googlenews
Relationship Tips
Relationship Tips for Couples

Relationship Tips: अगर आप एक कपल हैं और आपके बीच अक्सर लड़ाई और झगड़े होते रहते हैं तो हो सकता है आपने हमेशा अपने पार्टनर को सॉरी कहने में झिझकते हुए देखा होगा। लड़ाई चाहे कितनी ही बड़ी हो जाए और आप चाहे कितने ही दिनों तक एक दूसरे से मुंह फूला कर क्यों न बैठे हों लेकिन पुरुष में आपको हमेशा एक इगो देखने को मिलेगी और आपको लगेगा कि वह बहुत घमंडी है जो आप से माफी नहीं मांग रहे हैं। कुछ पुरुष अपनी पार्टनर से केवल तब माफी मांगने में आरामदायक महसूस करते हैं जब तक वह उनके साथ बहुत अधिक गंभीर न हों। आज हम आपको कुछ वह कारण बताने वाले हैं जिनकी वजह से आपके पार्टनर आपसे माफी नहीं मांग रहे हैं।

खुद को गलत न समझ पाना:

पुरुष हमेशा यह मानते हैं कि उन्होंने कोई गलती नहीं की है तो वह माफी किस बात की मांगे। और अगर उन्होंने कोई गलती की भी होती है तो वह यह समझते हैं कि अगर वह माफी मांग लेंगे तो वह आपसे किसी तरह कम हो जायेंगे और उन्हें फिर आगे हमेशा ही आपसे बिना वजह भी मांगी मांगनी पड़ेगी। ऐसे में आपको उन्हें सुरक्षित महसूस करवाना चाहिए और पुरुषों को भी अपनी गलती के बारे में जान लेना चाहिए।

नकारात्मक स्थिति का डर:

कुछ पुरुष पार्टनर इनसिक्योरिटी के डर से माफ़ी नहीं मांगते। उन्हें लगता है कि माफ़ी मांगने से कहीं कोई नकारात्मक स्थिति न उत्पन्न हो जाए।इसी डर से वो भावनाओं की उधेड़बुन में उलझे रहते हैं और तय नहीं कर पाते कि माफ़ी मांगू या नहीं? माफ़ी मांगने के बाद शायद हालात उनके पक्ष में न रहें। इसी डर से वो ये निश्चित नहीं कर पाते कि कब और कैसे पार्टनर को सॉरी कहें। पुरुषों को इस बात का भी डर रहता है कि कहीं माफ़ी मांगने के बाद पत्नी उन्हें एक्सप्लॉइट न करे।

गले न पड़ जाए:

कुछ पुरुषों के माफ़ी न मांगने की एक वजह महिला पार्टनर का सबक सिखाने का इरादा या बहस या लड़ाई-झगड़े के मुद्दे भी हो सकते हैं।ऐसे में पार्टनर अगली बार माफ़ी मांगने से पहले सौ बार सोचता है। उसे डर रहता है कि सॉरी बोलने पर फिर कहीं कोई बहस न शुरु हो जाए.

सॉरी न बोल कर प्यार जताना:

कुछ पुरुष सॉरी कहने की बजाय माफ़ी मांगने का दूसरा तरीक़ा अख़्तियार करते हैं। जैसे- पार्टनर को फूल, ज्वेलरी, चॉकलेट या कोई और गिफ़्ट देकर अपनी माफ़ी मांगने की भावना व्यक्त करते हैं।‌इतना ही नहीं, कई बार वो पार्टनर का ज़्यादा ख़्याल रखकर भी अपनी ये भावना ज़ाहिर करते हैं। दिलचस्प बात तो ये है कि महिलाओं को भी पुरुषों का बिना बोले माफ़ी मांगने का ये अंदाज़ पसंद आता है। बिना कहे ही वो उनकी भावनाओं को समझ जाती है.

घमंडी प्रकृति होना:

अगर आपके पार्टनर ने आपकी ओर चिल्लाया भी होगा तो कई बार अपने घमंड की वजह। से भी आपसे यह कह सकते हैं कि हां मैने किया यह। तुम इसके बारे में क्या कर सकती हो। यहां से हो सकता है आपके बीच चीजें खराब होनी चालू हो जाएं और आपके पार्टनर की गैर जिम्मेदारी की वजह से आपका रिश्ता भी खराब हो सकता है इसलिए उन्हें समझने की कोशिश जरूर करें।

यह उनकी कमजोरी होती है:

कई पुरुषों की कमजोरी में सॉरी कहना भी शामिल होता है। वह पहले से ही अपना मन बना कर बैठ जाते हैं कि वह न केवल आपसे बल्कि किसी भी व्यक्ति से माफी नहीं मांग सकते हैं। ऐसे पुरुषों के साथ अगर आपका रिश्ता नया नया है केवल तो ही आपको यह समस्या झेलनी पड़ेगी नहीं तो  जैसे जैसे यह रिश्ता गंभीर होता जायेगा, उन्हें सॉरी बोलने की आदत भी पड़ ही जायेगी।

दोनों की उम्मीदों का अलग अलग होना:

हो सकता है आपके पुरुष पार्टनर समझ रहे हों कि इस बार सारी गलती आप की हो और आपको उनसे माफी मांगनी चाहिए। आपकी इमोशनल उम्मीदें अलग अलग हो सकती हैं और इसकी वजह से आप दोनों के बीच एक गलत फहमी भी उत्पन्न हो सकती है लेकिन इस बारे में आपको बात जरूर करनी चाहिए नहीं तो यह गलत फहमी एक और विकराल रूप ले सकती है।

अपने जज्बातों को बयान न कर पाने की आदत:

बहुत से पुरुषों की यह आदत होती है कि वह अपने जज्बातों को बाहर नहीं निकाल पाते हैं और किसी अन्य व्यक्ति के साथ शेयर नहीं कर पाते हैं। चाहे वह उनकी पार्टनर ही क्यों न हो। ऐसी हालत में अगर उन्हें पता भी होता है कि वह गलत हैं। वह तो भी आपसे सॉरी नहीं मांगते हैं। जबकि वह अपने आप में खुद को गिल्टी महसूस कर सकते हैं।

ईगो या अहंकार:

पुरुष अपने जिस ईगो या अहंकार की वजह से महिलाओं से माफ़ी मांगने से झिझकते हैं, उसकी एक वजह पुरुष प्रधान समाज वाली विधारधारा है। जिस वजह से उन्हें लगता है कि माफ़ी मांगना उनकी मर्यादा के ख़िलाफ़ है।हालांकि अब हालात बदलने लगे हैं। बावजूद इसके कहीं न कहीं मेल डोमिनेटिंग वाली सोच उभर ही आती है। किसी कमज़ोर से भला वो माफ़ी कैसे मांग सकते हैं.

आम तौर पर किसी भी व्यक्ति के लिए अपनी गलती मान लेना बहुत कठिन होता है चाहे वह महिला हो या पुरुष। लेकिन ऐसी स्थिति में आपको कभी भी बोलना बंद नहीं करना चाहिए नहीं तो आप दोनों की कभी बात ही नहीं हो पाएगी।

यह भी पढ़ें-दो महत्वपूर्ण बातें जो बतायेंगी कि  महिलाओं को भी पुरुषों में दिलचस्पी होती है

रिलेशनशिप सम्बन्धी यह आलेख आपको कैसा लगा ?अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही  रिलेशनशिपसे जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com