Posted inरिलेशनशिप

आखिर क्यों बढ़ते बच्चे रिश्तेदारों से मिलने में कतराते हैं ?

एक समय था जब घर में कोई रिश्तेदार आने वाला होता था तब हमारी ख़ुशी का कोई ठिकाना ही नहीं होता था। एक दिन के लिए ही सही पढ़ाई के प्रेशर से बच जाएंगे, मम्मी हमारी दिनभर की शैतानियों की शिकायत पापा से नहीं कर पाएंगी। कुछ अच्छा गिफ्ट या फिर मिठाइयां घर पर आएंगी और भी बहुत सी चुलबुली और मासूमियत भरी बातें हमारे मन में हिलोरें खाने लगती थीं।