googlenews
नकली मावा और पनीर का पता लगाएं: Artificial Dairy Products
Identification of Dairy Product


Artificial Dairy Products: त्योहारों का मौसम आरंभ होते ही बाजारों में मिठाइयां बिकने लगती है। रिश्तेदार हो या दोस्त सभी के घर जाने के लिए मिठाई तैयार रखते हैं। लेकिन मिठाई में जो मावा और पनीर इस्तेमाल किया जाता है उनमें पैसा कमाने के लिए बेहिसाब मिलावट की जाती है। जो लोगों की सेहत से खिलवाड़ है और यदि आप भी घर में मिठाई बनाने के लिए मावा या पनीर खरीद रहीं हैं तो उसकी नकली और असली की आपको पहचान होनी चाहिए आईए जानिए इनकी पहचान का तरीका –

नकली मावा बनाने का तरीके जो सेहत की दृष्टि से बेहद खतरनाक

सबसे पहले मावा बनाने के लिए सबसे घटिया किस्म के मिल्क पाउडर का इस्तेमाल किया जाता है। साथ ही इसमें टेलकम पाउडर, चूना, चॉक और सफेद केमिकल्स जैसी चीजों की मिलावट भी होती है। नकली मावा के लिए दूध में यूरिया, डिटर्जेंट पाउडर और घटिया क्वालिटी का वनस्पति घी मिलाया जाता है। सिंथेटिक दूध बनाने के लिए मामूली वॉशिंग पाउडर, रिफाइंड तेल, पानी और शुद्ध दूध को आपस में मिलाया जाता है। इस तरह एक लीटर दूध से 20 लीटर सिंथेटिक दूध तैयार करते हैं। इस दूध से मावा तैयार होता है। कुछ लोग मावा में शकरकंद, सिंघाड़े का आटा, मैदा या आलू भी मिलाते हैं। मावे का वजन बढ़ाने के लिए आलू और स्टार्च मिलाया जाता है।

खोया असली है या नकली जानने के टिप्स

Artificial Dairy Products
If the khoya is real then it will look very soft. On the contrary, the fake khoya will crumble
  • खोया असली है तो वह एकदम मुलायम दिखेेगा। इसके विपरीत नकली खोया दरदरा होगा।
  • अगर आपको हाथ के साथ मावा की जांच करनी है तो मावे के मिश्रण की लोइयां बनाएं और अगर ये लोइयां फटने लगे तो ये मावा नकली है।
  • अगर मावा खाने पर मुंह में चिपके तो इसका मतलब आपका मावा नकली है। असली मावा सूंघने में ही पता चल जाता है क्योंकि इसकी बहुत तेज खुशबू होती है।
  • मावे को खाकर भी असली-नकली की पहचान हो सकती है। अगर यह खाने में कच्चे दूध का टेस्ट दें तो आपका मावा असली है।
  • खोए में चीनी मिलाकर उसे हल्का गर्म करें। अगर खोया पानी छोड़ने लगे तो इसका मतलब आपका मावा नकली है।
  • अगर मावा हाथ लगाने पर चिपचिपा करें तो समझ जाए कि खोया खराब है। जबकि असली खोया हमेशा सूखा होता है।
  • इसके अलावा खोए को पानी में डालकर फेंटे। अगर खोया नकली है तो वह पानी में दानेदार रूप में फैल जाएगा। इसके विपरीत असली खोया पानी में मिक्स हो जाएगा।

पनीर असली या नकली जानने के टिप्स-

Artificial Dairy Products
Tips to know whether paneer is real or fake
  • यदि आपको पनीर का असली या नकली का पता लगाना है तो जब पनीर खरीदने जाएं तो सबसे पहले दुकानदार से थोड़ा पनीर लेकर उसे मसल कर देखें। ऐसा करने पर अगर पनीर का टुकड़ा टूट कर बिखर जाए तो इसका सीधा मतलब है कि वो पनीर नकली है।
  • पनीर को जांचने का एक और तरीका है सबसे पहले पनीर को गर्म पानी में उबाले फिर कुछ देर बाद उसमें आयोडीन टिंचर की कुछ बूंदे डाले अगर पनीर का कलर नीला पड़ जाए तो समझ लीजिएगा कि पनीर नकली है। नकली पनीर खींचने पर रबड़ की तरह खिंचता है।
  • नकली पनीर की पहचान करने का तीसरा तरीका है इसकी सॉफ्टनेस की जांच। अगर पनीर असली होगा तो वो मुलायम होगा। अगर कहीं वो पनीर ठोस यानी टाईट है तो आपको सावधान होने की जरूरत है।
  • सोयाबीन या अरहर की दाल का पानी पनीर के ऊपर डालने पर अगर पनीर का रंग लाल पड़ जाये तो पनीर नकली है। लाल रंग पड़ने पर संभावना है कि उसमें यूरिया या डिटर्जेंट की मिलावट है।

Leave a comment