googlenews
How to increase wealth - कैसे बढ़ाएं धन-संपत्ति?

वास्तु शास्त्र तथा फेंगशुई दो ऐसी प्राचीन विधाएं है जिनके माध्यम से न केवल सुख-शान्ति को बढ़ाया जा सकता है बल्कि धन संपत्ति की प्राप्ति भी हो सकती है।

वर्तमान युग में लोग धन-संपत्ति बढ़ाने के लिए काफी प्रयत्नशील रहते हैं। इसके लिए वे नौकरी, व्यवसाय तथा अन्य कार्य करते हैं। लेकिन सभी लोगों को इसमें सफलता नहीं प्राप्त होती। इसका मुख्य कारण होता है-निवास या कार्यस्थल पर वास्तुदोष। चीनी वास्तु शास्त्र ‘फेंगशुई’ में विभिन्न शुभ प्रतीकों के स्थापन द्वारा धन-संपति बढ़ाने के अनेक उपाय बताए गए हैं। इनके प्रयोग से जहां निवास या कार्यस्थल के वास्तुदोषों का निवारण हो जाता है, वहीं दुख-दरिद्रय दूर होकर धनागमन का मार्ग प्रशस्त होता है।

● निवास या कार्यस्थल के प्रवेश द्वार के सामने अंदर की ओर ढाई-तीन फुट की ऊंचाई पर किसी मेज या स्टूल पर लाफिंग बुद्धा की मूर्ति स्थापित करने से विभिन्न प्रकार की बाधाएं दूर होकर धन-संपत्ति में वृद्धि होती है। भारी कद-काठी वाले, पेट फुलाए हुए, पीठ पर पोटली लादे तथा दोनों हाथों में कमंडल उठाये हुए लाफिंग बुद्धा को संपन्नता, सुख-समृद्धि तथा धन-ऐश्वर्य का प्रतीक माना गया है।
● निवास या कार्यस्थल के प्रवेश द्वार पर आठ नलियों वाली विंड चाइम (पवन घंटी) लटकाने से धनलाभ होने लगता है। रेशमी धागों से बंधी बांसुरी के आकार के विभिन्न पाइपों वाली विंड चाइम हवा के झोंकों से आपस में टकराती हैं और वातावरण में एक मधुर ध्वनि उत्पन्न करती है। निवास या कार्यस्थल की सुंदरता बढ़ाने वाली इस पवन घंटी के उपयोग से नकारात्मक ऊर्जा सकारात्मक ऊर्जा में बदल जाती है और वास्तुदोष का निवारण भी होता है।
● लाल फीते अथवा धागे में बंधे तीन चीनी सिक्कों को निवास और कार्यस्थल के धन स्थान या तिजोरी में रखने से आय के स्रोत बढ़ते हैं तथा सुख, सौभाग्य एवं संपन्नता की प्राप्ति होती है। गोल आकार वाले इन चीनी सिक्कों के बीच में चौकोर छेद होता है, जिनमें लाल धागे पड़े होते हैं। यदि आप चाहें तो इन्हें अपने पर्स में भी रख सकते हैं अथवा निवास या कार्यस्थल के मुख्य द्वार की अंदरूनी हैंडिल में लटका सकते हैं। ये सिक्के धन-संपत्ति तथा सुख-समृद्धि बढ़ाने के द्योतक हैं।
● तीन टांगों वाले मेंढक को निवास या कार्यस्थल के अंदर मुख्य द्वार के निकट स्थापित करने से धन तथा चल-अचल संपत्ति की प्राप्ति होती है। इस मेढक को इस तरह रखना चाहिए मानो वह घर के अंदर की ओर देख रहा हो। धन-संपत्ति बढ़ाने का प्रतीक माने जाने वाले इस मेंढक के मुंह में एक या तीन सुनहरे सिक्के होते हैं तथा पैरों के नीचे सिक्कों का बिस्तर होता है। इस मेंढक को आप ड्राइंग रूम या अपने कार्यस्थल के कक्ष में भी रख सकते हैं।
● घर या ऑफिस के मुख्य दरवाजे के निकट नकली सोने के सिक्कों से भरा जहाज रखने से संचित धन तथा प्राप्त धन की सुरक्षा होती है। लेकिन ध्यान रहे, यह जहाज अंदर की ओर आता हुआ प्रतीत हो, जहाज कभी सिक्कों से खाली न हो तथा ‘आई लेवलÓ पर हो। इस जहाज को धन-प्रदायक, सुख-समृद्धि बढ़ाने वाला तथा व्यापार में उत्पन्न रुकावटों को दूर करने वाला कहा गया है। इसकी स्थापना से व्यवसाय आदि में सफलता भी मिलती है।
● धन-संपत्ति, सुख-सौभाग्य तथा ऐश्वर्य बढ़ाने के लिए निवास या कार्यस्थल के किसी स्वच्छ स्थान पर चीनी देवताओं-फुक, लुक और साउ की मूर्तियां रखें। सुख-समृद्धि के देवता फुक को बीच में रखा जाता है जबकि उच्च श्रेणी एवं प्रभुत्व के देवता लुक बाईं तरफ तथा दीर्घायु के देवता साउ को दाईं तरफ स्थान दिया जाता है। इन तीनों मूर्तियों को एक साथ स्थापित करने से सुख-सौभाग्य, समृद्धि, दीर्घायु, प्रभुत्व एवं अच्छे स्वास्थ की प्राप्ति होती है।
● जैम ट्री को घर या ऑफिस के किसी भी कक्ष में रखा जा सकता है। इसे धन-संपत्ति बढ़ाने वाला तथा व्यवसाय को चमकाने वाला माना गया है। जैम ट्री रोज क्वाट्ïर्ज, ऐमेथीस्ट तथा मोती का मिलता है। इसेरंग-बिरंगे पत्थर नवरत्नों का आभास कराते हैं।
● धन-संपदा एवं सुख-शांति पाने के लिए घर के दरवाजे पर स्वास्तिक, ऊं और त्रिशूल का प्रयोग एक साथ करें। यदि आप चाहें तो इन्हें स्टीकर के रूप में अपने पास में रख सकते हैं। ये मांगलिक प्रतीक चिह्नï सुरक्षा, सौभाग्य तथा धन-प्रदायक माने जाते हैं।
● अपने घर या ऑफिस के दक्षिण-पूर्व दिशा में हरियाली से परिपूर्ण जंगल का चित्र लगाने से भी धन-संपन्नता में वृद्धि होती है।
● पश्चिम, उत्तर-पश्चिम अथवा उत्तर दिशा में स्थित द्वार पर घोड़े की नाल लगाने से धन, सौभाग्य, ऐश्वर्य तथा सुख-शांति का आगमन होता है। इस नाल को इस प्रकार लगाएं कि उसके दोनों सिरे नीचे की ओर हों।

Leave a comment