हेल्दी, सिल्की और सॉफ्ट हेयर पाने की इच्छा हर महिला की होती है, लेकिन हर महिला के बाल ऐसे ही हों, यह जरूरी नहीं है। इतना ही नहीं, कई बार कुछ बाहरी कारणों के चलते बालों में रूखापन, पतलेपन की समस्या होती है। फिर चाहें वह पॉल्यूशन हो या खानपान, हेयरस्टाइलिंग प्रॉडक्ट की बात हो या फिर अत्यधिक तनाव की। किसी ना किसी कारण के चलते बालों को हर्जाना भुगतना पड़ सकता है। हालांकि, कुछ आसान टिप्स को अपनाकर आप बेहद आसानी से बालों को सिल्की व शाइनी बना सकती हैं। तो चलिए जानते हैं इन टिप्स के बारे में-

चुनें सही हेयर केयर प्रॉडक्ट

 

यह एक सबसे पहला और महत्वपूर्ण टिप है, जिस पर आपको ध्यान देना चाहिए। दरअसल, मार्केट में अलग-अलग ब्रांड के कई तरह के हेयर केयर व हेयर स्टाइलिंग प्रॉडक्ट्स अवेलेबल हैं। इसलिए आप अपने हेयर टाइप के अनुसार हेयर केयर प्रॉडक्ट चुनें। बाजार से शैंपू और कंडीशनर खरीदते समय अपने बालों के टाइप पर ध्यान दें। बालों की केयर करने वाले प्रॉडक्ट के फॉर्मूलेशन बालों के प्रकार के अनुसार तय किए गए हैं, इसलिए अगर हेयर टाइप के अनुसार हेयर केयर प्रॉडक्ट को चुना जाए, तो इससे बालों पर कोई विपरीत प्रभाव नहीं पड़ता।

बालों को रोजाना शैम्पू करने से बचें

रोजाना बालों में शैंपू करने से बालों का नेचुरल ऑयल तेल निकल जाता है। इसलिए, हर दिन शैम्पू करने से बचें। इसकी जगह, सप्ताह में दो या तीन बार शैंपू करने पर विचार करें। अगर आपके बाल ऑयली हैं तो आप ड्राई शैंपू ट्राई कर सकती हैं और बालों को मैनेज करें।

कंडीशनर को ना करें स्किप

अगर आप एक सिल्की और शाइनी हेयर की चाहत रखती हैं तो शैम्पू के बाद कंडीशनर लगाना कभी न भूलें। कुछ महिलाएं इस स्टेप को स्किप कर देती हैं, जबकि यह बालों के लिए बेहद जरूरी है। हालांकि, कंडीशनर का प्रयोग केवल बालों की लेंथ पर ही करें न कि स्कैल्प पर। कंडीशनर नमी में लॉक करने में मदद करते हैं।

हेयर मास्क का इस्तेमाल करें

 

बालों को अधिक हेल्दी व सिल्की बनाने का एक तरीका यह भी है कि आप बालों में हफ्ते में एक बार हेयर मास्क का इस्तेमाल जरूर करें। आप मार्केट में मिलने वाले हेयर मास्क के अलावा, होममेड मास्क का भी इस्तेमाल कर सकती है। आप मास्क को 1 घंटे के लिए लगा रहने दें, शैंपू से धो लें और फिर हेयर कंडीशनर लगाएं। हेयर मास्क बनाने के लिए आप एग यॉक और एवोकाडो, केले और एवोकाडो आदि का हेयर मास्क बनाकर अप्लाई कर सकती हैं।

दें हॉट ऑयल ट्रीटमेंट

यूं तो आप अपने बालों में कई बार तेल लगाती होंगी, लेकिन अगर आप ऑयलिंग का मैक्सिमम लाभ चाहती हैं तो ऐसे में हॉट ऑयल ट्रीटमेंट की मदद ले सकती हैं। इससे तेल गहराई तक जाकर बालों व स्कैल्प को अधिक पोषित करता है। इसके लिए आप नारियल का तेल, जैतून का तेल या अरंडी का तेल जैसे किसी भी तेल को गर्म करें और कुछ मिनटों के लिए अपने बालों में धीरे से मालिश करें। बालों को बांधकर शॉवर कैप से ढक लें। इसके ऊपर गर्म पानी में डूबा हुआ एक तौलिया लपेट दें। अपने बालों को इस स्थिति में 10 मिनट तक रखें और शैम्पू से धो लें और फिर अपने बालों को कंडीशन करें।

