googlenews
उपाय

 

आज प्रत्येक व्यक्ति किसी न किसी समस्या से ग्रसित है तथा वो समस्याएं व्यक्तियों में तनाव का कारण तो बनती ही हैं, साथ ही इसका प्रतिकूल प्रभाव उसके प्रतिदिन के कार्यों पर भी पड़ता है, लेकिन कई बार ऐसा होता है कि हमारे जीवन की विभिन्न समस्याओं का कारण वास्तुदोष भी होते हैं। लेकिन हम कई छोटी-छोटी बातों का ध्यान रख के इन समस्याओं से बच सकते हैं-

 

1. घर के उत्तर, पूर्व या ईशान दिशा में स्टोर रूम होना या भारी सामान (अलमारी, ट्रंक आदि) रखना वास्तु की दृष्टि से अच्छा नहीं होता है।

2. घर के मुख द्वार पर शुभ चिन्हों जैसे-ओउम्, स्वास्तिक, गणेश जी आदि लगाना शुभ होता है।

3. घर में सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह के लिए घर के उत्तर-पूर्व में तुलसी का पौधा लगाना अतिशुभ होता है।

4. आप इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि घर में कोई भी ऐसा पौधा न लगाएं जो कांटेदार हो या उनको तोड़ने पर दूध निकलता हो तो, यह कलह का कारण बनता है।

5. भोजन करते वक्त या पढ़ते समय ध्यान रखें कि आपका मुख उत्तर या पूर्व दिशा की ओर हो।

6. यदि घर के फर्श में दरार या घर में किसी भी प्रकार की सीलन हो तो उसे तुरंत ठीक कराएं, क्योंकि यह बीमारी का वाहक है।

7. यदि घर के नल से बंद करने के बाद भी पानी टपकता रहता है तो फौरन उसे ठीक कराएं, क्योकि यह अनावश्यक खर्च का कारण बनता है।

8. पूर्व तथा दक्षिण दिशा में भूमिगत पानी की टंकी दुर्घटनाओं, आर्थिक समस्याओं तथा तनाव का कारण बनती है।

9. ईशान कोण में गणेश जी की मूर्ति या चित्र लगाना घर की सुख शांति के लिए उत्तम होता है।

10. घर के प्रवेश द्वार पर सजावट के लिए यदि गमले लगा रहे हैं तो हरे रंग के गमलों का प्रयोग करें तथा लाल रंग के गमलों के प्रयोग से बचें, क्योंकि ये सकारत्मक ऊर्जा के प्रवेश में अवरोध उत्पन्न करते हैं।

11. घर में कभी भी मकड़ी के जाले न रहने दें, क्योंकि मकड़ी के जालों से घर में नकारात्मक ऊर्जा एकत्रित हो जाती है जो घर में बिमारियों, कलह तथा अन्य समस्याओं का कारण बनती है।

12. घर की खिड़कियां हमेशा अंदर की ओर खुलनी चाहिए तथा खिड़कियों की संख्या उत्तर दिशा में अधिक होने पर घर में सदैव लक्ष्मी कुबेर की कृपा बनी रहती है।

 

ये भी पढ़ें- 

कबीर के ये 10 दोहे करते हैं जिंदगी की कड़वी सच्चाई को बयां

सफलता का मंत्र: दान करें, खुशहाल रहें

घर में सुख-शांति चाहिए तो भूल कर भी न करें ये काम

हर किसी को पढ़ने चाहिए ‘गाय’ से जुड़े ये तथ्य

 

आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।