मातृत्व का दौर सिर्फ बच्चे के आने के साथ नहीं शुरू होता है बल्कि बच्चे की देखभाल, खानपान से भी इस दौर की शुरुआत होती है. देखभाल और खानपान दोनों का ही हिस्सा है बच्चे के लिए मां का दूध. इस दूध से सिर्फ बच्चे का पेट ही नहीं भरता है बल्कि ये उसकी परवरिश का ही रूप है. और इस पूरी प्रक्रिया में फीडिंग ब्रा नई मां का खूब साथ देती है.ये नई मां को दूध पिलाने से जुडी दिक्कतों से दूर रखती हैं और इनके साथ दूध पिलाना आसन भी हो जाता है. ज्यादातर छोटे बच्चे की माएं अब फीडिंग ब्रा चुनने लगी हैं. लेकिन हालत चुनाव आराम देगा नहीं बल्कि छीन लेगा. इसलिए इसको इसका चुनाव कैसे करें या इसे कैसे खरीदें जैसे सवाल मन में उठना लाजिमी है. इन सवालों के जवाब पाकर ही आप अपने लिए एक बेस्ट फीडिंग ब्रा चुन पाएंगी. आपके फीडिंग ब्रा से जुड़े सभी सवालों के जवाब ये रहे-
शॉपिंग इत्ती जल्दी?-
कई बार महिलाएं फीडिंग ब्रा की शॉपिंग डिलिवरी से पहले इसलिए खरीद लेती हैं क्योंकि बच्चा आने के बाद खरीदारी मुश्किल होगी. लेकिन ये गलत है. प्रेग्नेंसी और लैक्टैशन के समय आपके ब्रेस्ट का साइज कैसे बदलेगा, ये आप पहले से अंदाजा नहीं लगा सकती हैं. हर महिला का अनुभव इस मामले में अलग होता है. जैसे कई महिलाओं के कप साइज में 4 गुना फर्क पड़ता है तो किसी के कप साइज में अंतर पड़ता ही नहीं है. ऐसे में फीडिंग ब्रा पहले से खरीदना गलत निर्णय हो सकता है. डिलिवरी के बाद सही साइज के हिसाब से ही फीडिंग ब्रा खरीदें. 
क्या है सही समय
एक्सपर्ट कहते हैं कि फीडिंग ब्रा खरीदने के लिए साइज लेने का सही समय डिलिवरी के 3 से 4 महीने बाद आता है. पूरे दिन में सही समय की बात करें तो दोपहर का समय सही रहता है. या फीडिंग से पहले का समय जब ब्रेस्ट फुल हों. 
अगर डिलीवरी से पहले खरीदनी पड़े तो-
इसके बाद भी अगर आपको डिलीवरी के पहले फीडिंग ब्रा खरीदनी है तो प्रेगनेंसी के 8वें महीने में ऐसा किया जा सकता है. इस वक्त आपको ज्यादातर बेबी फैट मिल जाता है. बहुत से शारीरिक बदलाव भी इस वक्त तक हो चुके होते हैं. तो इस वक्त फीडिंग ब्रा का साइज लिया जाना सही रहता है. 
 बैठकर पहनना है-
जब ब्रा खरीदने की बारी आए तो आपको इसमें सॉफ्टनेस जांचना जरूरी हो जाता है. इससे आपकी त्वचा को कोई नुकसान भी नहीं होना चाहिए. इसलिए इसे लेते समय इन दो बातों को तो जांचें हीं. लेकिन इसके साथ एक काम और करना है कि ब्रा खरीदते समय हमेशा इसे बैठ कर पहनें. फिर खड़े हों और देखें ये आपको कितना सपोर्ट करती है. आगे की ओर हल्का झुक कर भी देखा जा सकता है. 
