस इन संक्रमणों का कारण बनता है, जो लाल, खुजली, द्रव से भरे फफोले पैदा करते हैं जो शरीर पर कहीं भी दिखाई दे सकते हैं।चिकनपॉक्स आमतौर पर शिशुओं और छोटे बच्चों में होता है। हालांकि, किशोर भी चिकनपॉक्स के शिकार हो सकते हैं ।दाद उन एडल्ट्स में होता है जिन्हें पहले से ही चिकनपॉक्स हो चुका है । दाद  आमतौर पर शरीर के एक तरफ एक क्षेत्र को प्रभावित करता है।

रूबेला

यह संक्रामक वायरल , छोटे लाल या गुलाबी  चकत्ते , एक विशिष्ट दाने का कारण बनते है।ट्रंक, हाथ और पैर तक  फैलने से पहले यह दाने आमतौर पर चेहरे से शुरू होते हैं। रूबेला , भी बुखार, सिरदर्द और सूजन लिम्फ नोड्स का कारण बनता है।

मेनिनजाइटिस

मेनिनजाइटिस एक मेडिकल इमरजेंसी है। यह रीढ़ की हड्डी और मस्तिष्क को कवर करती है। यह आमतौर पर एक बैक्टिरियल और वायरल संक्रमण से फैलती है।

लक्षण

* बुखार

* गर्दन में अकड़न

* सरदर्द

*जी मिचलाना

* उल्टी आना 

स्कारलेट फीवर 

स्ट्रेप्टोकोकस बैक्टीरिया इस संक्रमण का कारण बनता है।ये बैक्टीरिया स्वाभाविक रूप से नाक और गले में रहते हैं। वे गर्दन पर, बगल के नीचे और कमर पर लाल रैश का कारण बनते हैं। दाने में छोटे लाल  चकत्ते  होते हैं जो छूने में खुरदुरे  होते हैं। 

डॉक्टर से कब संपर्क करें 

यदि किसी व्यक्ति को स्किन इन्फेक्शन जैसा अनुभव होता है , तो उन्हें हमेशा डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। लोगों को एक डॉक्टर से तब भी बात करनी चाहिए अगर ओटीसी या घरेलू उपचार का उपयोग करने के बावजूद उनके दाने में सुधार नहीं होता है।अगर किसी भी व्यक्ति को इन में से कोई भी लक्षण जरा भी महसूस होते है तो उन्हे मेडिकल ट्रीटमेंट लेना चाहिए : 

लक्षण 

 * बुखार

* गंभीर सिर या गर्दन में दर्द

* जोड़ों का दर्द या जकड़न

* सांस लेने मे तकलीफ

* लगातार उल्टी या दस्त होना

*  चक्कर आना

घरेलू उपचार  

यदि किसी व्यक्ति को स्किन इन्फेक्शन का संदेह है, तो उन्हें किसी भी घरेलू उपचार की कोशिश करने से पहले एक हेल्थ केयर प्रोफेसर से संपर्क करना चाहिए।

त्वचा पर इन्फेक्शन से राहत के  लिए, लोग निम्नलिखित घरेलू उपचार आजमा सकते हैं

* माइल्ड, अनसेन्टेड साबुन, बॉडी वॉश और क्लीन्ज़र का उपयोग करे 

* गर्म पानी से नहाने से बचे 

* प्रभावित त्वचा को सूखा और साफ रखें 

* ढीले-ढाले  कपड़े पहने 

* इंफेक्टेड स्किन को बार बार न खुजाए और न  खरोचे ।

* सूजन  को कम करने और दर्द को कम करने के लिए प्रभावित त्वचा पर एलोवेरा लगाए ।

* परतदार त्वचा को हाइड्रेट करने के लिए मॉइस्चराइज़र का उपयोग करे ।

शरीर पर लाल  चकत्ते  के कई कारण हो सकते है । त्वचा पर लाल  चकत्ते  अधिक गंभीर स्थितियों के कारण भी हो सकते हैं, जैसे कि वायरल या बैक्टीरियल संक्रमण । यदि लोगों को संदेह है कि उन्हे गंभीर स्किन इन्फेक्शन है ,तो उन्हे घरेलू उपचार का उपयोग करने के बजाय एक डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

यह भी पढ़ें-

बच्चों की स्किन से सम्बंधित परेशानियां जिन्हें आप को समझना जरूरी है

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com