प्रश्न-मैं एक नौ साल के बच्चे की मां हूं। मेरा बेटा पांचवी कक्षा में पढ़ता है। पिछले कुछ समय से मैं काफी परेशान हूं। आजकल मेरे बच्चे का गुस्सा बहुत अधिक बढ़ने लगा है। वह हर छोटी-छोटी बात पर चिल्लाने लगता है। मुझे समझ नहीं आता कि उसे क्या हो गया है। पहले वह एक खुशमिजाज लड़का था और हमेशा ही सबसे प्यार से पेश आता था। लेकिन पिछले कुछ वक्त से वह हरवक्त चिड़चिड़ा रहता है। अब वह खेलने में भी किसी तरह की दिलचस्पी नहीं दिखाता। यहां तक कि घर से हर सदस्य को वह उल्टा जवाब देता है। मैंने उसे बहुत बार समझाने की कोशिश की, लेकिन उस पर मेरी किसी भी बात का असर नहीं हुआ। पति से मैंने अपनी परेशानी बताई तो वह कहते हैं कि सारी गलती मेरी ही है, मैंने उसे बहुत छूट दे रखी है। कभी-कभी गुस्से में वह बेटे पर हाथ भी उठा देते हैं। लेकिन इस तरह बात हाथ से निकलती जा रही है। मुझे समझ नहीं आ रहा है कि मैं क्या करूं? कृप्या मेरी मदद करें।

उत्तर-जैसा कि आपने कहा कि आपका बेटा स्वभाव से ऐसा नहीं है। पहले वह हर किसी से अच्छी तरह पेश आता था, लेकिन पिछले कुछ दिनों में उसका स्वभाव बदलने लगा है। इसका सीधा सा अर्थ यह है कि वह किसी बात को लेकर या तो परेशान है या फिर नाराज है। दरअसल, कई बार हम अनजाने में बच्चों से कुछ ऐसी बात कह देते हैं, जो हम तो कहकर भूल जाते हैं, लेकिन उसका बच्चे के मन-मस्तिष्क पर बहुत अधिक गहरा प्रभाव पड़ता है। ऐसे में बदलाव उनके बर्ताव में भी नजर आता है। वहीं कई बार बच्चे अपने स्कूल या फिर दोस्तों के बीच किसी बात को लेकर बहुत अधिक परेशान होते हैं और ऐसे में वह अक्सर चिड़चिड़े हो जाते हैं। कुछ बच्चे तो अपने माता-पिता का ध्यान अपनी ओर खींचने के लिए भी ऐसा करते हैं। भले ही पैरेंट्स उन्हें डांटे, लेकिन उन्हें लगता है कि कम से कम वे उसे रिस्पॉन्स तो कर रहे हैं। ऐसे में बच्चे बार-बार नकारात्मक व्यवहार करते हैं। इतना ही नहीं, इन दिनों कोरोना महामारी के कारण जब बच्चे लंबे समय से घर में ही कैद होकर रह गए हैं तो ऐसे में भी उनके मन में नकारात्मकता बढ़ने लगी है और बच्चां में गुस्सा, चिड़चिड़ापन, तनाव व अन्य मानसिक समस्याएं देखी जा रही हैं। अब आपके बच्चे को वास्तव में क्या समस्या है, इसके बारे में कुछ भी सटीक तौर पर नहीं कहा जा सकता। अगर आपका बच्चा आपको साफ-साफ जवाब नहीं दे रहा है तो बेहतर होगा कि आप कुछ दिन उसकी एक्टिविटीज पर बारीकी से नजर रखें। मसलन, वह किसी खास बात पर वॉयलेंट तरीके से रिएक्ट करता है क्या या फिर अगर हो सके तो उसके दोस्तों से बात करें। इससे आपको यकीनन काफी हद तक समस्या का अंदाजा हो जाएगा। अगर फिर भी आपको कुछ पता नहीं चलता या स्थिति में बदलाव नहीं होता तो ऐसे में आप बच्चे को किसी चाइल्ड साइकोलॉजिस्ट से जरूर मिलवाएं। इससे यकीनन उसकी स्थिति में काफी परिवर्तन आएगा।

प्रश्न- मैं पिछले तीन साल से एक लड़के के साथ रिलेशनशिप में हूं और मैं उससे बहुत प्यार भी करती हूं। लेकिन पिछले कुछ समय से मेरे पार्टनर का स्वभाव काफी बदल गया है और मुझे अब ऐसा लगने लगा है कि वो मेरे साथ-साथ एक दूसरी लड़की को भी डेट कर रहा है। अब वह हमेशा अपने फोन में लॉक लगाकर रखता है और उसने पासवर्ड मुझसे भी शेयर नहीं किया है। इतना ही नहीं, जब भी हम साथ होते हैं तो उसे बार-बार किसी के मैसेज आते हैं और पूछने पर वह बहाने बनाता है। ऐसे में मुझे समझ नहीं आ रहा है कि मैं सच्चाई का पता कैसे लगाउं? इस तरह मैं हर पल शक के कारण घुटती जा रही हूं। पार्टनर से भी कुछ भी पूछने में डर लगता है, कहीं उसे ऐसा ना लगे, कि मैं उस पर भरोसा नहीं करती। लेकिन बार-बार धोखे का ख्याल मेरे मन को कचोटता है। आप भी बताएं, मैं क्या करूं?

उत्तर- किसी भी रिश्ते में शक उसकी नींव को ही हिलाकर रख देता है और अगर नींव कमजोर होगी तो रिश्ता कैसे कायम रह सकता है। इसलिए, आपका शक और अधिक गहरा हो, इससे पहले ही आप अपने पार्टनर से इस संबंध में बात करें। आप उन्हें सीधे ही यह कहने के स्थान पर कि आपको उन पर शक हो रहा है, बेहतर होगा कि उन कारणों के बारे में भी बताएं, जिसके कारण यह स्थिति उत्पन्न हुई है। अगर वह आपसे प्यार करते हैं तो बिल्कुल भी नाराज नहीं होंगे, बल्कि आपकी समस्या को समझेंगे। हो सकता है कि बातचीत के जरिए ही आपकी समस्या का हल निकल जाए। लेकिन अगर आपको तब भी संतुष्टि नहीं होती तो आप एक एक्सपर्ट की मदद से अपने पार्टनर की गतिविधियों पर नजर रख सकती हैं। इससे आपको पता चल जाएगा कि आप सही हैं या गलत। अगर आप गलत होंगी तो आपका रिश्ता पहले से भी अधिक गहरा हो जाएगा और अगर वह गिल्टी साबित होते हैं तो भी आपको एक ऐसे रिश्ते से बाहर निकलने में मदद मिलेगी, जिसका वास्तव में कोई भविष्य ही नहीं है।

अगर आप भी अपने उलझे रिश्तों की गुत्थी को सुलझाना चाहते हैं या फिर रिश्तों में किसी तरह की समस्या से जूझ रहे हैं तो अपने सवाल हमें ई-मेल करें-editor@grehlakshmi.com । हम आपके सवालों के जवाब देने के साथ-साथ समस्याओं का समाधान करने का भी हरसंभव प्रयास करेंगे।