कप साइज ना हो बड़ा-
बहुत सी महिलाएं कप साइज बड़ा लेती हैं ताकि कसाव महसूस ना हो. लेकिन ये गलत है. बड़ा कप साइज लेने से वैसी ही आपको वैसे ही दिक्कत होगी जैसी छोटा खरीदने पर होती. याद रखिए फीडिंग ब्रा स्ट्रेचिंग मटेरियल की बनी होती हैं. इसके साथ आपको ज्यादा दिक्कत नहीं होती है.इसलिए ह्हमेशा शै साइज की फीडिंग ब्रा ही खरीदें.  
आपके पास भी हैं विकल्प-
जैसे प्रेगनेंसी के पहले आपके पास ढेरों तरह की ब्रा के विकल्प मौजूद होते हैं ठीक वैसे ही डिलीवरी के बाद की फीडिंग ब्रा में भी बहुत से विकल्प आपको मिल जाते हैं. फीडिंग ब्रा में आपके लिए मौजूद विकल्प हैं-
  • पम्पिंग ब्रा
  • स्ट्रेप्लेस ब्रा
  • स्पोर्ट्स ब्रा
  • ड्राप कप ब्रा
  • वायर फ्री ब्रा
  • लाइट पैडेड ब्रा
समय के हिसाब से-
आपको समय के हिसाब से ब्रा का चुनाव करना होगा. जैसे मां बनने के बाद के समय आपको ज्यादा आरामदायक ब्रा चाहिए होगी. तब आप ब्रेस्ट फीडिंग की आदि नहीं होंगी. इस वक्त आपको आसानी से खुलने वाली और कोई परेशानी न देने वाली ब्रा खरीदनी होगी. लेकिन इसके कुछ महीने बाद जब आप इसकी आदि हो जाएंगी तो आप दूसरी तरह की ब्रा भी खरीद सकती हैं. इस वक्त तक आप बच्चे के साथ बाहर भी निकलने लगेंगी तो परिस्थितियों के हिसाब से आपको अलग-अलग तरह की ब्रा खरीदनी पड़ सकती हैं. आप इस वक्त अपनी स्टाइल के हिसाब से भी ब्रा की खरीदारी कर सकती हैं. 
साइज कैसे जानें?
फीडिंग ब्रा का सही साइज खरीदने के लिए ये जाना जरूरी है कि सही साइज नापा कैसे जाए. इसके लिए आपको ब्रेस्ट के ठीक नीचे के हिस्से को नापना होगा. यहां पर टेप को कसकर नहीं रखना है बल्कि ऐसे रखना है कि आरामदायक या कहें फ्लेक्सिबल रहे. टेप को हमेशा किसी पूरी संख्या (next whole, even number) तक नापें. ये आपका बैंड साइज (band size) हो गया लेकिन अब आपको कप साइज भी नापना होगा. इसके लिए पीछे से टेप लाते हुए ब्रेस्ट के बीच तक लाएं. अब ब्रेस्ट साइज से बैंड साइज को घटा दें. इन अंतर के हिसाब से कप साइज ऐसे पता चलेगा-
  • 2 इंच का अंतर- बी कप.
  • 3 इंच का अंतर- सी कप
  • 4 इंच का अंतर- डी कप
जैसे अगर आपके ब्रेस्ट के नीचे का साइज 34 है और ब्रेस्ट का साइज 38 है तो इन दोनों को घटाने पर आएगा 4 इंच के इस अंतर के साथ अपके लिए डी कप सही रहेगा. सही ब्रा साइज हो जाएगा 34 डी. 
चौड़ी स्ट्रेप चुनें-
अपने लिए फीडिंग ब्रा चुनाव करते समय इसकी स्ट्रेप पर जरूर ध्यान दें. ये चौड़ी होनी चाहिए ताकि ब्रेस्ट के वजन को बराबर से बांटा जा सके. इससे आपको काफी आराम भी रहेगा. कभी भी अनकम्फर्ट नहीं महसूस होगा. 
एक नहीं खरीदनी हैं-
याद रखिए फीडिंग ब्रा कभी भी 1 नहीं खरीदनी है. बल्कि तीन खरीदनी हैं. फिर जिसमें आपको सबसे ज्यादा आराम लगे. उसे ही आगे पहनने के लिए खरीदें. 
