googlenews
Sobhita Dhulipala
Sobhita Dhulipala in Jaipur for Major Promotion

web series made in haven se apni pehchan banane wali shobhita dhulipala movie Major me dikhengi

Major Sandeep unnikrishnan ki life par bani film Major

26/11के हमले में शहीद हुए मेजर कमांडो संदीप उन्नी कृष्णन की जिंदगी पर बनी फिल्म मेजर में शोभिता एक होस्टेस के किरदार में नज़र आएंगी। ये फ़िल्म 3 जून को सिनेमा घरों में पहुंचेगी।
इस मौके पर शोभिता ने गृहलक्ष्मी के साथ अपने अनुभवों को साझा किया। इंटरव्यू के दौरान शोभिता ने फिल्म मेजर से जुड़ी बातें शेयर की।

फिल्म के बारे में बताएं,अपने किरदार के बारे में बताएं? फिल्म के लिए आपको किस तरह की तैयारी करनी पड़ी?

Sobhita Dhulipala
Major

फिल्म मेजर मुख्य रूप से 26/11 के हमले में शहीद मेजर कमांडो संदीप उन्नी कृष्णन की जिंदगी पर बनी फिल्म है। उनकी जिंदगी के 31 साल के सफ़र को, उनके बचपन को, उनके पारिवारिक जीवन औऱ हमले के दौरान 36 घण्टों के स्ट्रगल, उनकी जिन्दगी की फाइट को फ़िल्म के जरिये पर्दे पर दिखाने की कोशिश की गई है। इस फ़िल्म में मैं प्रोबिता का किरदार निभा रही हूं जो कि एक रीयल कैरेक्टर पर बेस्ड है। एक हॉस्टेस की भूमिका निभा रही हूं जो कि उस दौरान 26/11 के हमले में एक हॉस्टेस थी।

इस फिल्म के किरदार के लिए मैंने कोई वर्कशॉप नहीं ली।चुंकि ये एक रीयल पर्सन पर बेस्ड मूवी है इस लिए हमनें रीयल कैरेक्टर्स के साथ मुलाकात की।उनके इमोशंस को समझी।एक फ़िक्शन बेस्ड मूवी मे आप कई इम्प्रोवाइजेशन कर सकते हैं, इंटरपटेशन कर सकते हैं लेकिन बात जब रियलिस्टिक रोल की हो तो आपको उस इमोशन को करीब से समझना पड़ता है। ऐसे में मुझपर एक जिम्मेदारी थी की मैं प्रोबिता के किरदार को पूरी सच्चाई और ईमानदारी से निभा सकूं।

आपके लिए फैशन क्या है?

जो आपको अच्छा लगता हो वही फैशन है। फिर भले वो ट्रेंड में न हो। मेरे लिए फैशन ट्रेंड नहीं है। मुझे लगता है फैशन और ब्युटी दोनों ही आपकी पर्सनैलिटी को रिफ्लेक्ट करती है। आप क्या पहनतीं हैं उससे ज्यादा इस बात पे डिपेंड करता है कि आप बात कैसे करती हैं? ट्रेंड को फॉलो करना ही फ़ैशन नहीं है,आपको हमेशा वो पहनना चाहिये जो आपको सूट करे।जो आपको कंफर्ट दे। जिसमें आप स्टाइलिश लगें। मेरा मानना है कि हर कोई अलग दिखता है। हर किसी की अलग स्टाइल होती है।

आप बॉलीवुड में किस अभिनेत्री के फैशन से इंस्पार्ड होती हैं?

मैं सच कहूं तो मुझे हिस्टोरिकल कैरेक्टर काफी पसंद है। उनकी लाइफ उनकी जर्नी ,उनका स्टाइल काफी पसंद आता है। मैं जयपुर की पूर्व राज माता गायत्री देवी से काफी इंस्पार्ड होती हूं। वो जितनी एलिगेंट थीं,उनका स्टाइल ,उनका पहनावा मुझे काफी प्रभावित करता है।

आपको मेकअप में सबसे ज्यादा क्या पसंद है?

