googlenews
कानों की मालिश
दिनों दिन बदल रहे लाइफस्टाइल के कारण स्ट्रेस और एंग्जायटी लोगों के जीवन का हिस्सा बन चुकी है। इसके पीछे कई वजह हो सकती हैं, लेकिन अगर इसका समय पर इलाज नहीं किया गया तो इसका असर सेहत पर भी देखने को मिल सकता है। स्ट्रेस की वजह से नींद ना आना, सिर में दर्द या फिर थकान जैसी समस्याएं शुरू होने लगती हैं। लेकिन अगर आप चाहें तो केवल कुछ मिन्टों की मालिश के जरिए इस समस्या से राहत पा सकती है। कान की मालिश की खासियत है कि इससे न सिर्फ आप तनाव से छुटकारा पा सकती हैं बल्कि इससे कई और भी शारीरिक समस्याएं भी दूर हो जाती हैं। आइए जानमे हैं, कान की मालिश से होने वाले फायदे
दर्द से राहत
कान की मालिश करने से मांसपेशियों के दर्द में भी आराम मिलता है। इसके लिए आप कान के निचले हिस्से को खींचकर मालिश करें। ऐसा करने से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है।
माइग्रेन से छुटकारा
कानों की मालिश करने से सिर दर्द और माइग्रेन जैसी समस्या से छुटकारा मिलता है। अक्सर लोग सिर दर्द से राहत पाने के लिए दवाई का सहारा लेते हैं। ऐसे में आप दवाई न खाकर नियमित रूप से कानों की मसाज करके भी राहत पा सकते हैं। ऐसा करने से माइग्रेन का भी खात्मा होता है।
अनिद्रा से लड़ने में करता है मदद
आपको नींद नहीं आती है या फिर देर से आती है तो इसके लिए भी कानों की मालिश कर सकती हैं। ऐसा करने से आप रिलैक्स महसूस करेंगी और आपको जल्दी नींद आने लगेगी। वहीं कान की मालिश करने से बॉडी भी रिलैक्स हो जाती है। ऐसे में सोने से पहले थोड़ी देर अपने कानों की मालिश करें।
एनर्जी बढ़ती है
अब सुबह उठने के बाद आपको तरोताजा होने के लिए चाय या कॉफ़ी की जरूरत नहीं है। इसके बजायए आप अपने कानों को थोड़ी तीव्रता से रगड़ सकते हैं। अपने कानों के तंत्रिका अंत को उत्तेजित करने से मस्तिष्क के कुछ केंद्र सक्रिय हो सकते हैं और थकान दूर हो सकती है। आप इसे दिन के दौरान भी कर सकते हैंए जब आपको लगता है कि आपकी थकान नियंत्रण से बाहर हो रही है और आपकी ऊर्जा का स्तर कम है।
स्ट्रेस और एंग्जायटी होगी कम
अगर आप स्ट्रेस में हैं तो तुरंत कानों की मालिश करें। जब भी एंग्जायटी या फिर स्ट्रेस हो तो सर्कुलेशन में अपने कानों के गेट प्वाइंट यानी ऊपरी हिस्से की मसाज करें। गेट प्वाइंट कान के ऊपरी सेल जहां ट्रायंगल की तरह बना होता है। यहां मालिश करने से आप टेंशन या एंग्जायटी जैसी समस्या से राहत पा सकती हैं।

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com

यह भी पढ़े

एवोकाडो है सेहत का खजाना, डाइट में ज़रूर करें शामिल

एवोकाडो है सेहत का खजाना, डाइट में ज़रूर करें शामिल

Jyoti Sohi

31st March 2021

एवोकाडो एक ऐसा फल है, जिसको मीठे और नमकीन दोनों व्यंजनों में शामिल किया जाता है। एवोकाडो में उच्च फैटी एसिड के साथ साथ विटामिन ए, बी, ई, फाइबर, मिनरल्स और प्रोटीन भरपूर में मात्रा में पाया जाता है। यह गहरे हरे रंग का होता है। एवोकाडो में शुगर की मात्रा बहुत कम होती है।

alt=''

