लॉक डाउन का समय है अपने घर के बड़ों से और बुजुर्गों से संबंधों को सुधारने का ।भागती दौड़ती लाइफ में परिवार के अन्य सदस्यों के लिए आपके पास समय नहीं बचता था। लेकिन यह गोल्डन पीरियड है कि आप थोड़ा सा वक्त अपने घर के बुजुर्गों के लिए निकलें। उन बातों का ध्यान रखें जो हमें  अपने परिवार के साथ रिश्ते बेहतर तरीके से निभाने में मदद कर सकें । इसलिए मजबूत रिश्ते बनाए रखने के लिए इस अभूतपूर्व समय के दौरान झड़पों और निराशाओं से बचने की कोशिश करें।

रोज़ की भागती दौड़ती ज़िंदगी में अक्सर हम सभी सोचा करते थे कि कभी तो ऐसा समय आएगा जब चैन से अपने परिवार के साथ बैठने का मौका मिलेगा। कोरोना संक्रमण के चलते देशभर में लागू लॉकडाउन ने हमें ऐसा ही एक मौक़ा दिया है। यह समय एक अवसर लेकर आया है, जहां हम घर के बड़े बुजुर्गों के साथ बेहतर समय व्यतीत कर एक यादगार समय बिता सकते हैं। इस आर्टिकल के माध्यम से आइए जानते हैं कि कैसे लॉकडाउन में संवारें बड़े बुजुर्गों से संबंध।