वॉकिंग पुश अप आमतौर पर किया जाना वाला ऐसा एक्सरसाइज है जो न सिर्फ दिल से सम्बंधित आपकी सेहत का ख्याल रखता है बल्कि यह श्वसन तंत्र (सांस लेने) सम्बंधित परेशानियों के लिए बहुत ही कारगर साबित होता है। तो आइये आज वॉकिंग पुश अप से सम्बंधित कई बातों के बारे में जानते हैं जो शायद से इससे पहले हमने कभी पढ़ी हों। 
बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो रोज़ाना एक्सरसाइज करते हैं पुश अप से जुड़ी सभी बातों का बखूबी जानते हैं कि ये मांसपेशियों की मजबूती के लिए किया जाता है। आज हम आपको पुश अप से एक स्तर ऊपर के व्यायाम ‘वॉकिंग पुश अप’ के बारे में बता रहे हैं। वॉकिंग पुश अप करने से पूरे शरीर की कसरत के साथ कार्डियो एक्सरसाइज भी हो जाती है, जो शरीर के श्वसन तंत्र और दिल की सेहत के लिए लाभदायक है। 
 
वॉकिंग पुश अप करने के लिए पहले शरीर को पुश अप की अवस्था में ले जाएं। शरीर को इसी अवस्था में रोकने का व्यायाम प्लांक कहलाता है। अपने शरीर को प्लांक अवस्था में रखते समय आपके हाथ सीधे तने हुए जमीन पर रहेंगे और हथेलियां सतह पर कंधे की सीध में रहेंगी। इस अवस्था में शरीर का भार हाथ, उंगली और पैर के पंजे पर संतुलित रहेगा। खुद को कुछ सेकंड तक इसी अवस्था में रोकें।
 
सतह पर सीने को रखने की अवस्था के बाद अब अपने शरीर को दोबारा हवा में लाने का प्रयास करें। दोबारा प्लांक पोजिशन में लौटने के लिए अपनी हथेली की मदद से अपने शरीर को फर्श से ऊपर की ओर ढकेलें। ध्यान रहे कि इस दौरान शरीर का ऊपरी हिस्सा स्थिर रहे। 
 
अब प्लांक की इस स्थिति को तिरछी अवस्था में एक पैर और एक हाथ पर भार रखते हुए करने का प्रयास करें। धीरे-धीरे अपने व्यायाम में गति लाएं और जितनी बार हो सके, इसे दोहराएं।