एवोकाडो एक पॉपुलर सुपरफूड है, जिसके अनेकों फायदे होते हैं। दरअसल एवोकाडो एक तरह का फल है, जो दाम में काफी मंहगा मिलता है। मगर एवोकाडो के फायदे वाकई हैरान कर देने वाले हैं। दरअसल, एवोकाडो एक ऐसा फल है, जिसको मीठे और नमकीन दोनों व्यंजनों में शामिल किया जाता है। एवोकाडो में उच्च फैटी एसिड के साथ साथ विटामिन ए, बी, ई, फाइबर, मिनरल्स और प्रोटीन भरपूर में मात्रा में पाया जाता है। यह गहरे हरे रंग का होता है। एवोकाडो में शुगर की मात्रा बहुत कम होती है। साथ ही यह ऊर्जा का बेहतरीन स्त्रोत भी होता है। आइए जानते हैं एवोकाडो के लाभ

 

हृदय स्वास्थ्य के लिए उपयोगी

हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने और हृदय रोग से संबंधित जोखिम से राहत पाने में एवोकाडो का सेवन काफी हद तक उपयोगी साबित हो सकता है। इसमें मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड के साथ ही फाइबर, पोटेशियम, मैग्नीशियम और विटामिन ई  और के भी मौजूद होता है। इस कारण यह शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों की पूर्ति भी कर सकता है, जिससे शरीर को स्वस्थ बनाए रखने में मदद मिल सकती है।

 

पाचन को सुधारे

शोध में माना गया है कि एवोकाडो में मौजूद फाइबर आंतों में मौजूद अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ावा देने का काम करता है, जो पाचन में सहायक होते हैं। यही वजह है कि सीधे तौर पर एवोकाडो में मौजूद फाइबर को पाचन स्वास्थ के लिए उपयोगी माना जा सकता है

 

आंखों की रोशनी बढ़ाए

एवोकाडो ल्यूटिन और जेक्सैथिन जैसे कैरोटीनॉयड से समृद्ध होता है, जो आंखों के स्वास्थ्य को बरकरार रखने का काम कर सकते हैं। वहीं, ल्यूटिन उम्र के साथ नजर संबंधी समस्या को कम करने का भी काम कर सकता है। इस बात का साफ जिक्र एवोकाडो से संबंधित दो अलग.अलग शोध में भी किया गया है। इसके अलावा, यह फल विटामिन.ई से भी समृद्ध होता है, जो आंखों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए जरूरी तत्व है। 

 

कैंसर के जोखिम को कम करे

कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचने के लिए भी एवोकाडो का सेवन किया जा सकता है। चार अलग.अलग शोधों में इस बात को स्वीकार किया गया है। एक शोध के मुताबिक एवोकाडो में एवोकैटिन.बी नामक तत्व पाया जाता है। यह तत्व ल्यूकेमिया स्टेम कोशिकाओं से लड़ने का काम कर सकता है, जो कैंसर का कारण बन सकती हैं।

 

हड्डियों को बनाए मजबूत

हड्डियों के लिए भी एवोकाडो खाने के फायदे उपयोगी हैं। कच्चे एवोकाडो में बोरॉन नामक मिनरल पाया जाता है, जो कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ाकर हड्डियों को लाभ पहुंचा सकता है। यह खास फल विटामिन.के से भी समृद्ध होता हैए जो हड्डी के स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह पोषक तत्व ऑस्टियोप्रोटेक्टिव ;हड्डियों को मजबूत करने वाला लाभ प्रदर्शित करता है। वहीं, इसमें एंटी इंफ्लामेट्री गुण भी मौजूद होता है। इस गुण के कारण यह जोड़ो में दर्द और सूजन को भी कम करने में सहायक साबित हो सकता है।

 

