आजकल की बिजी लाइफस्टाइल, ख़राब खान-पान की आदतों का सेक्स लाइफ पर बहुत असर पड़ता है। देर रात तक काम करने की आदत हो या वर्क स्ट्रेस या फिर अन्य जिम्मेदारियों की मेंटल टेंशन, इन सबका सीधा असर हमारी सेक्स लाइफ पर पड़ता है। नतीजतन आजकल उन कपल्स की संख्या तेजी से बढ़ रही है जिनकी शादीशुदा लाइफ में या तो सेक्स कम या पूरी तरह खत्म हो चुका है। ऐसे में अगर आप भी अगर ऐसी स्थिति में हों या कभी फंसे तो क्या करें, यह आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से जानते हैं। 

कैसे पहचानें इसे?

पति-पत्नी के रिश्ते में कम्युनिकेशन का अहम महत्व है। खासकर तब जब यह आपकी सेक्स लाइफ से जुड़ा हो। शादी के शुरुआती दौर में तो सेक्स को लेकर आप दोनों के बीच संवाद होता था लेकिन अब इसके बारे में जिक्र ही नहीं होता तो समझ जाइए आपकी लाइफ से सेक्स गायब होने वाला है या हो चुका है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, हफ्ते में एक-दो बार या महीने में कम से कम छह बार सेक्स को शादीशुदा लाइफ के हिसाब से अच्छा माना गया है लेकिन अगर सेक्स किए महीनों बीत चुके हैं तो अब आपकी शादी सेक्स लेस मैरिज में तब्दील हो चुकी है। 

क्या हैं कारण?

1.स्ट्रेस: जब आप बहुत स्ट्रेस में होते हैं तो सेक्स ऐसी चीज है जो आपके मन में कहीं से कहीं तक नहीं होता। सिर पर कई तरह की जिम्मेदारियां, लोन, घर का खर्च, बच्चों की पढ़ाई, फीस, बॉस, नौकरी आदि के बोझ तले जब इंसान दबता है तो सेक्स बहुत पीछे छूट जाता है। स्ट्रेस से शरीर में कॉर्टिसोल हॉर्मोन बढ़ जाता है जिससे सेक्स ड्राइव में कमी आ जाती है। 

2.पार्टनर की अरुचि: कई बार रिलेशनशिप में देखा गया है कि सेक्स को लेकर दोनों पार्टनर आपसी सहमति नहीं बना पाते। किसी समय एक की रूचि रहती है तो दूसरे की नहीं। इससे पार्टनर्स के बीच इस बात को लेकर लड़ाई-झगड़े भी होते हैं। ऐसे में दोनों के बीच एक समय में रूचि पैदा होना जरुरी है। 

3.मेंटल हेल्थ का भी अहम रोल: कई बार फिजिकल हेल्थ कंडीशन के अलावा व्यक्ति की मेंटल हेल्थ कंडीशन भी सेक्स लाइफ पर बहुत असर डालती है। जैसे अगर व्यक्ति डिप्रेशन, एंजाइटी, या पहले कभी सेक्स के दौरान बुरे अनुभव से गुजरा हो तो सेक्स में रूचि कम हो जाती है। इसके अलावा कई बार किसी बीमारी से जूझने के दौरान लिए मेडिकेशन की वजह से भी सेक्स में अरुचि पैदा हो जाती है।

4.लड़ाई-झगड़े: कई बार रिलेशनशिप में दूरियां इतनी बढ़ जाती हैं कि बात-बात पर लड़ाई-झगड़े, एक-दूसरे की बातों के विरोध से वाद-विवाद की स्थिति बन जाती है । कई बार पार्टनर्स के बीच अविश्वास भी पैदा हो जाता है जैसे कि एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर्स की संभावना या शक। ऐसे में पार्टनर्स उस तरह एक दूसरे से कनेक्ट नहीं होते जैसे पहले थे और यही वजह होती है कि वो शादी में सेक्स से दूर हो जाते हैं।

कैसे बचें?

यह इतनी बड़ी समस्या नहीं जो सुलझाई ना जा सके। कई बार देखने में यह भी आता है कि पार्टनर्स को इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि उनके बीच सेक्स हो रहा है या नहीं लेकिन अगर आपको इससे फर्क पड़ता है तो दोनों बात करें, एक-दूसरे को वक्त दें, डिनर पर जाएं, लॉन्ग ड्राइव पर जाएं, वेकेशन प्लान करें एक-दूसरे के लिए अपनी भावनाएं जाहिर करने से ना हिचकिचाएं, अगर कोई विवाद है तो उसका हल ढूंढें, अपने इमोशन ना छुपाएँ। एक और बात याद रखें कि किसी भी तरह की जल्दबाजी ना करें और पार्टनर को सोचने-समझने और अपनी परेशानियों को दूर करने का पूरा मौका दें। उस पर अपनी मर्जी ना थोपें और उसकी हर छोटी-बड़ी बात को सुनें और समझें। इस बातों से आप देखेंगे लाइफ में सेक्स की एक बार फिर एंट्री हो जाएगी। अगर तब भी स्थिति में सुधार ना हो तो डॉक्टर से सलाह लेने से कतई ना हिचकिचाएं।

यह भी पढ़ें-

बिस्तर पर अपने पार्टनर से छेड़छाड़ बढ़ाए सेक्स का मजा

सेक्स के बाद अगर होती है एंजाइटी,तो अपनाये ये टिप्स