अक्सर मौसम बदलने के साथ चेहरे पर मुहांसों की समस्या एक आम बात है। जहां कुछ लोगों को ये समस्या टी ज़ोन में होती है, तो कुछ यू जत्रोन में इस समस्या का झेलते हैं। टी ज़ोन यानि माथे, नाक, होंठों और चिन पर दानों का निकलना और यू ज़ोन यानि गालों पर पिंपल्स का आना। अगर टी ज़ोन की बात करें, तो उसमें होंठ भी आते हैं। ऐसे में होठों पर बार बार होने वाली मुहांसे हमारे लिए काफी दर्दनाक होती है। कारण कुछ खाते समय उनका छिलना यां फिर लिप लाइन से बाल रिमूव करते समय उन पिंपल्स से अक्सर ब्लड आने लगता है। जो कई बाद होठों पर निशान तक छोड़ जाते हैं। ऐसे में अगर आप भी ऐसी किसी समस्या से दो चा हो रहे हैं, तो जानिए ये कुछ घरेलू नुस्खे, जिनकी मदद से आप इन दर्दनाक दानों से निजात पा सकते हैं।

लेमन जूस

गर्मियों में पानी से लेकर स्नैक्स तक, फलों से लेकर सलाद तक हर चीज़ नींबू की महक से गुलज़ार रहती है। हांलाकि नींबू बेहद खट्टा फल है, मगर बावजूद इसके चिलचिलाती गर्मी में बच्चा हो यां फिर बुजुर्ग, नींबू से बनी चीजें हर शख्स की पहली पसंद बन जाती है। इसके अलावा विटामिन सी और डी की भरपूर मात्रा पाए जाने के कारण इसका इस्तेमाल औषधि के तौर पर भी बढ़ी मात्रा में किया जाता है। नींबू में उपयोगिता का अक्षय भंडार छिपा है। गर्मी के दस्तक देते ही कील मुहांसे चेहरे पर अपनी जगह बनाने लगते हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए रात को नींबू का रस और नारियल का तेल मिलाकर चेहरे पर मलकर कुछ देर के लिए छोड़ देना चाहिए। फिर सुबह उठते ही हल्के गर्म पानी से चेहरे को धो लें। ऐसा करने से न सिर्फ कील मुहांसों से ही निजात मिलती है, ब्ल्कि चेहरे पर पड़े दाग धब्बे और झाइयां भी समाप्त हो जाती है।

बेसिल लीवस

बेसिल लीवस यानि तुलसी के पत्ते एक ऐसा रामबाण इलाज है, जो कील मुहांसों की समस्या को आसानी से समाप्त कर सकते है। तुलसी का रस लिप लाइन पर अप्लाई करके दर्दनाक मुहासों से छुटकारा पाया जा सकता है। सबसे पहले तुलसी के पत्तों का अर्क निकाल लें और फिर उसे रूई के फाहे से पिंपल पर अप्लाई करें।

 

नीम का तेल या पत्तियां

एंटी बैक्टीरियल गुणों से परिपूण नीम के पत्तों का उपयोग मुंहासों के इलाज में काफी गुणकारी सिद्ध हो सकता है। इसके लिए आपको नीम की कुछ पत्तियां लेकर उसका रस निकाल लें और फिर उसे कोकोनट आयल के साथ मिलाकर पिंपल्स पर अप्लाई करें। ऐसा करने से आपका चेहरा मुहांसों की गिरफ्त से बाहर आ जाएगा। मगर इसे ज्यादा लगाने से दुष्परिणाम भी हो सकते हैं। इसलिए इसे लगाते वक्त इसकी मात्रा का उचित ध्यान रखें।

शहद

शहद में कई बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो मुहांसों की समस्या को दूर भगाने का एक आसान और सटीक उपाय है। अक्सर घरों में शहद आसानी से मिल जाता है। ऐसे में आपको आधा चम्मच शहद को चुटकी भर हल्दी में मिलाकर मुहांसों पर अप्लाई करना है। इसके अलावा अगर आप कहीं बाहर है, और आपके पास सिर्फ हनी ही है, तो आप इसे भी पिपंल्स पर अप्लाई कर सकती हैं। अकेला शहद भी मूहांसों की समस्या को दूर करने में सक्षम होता है। सप्ताह भर इसे इस्तेमाल करने से आप इस समस्या से बाहर आ सकते हैं।

टमाटर

टमाटर में लाइकोपीन नामक एक एंटीऑक्सिडेंट सम्मिलित होता है, जो त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों की क्षति से बचाता है। इसके अलावा, चेहरे पर रोम छिद्रों को कम करने के लिए टमाटर का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह मुँहासे और चकत्ते या मामूली जलने के निशान के इलाज में भी मदद कर सकता है। इसके अलावा त्वचा पर टमाटर के गूदे को रगड़ना त्वचा को पुनर्जीवित करने का एक आसान तरीका है। टमाटर पोषण का एक ऐसा पावरहाउस है, जिसे दैनिक आहार योजना में शामिल कर अत्यधिक स्वास्थ्य लाभों का आनंद उठाया जा सकता हैं। टमाटर में प्रचुर मात्रा में विटामिन ए, सी और के है। इसके अलावा इसमें फोलेट और पोटेशियम, नियासिन, विटामिन बी 6, मैग्नीशियम, फास्फोरस और ताँबा जैसे तत्व भी सम्मलित हैं, जो अच्छे स्वास्थ्य के निर्माण के लिए आवश्यक हैं।

 

टी ट्री ऑयल

एंटी बैक्टीरियल और एंटी इंफ्लामेटरी गुणों से परिपूण टी ट्री ऑयल को मुंहासों पर लगाने से चेहरा साफ और ग्लोइंग हो जाता है। सबसे पहले आधा चम्मच टी ट्री ऑयल को एक चम्मच एलोवेरा जेल के साथ अच्छी तरह से मिक्स कर लें। अब इसे मुहांसों पर लगाए और जेल सूखने के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें। दो से तीन बूंदें लें और आधे चम्मच एलोवेरा जेल में मिलाकर जहां पर पिंपल है वहां पर लगाएं। रोजाना इसके इस्तेमाल से पिंपल जड़ से खत्म हो जाएगा। साथ ही मुंहासों में ठंडक भी पहुंचेगी।

एलोवेरा

एलोवेरा यानि घृतकुमारी को सुपरफूड भी कहा जाता है। पिछले कुछ वर्षों में घृतकुमारी की उपयोगिता और लोकप्रियता में काफी इजाफा हुआ है। एलोवेरा का पौधा सुंदर, बेदाग और चमकदार त्वचा पाने का सबसे सरल तरीका है। आयुर्वेद ही नहीं पश्चिमी औषधि प्रणाली (एलोपैथी) एवं दवाओं की प्रत्येक पांरपरिक प्रणाली में एलोवेरा जड़ी बूटी को महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है। अगर आप पिंपल्स से परेशान हैं, तो इनको हटाने के लिए एलोवेरा जेल को चेहरे पर वक्त बेवक्त होने वाली मुहांसों पर लगाएं और इस समस्या से निजात पा सकते हैं। इगर आप लगातार इसे अप्लाई करते हैं, तो पिंपल्स अपने आप सूखने लगेंगे और फिर धीरे धीरे ठीक हो जाएंगे। एलोवेरा जेल के अलावा आप चेहरे पर ग्लो लाने के लिए एलोवेरा जूस का भी सेवन कर सकती हैं।

ब्यूटी संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही ब्यूटी से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com