गठिया की दवा है एवोकैडो

गठिया दुनिया भर के लाखों लोगों को प्रभावित करता है। एवोकैडो को गठिया का लक्षणों को कम करने के लिए पाया गया है। इसलिए गठिया से पीड़ित लोगों को इसका सेवन करना चाहिए। इसके अलावा इसमें फाइटोकेमिकल्स, फ्लेवोनोइड, कैरोटीनोइड, फिटोस्टरोल फैटी अल्कोहल और ओमेगा .3 फैटी एसिड आदि पाए जाते हैं। यह जोड़ों और मांसपेशियों की सूजन को कम करने के लिए सबसे अच्छे भोजन में से एक है।

 

एंटी एजिंग उपाय है एवोकाडो 

इसका सेवन उम्र बढ़ने के लक्षणों के साथ जुड़ा हुआ है। इसमें मौजूद यौगिक एक्सथॉफिल में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। शोध अध्ययनों से पता चलता है कि एक्सथॉफिल का सेवन आपके शरीर के विभिन्न भागों में उम्र बढ़ने की प्रक्रिया के संकेतों को कम कर सकता है। 

 

बॉडीबिल्डिंग में काफी मदद मिलती है

एवोकाडो का सेवन करने से नई कोशिकाओं के निर्माण में काफी मदद मिलती है। जब आप बॉडी बिल्डिंग के लिए एक्सरसाइज करते हैं तो कोशिकाएं टूटती हैं और इन्हीं कोशिकाओं के तेजी से पुनर्निर्माण के लिए एवोकाडो का सेवन प्रभावी रूप से कार्य कर सकता है।

 

त्वचा और बालों की देखभाल में मदद

एवोकाडो पोषक तत्वों से परिपूर्ण फल है एजो आपकी त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता हैं। इसे खाने से आपकी सुखी और क्षतिग्रस्त त्वचा में सुधार होता है। और आप यह जान कर हैरान हो जायेंगे कि एवोकाडो बहुत सारे सौंदर्य प्रसाधनों में प्रयोग किया जाता हैए क्यूंकि वह विटामिनों के साथ त्वचा को पोषण देता है और उसे चमकदार बनाये रखने में सहायता करता है। 

 

इसका कैसे करें सेवन

सलाद के संगः  

एवोकाडो सलाद के स्वाद को बढ़ा देता है। इससे आप किसी भी तरह का सलाद तैयार कर सकते हैं और इस फल को उसमें डाल सकते हैं। यह फाइबर से भरपूर होता है जो आपकी भूख को शांत करता है और आपकी कैलोरी को कम करता है।

सूप में करें इस्तेमालः

अपने भोजन में एवोकाडो को शामिल करने का एक और बढ़िया तरीका इसका सूप बनाना है। आप एवोकाडो की मदद से कई बेहतरीन सूप बनाने के तरीके खोज सकते हैं और भोजन  से पहले इसके लजीज सूप का आनंद ले सकते हैं।  

ग्रिल्ड एवोकाडोः

ग्रिल्ड एवोकाडो बारबेक्यू मीट के लिए एक बढ़िया ऑप्शन है। एवोकाडो को दो बराबर हिस्सों में काटें और उन पर कुछ बूंद नींबू का रस लगाएं और इसके बाद कटे हुए हिस्से को ग्रिल की सतह पर रखें और 3.5 मिनट तक पकाएं और इसे मीट के साथ खाएं।

 

अगर आप बहुत अधिक मात्रा में एवोकाडो का सेवन करते हैं तो यह आपकी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। आइए जानते हैं, एवोकाडो के कुछ दुष्प्रभाव 

 माइग्रेन

जी मिचलाना

 उल्टी

 प्रकाश की संवेदनशीलता यानि सनबर्न

 

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com

यह भी पढ़े

फूल गोभी के ये फायदे जानकर आप भी खाने से नहीं रोक पाएंगे खुद को

कमेंट करें