नर्सिंग फ्लेप खुले हों तब-
फीडिंग ब्रा में आराम वाला फैक्टर इतना अच्छा होना चाहिए कि जब बच्चे को फीड कराने के लिए नर्सिंग फ्लैप खुले हों तब भी दिक्कत न हो. मतलब इस ब्रा का फ्लैप खुला हो तब भी ये नीचे की ओर ब्रेस्ट को सपोर्ट करती हो. 
वायर फ्री, सीम फ्री-
फीडिंग ब्रा अंडरवायर न हो तो अच्छा है. इससे मिल्क ब्लॉक हो जाता है. इस वक्त सीम फ्री ब्रा भी न चुनी जाए वही अच्छा है. रात के समय के लिए स्लीप ब्रा पहनाना आपके लिए ठीक रहेगा. इससे रात को सोते समय ब्रेस्ट पैड अपनी जगह पर भी रहते हैं. 
अगर छोटे होगा कप साइज-
फीडिंग ब्रा का साइज सही न हो तो कई दिक्कतें हो सकती हैं. कप का साइज भी सही होना चाहिए. ऐसा नहीं होगा तो क्या-क्या दिक्कतें होंगी, जान लीजिए-
  • ब्रेस्ट में सूजन
  • दूध पिलाने में कठिनाई
  • ब्रेस्ट में संक्रमण
  • पीठ में दबाव
  • ब्रेस्ट के नीचे रैशेज
जब ऑनलाइन खरीदें फीडिंग ब्रा-
जब फीडिंग ब्रा ऑनलाइन खरीदने की जरूरत पड़े तो सबसे पहले कंपनी की साइज गाइड को देखें और उसी के हिसाब से ब्रा खरीदें. और इससे भी पहले वेबसाइट की रिटर्न पॉलिसी जरूर समझ लें. ताकि गलत खरीदारी पर आपको रिटर्न की दिक्कत न हो. 
बैंड साइज छोटा, कप साइज बड़ा-
कई बार ऐसा भी होता है कि आपका बैंड साइज तो छोटा ही होता है लेकिन बच्चा आने के बाद कप साइज बड़ा हो जाता है. बहुत बड़े कप साइज जैसे जी, एच, आई आदि बड़े बैंड साइज के साथ ही मिलते हैं जैसे 40, 44,42. अब अगर बैंड साइज गलत होगा तो भी दिक्कत और कप साइज गलत हो तो भी दिक्कत. ऐसे में ऑनलाइन मिलने वाले कई स्टोर हैं जो बड़े ब्रेस्ट के हिसाब से फीडिंग ब्रा देते हैं. आपको उनकी तलाश करनी होगी. 
लीकेज प्रूफ फीडिंग ब्रा आपके लिए-
जिन महिलाओं को लैक्टेशन के समय बहुत दूध आता है. उनके लिए एक समस्या लीकेज की भी होती है. इन महिलाओं को कई बार बहुत शर्मिंदा होना पड़ता है क्योंकि ये लीकेज कहीं भी और कभी भी शुरू हो जाती है. ऐसे में बाजार में या ऑनलाइन मिलने वाली लीकेज प्रूफ फीडिंग ब्रा अच्छी रहती है. ये लीकेज होने पर दूध को सोख लेती हैं. इसमें कप नॉन पैडेड, नॉन वायर्ड होते हैं. इसमें दूसरी फीडिंग ब्रा की तरह आराम से जुड़े विकल्प भी पूरे होते हैं. इनको अपने पसंद के कलर में चुन लीजिए. 

फैशन संबंधी हमारे सुझाव आपको कैसे लगे?अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेेजें। आप फैशन संबंधी टिप्स व ट्रेंड्स भी हमें ईमेल कर सकते हैं editor@grehlakshmi.com

ये भी पढ़ें-

Celebrity Designer Lehenga –अपनी शादी में दिखना चाहती हैं क्वीन तो इन8डिजाइनर ब्राइडल लहंगे को कर सकती है ट्राई