हीटिंग टूल्स का लिमिटेड इस्तेमाल

हेयर स्ट्रेटनर, हेयर ड्रायर जैसे स्टाइलिंग टूल से आपके बालों का नेचुरल ऑयल छिन जाता है और बार-बार इस्तेमाल करने पर बालों को नुकसान हो सकता है। इससे बाल रूखे व बेजान नजर आते हैं। इसलिए, ऐसे हीटिंग टूल्स से दूर रहें और कभी-कभार ही इनका इस्तेमाल करें। इसके अलावा, अपने बालों पर हीटिंग टूल्स का इस्तेमाल करने से पहले हीट-प्रोटेक्टेंट का इस्तेमाल करना ना भूलें।

इन हेयरस्टाइल्स को कहें नो

 

कुछ खास हेयर स्टाइल से बचें। कुछ हेयरस्टाइल जो आपके बालों को कसकर खींचते हैं, जैसे पोनीटेल और माथे पर टाइट हेयरबैंड का इस्तेमाल आपके बालों को नुकसान पहुंचा सकता है। अपने बालों को ढीला बांधें और कसकर नहीं। यह टाइट हेयरस्टाइल्स हेयर फॉल व बालों में रूखेपन की वजह बनते हैं।

धूप से बचाएं

शायद आपको पता ना हो, लेकिन धूप केवल आपकी स्किन को ही नहीं, बल्कि बालों को भी काफी नुकसान पहुंचाती है। इसके कारण बाल रूखे व कमजोर हो जाते हैं। इसलिए, अपने बालों को जहां तक हो सके, धूप से बचाएं। सीधे तेज धूप में जाने से बचें। अगर आप धूप में बाहर निकल भी रही हैं तो भी अपने साथ छाता रखें या फिर अपने बालों को स्कार्फ से ढक लें।

कलर ट्रीटमेंट करें कम

बालों पर रंगों का प्रयोग कम से कम करें। बालों को रंगना या पर्मिंग ट्रीटमेंट बार-बार करने से आपके बालों की बनावट खराब हो सकती है। इसलिए, उनके उपयोग को प्रतिबंधित करें और दो बालों के उपचार के बीच कम से कम 6 सप्ताह तक का इंतजार करें। अगर आपको कलर्ड हेयर रखना अच्छा लगता है तो आप आर्टिफिशियल स्ट्रैंड को बालों में अटैच कर सकती हैं। इससे आप ओकेजनली अपने लुक में बदलाव भी कर सकती हैं और इससे कलर ट्रीटमेंट के कारण आपके बालों को डैमेज भी नहीं होगा।

डाइट में करें चेंज

 

आपका आहार आपकी हेयर हेल्थ पर भी असर डालता है। इसलिए सिल्की और शाइनी हेयर पाने के लिए अपनी डाइट में चेंज करें। अगर आप नॉन-वेज हैं तो ऐसे में फैटी फिश को अपनी डाइट का हिस्सा बनाएं। इसके अलावा, आयरन युक्त खाद्य पदार्थ खाएं, जैसे चुकंदर, खजूर, बीन्स, दाल, पालक, गुड़ (चीनी को गुड़ से बदलें) खाएं। अंडे, पालक, बादाम जैसे बायोटिन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें और संतरे, आंवला, नीबू जैसे खट्टे फलों का सेवन करके अपने आहार में विटामिन सी को शामिल करें। साथ ही अंडे की जर्दी और मशरूम का भी सेवन करें।वहीं, सुबह-सुबह कुछ मिनटों के लिए सूरज की हल्की धूप भी लें, ताकि आपको पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी मिल सके। विटामिन डी शरीर में कैल्शियम में अब्जॉर्बशन में मदद करता है।

यह भी पढ़ें-समय नहीं है तो झटपट बनाएं यह 4 हेयरस्टाइल्स

हेयर केयर संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही हेयर केयर से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें –editor@grehlakshmi.com