food

viral kids: हम अक्सर सड़क किनारे लगे ठेले से खाते हैं और स्ट्रीट फूड का खूब लुत्फ उठाते हैं। कभी-कभी सड़कों पर हमें ऐसा टैलेंट और प्रतिभा देखने को मिल जाती है जो हैरान कर देती है। ऐसे ही फरीदाबाद के 13 वर्षीय और 9 वर्षीय बच्चों की वीडियो इन दिनों खूब वायरल हो रही है। वीडियो में बच्चों की खाना बनाने की स्किल्स को देखकर लोग दंग हैं।

चिल्ली पोटैटो बनाने वाला फरीदाबाद का बच्चा

पहला बच्चा फरीदाबाद का 13 वर्षीय दीपेश है जो सुबह स्कूल जाता है और शाम को खाने का ठेला लगाता है। ठेले पर दीपेश चाइनीज खाना यानी चिल्ली पोटैटो, मोमोज और स्प्रिंग रोल्स आदि बेचता है। यूट्यूबर फूडी विशाल ने इस वीडियो को अपलोड किया जिसके बाद लोग दीपेश के बारे में जान पाए। दीपेश ने बताया कि वह अपने परिवार की मदद करने के लिए यह काम कर रहा है। वह शाम को ठेला लगाता है और रात 8-9 बजे तक काम करता है। उसकी चिल्ली पोटैटो बनाने की प्रतिभा को देखकर लोग उसे छोटा शेफ कहने लगे।

वीडियो को 9.3 लाख बार देखा गया और इसपर 913 कमेंट्स हैं। एक यूजर ने कमेंट किया, “इतनी कम उम्र में घर वालों को कमा कर देना, वाकई दिल जीत लिया।’ दूसरे यूजर ने लिखा, ‘मेरे पास शब्द नहीं हैं, दुआ है कि भगवान हमेशा इसके साथ रहे।’ वहीं, कई लोगों ने ये चिंता भी जताई कि इतनी छोटी उम्र में बच्चे को घर की जिम्मेदारी संभालनी पड़ रही है जबकि यह उम्र पढ़ाई करने की है।

 परांठे ने किया वायरल

दूसरा बच्चा भी फरीदाबाद का है। इस बच्चे की परांठा सेंकने और पलटने की कलाकारी देखकर लोग चौंक गए हैं। इस वीडियो को भी यूट्यूबर फूडी विशाल द्वारा अपलोड किया है और इसे 14 लाख से ज्यादा लोग देख चुके हैं। हालांकि, यह एक शोर्ट वीडियो है इसलिए बच्चे के बैकग्राउंड या पारिवारिक स्थिति के बारे में वीडियो से कुछ पता नहीं चल पाया है।

एक यूजर ने वीडियो पर कमेंट किया, ‘क्या यह स्कूल नहीं जाता? इतनी छोटी उम्र में यह काम कर रहा है।’ वहीं दूसरे यूजर ने लिखा, ‘बाल मजदूरी को स्किल के नाम पर प्रमोट मत करो। यह हमारा काम है कि हम इस बच्चे को खाना, घर और शिक्षा दें, बजाय इसके आप इनकी प्रतिभा दिखा रहे हैं। बाल मजदूरी पर प्रतिबंध लगाओ।’ तीसरे यूजर ने कमेंट किया, ‘टैलेंट तो दिख रहा है लेकिन मजबूरी है ये।’  

Leave a comment

Cancel reply