Sobhita Dhulipala
Sobhita in Jaipur

मुझे मेकअप में सबसे ज्यादा आई मेकअप पसंद है। इस लिए मैं काजल लगाना काफी पसंद करती हूं। ब्युटी से कहीं ज्यादा मेरे लिए काजल लगाना एक आदत है।ये आदत बचपन से ही हैं।सुबह उठते ही जब आंखों को देखती हूँ तो अपनी आंखों में काजल देखना एक आदत सी बानी हुई है जिसके बिना मुझे अधूरा अधूरा सा लगता है।

आपके वॉर्डरोब में सबसे ज़्यादा क्या मिलेगा?

मेरे वॉर्डरोब में सबसे ज्यादा आपको साड़ियां देखने को मिलेंगी।मुझे साड़ियों का बहुत शौक है। इस लिए मैंने अपनी मम्मी की कई साडियां अपने वॉर्डरोब में रख ली हैं। मुझे वाइट् साड़ी काफी पसंद है। इसके अलावा वेस्टर्न ऑउटफिट के अलावा मुझे क्लासिक कपड़े बहुत पसंद हैं ।जिसमें मुख्य रूप से सलवार सूट शामिल है। मुझे हील्स पहनना पसंद है।

आपका फिटनेस मन्त्र क्या है?

मैं जेनिटक रूप से लकी हूं। क्योंकि मैं खाना बहुत ही उल्टा सीधा खाती हूं। फिर भी मेरी बॉडी फिट है। स्लिम है। लेकिन फिर भी मैं योगा करती हूं।अपनी बॉडी को फिट रखना बहुत जरूरी है। इसके लिए आप क्या खा रहे हैं इसपे धयान रखना जरुरी होता है। फ़िटनेस का ध्यान रखना काफी जरूरी है।मैं क्लासिकल डांस करती हूं। इस लिए भी मैं काफी फिट रहती हूं।

आपके पर्स में वो पांच चीजें कौन सी हैं जो हमेशा आपके साथ रहती हैं।

Sobhita Dhulipala
Lifestyle of Sobhita

मेरे पर्स से सबसे पहले आपको ईयर फ़ोन मिलेगा।जिसके बिना मेरा काम बिल्कुल भी नहीं चलता है। इसके अलावा पर्स में कुछ खाने का सामान,स्नैक्स, चॉकलेट,लिपबाम,पेपर,बुक और पेन मिलेंगे। मुझे राइटिंग का काफी शौक है। ऐसे में जब भी कुछ विचार मेरे मन में आती है तो मैं उसे डायरी में नोट करती हूं।मुझे रिडिंग काफी पसंद है। खाली समय में मैं अच्छी किताबें पढ़ा करती हूं।

फिल्मों में आना कैसे हुआ? गृहलक्ष्मियों को आप क्या संदेश देना चाहेंगी? गृहलक्ष्मी जो घरों को संभालती है उनसे क्या कहना चाहेंगी?

मैं स्टूडेंट लाइफ के दौरान कभी फिल्मों में काम करने के बारे में नहीं सोचा करती थी।मैं फिल्में भी बहुत कम ही देखा करती थी। मैं स्टूडेंट लॉइफ में एक पढ़ाकू बच्ची थी। मेरे घर का माहौल भी कुछ ऐसा जी था।मम्मी प्रिंसिपल और पापा मर्चेंट नेवी में सेलर थे।दोनो अब रिटायर्ड हो चुके।मेरी बहन डॉक्टर है। मस्ती मस्ती में मैंने मिस इंडिया में भाग ले लिया। 2013 मिस इंडिया अर्थ का ख़िताब जीत गई। वहां से मॉडलिंग की शुरुआत हुई। उस दौरान मुझे ऐहसास हुआ की मुझे एक्टिंग में काफी रुचि है और ये काफी पसंद है।मैंने जब इंडस्ट्री में कदम रखा तो मेरे माता पिता ने एक ही बात बोली कि तुम्हें जो भी अच्छा लगे वही करो।बस जो भी करो शिद्दत के साथ करो।बचपन से पेरेंट्स काफी सख्त थे। घर में हमेशा यही बातें होती थी कि खुद को बेहतर कैसे बनाएं?
गृहलक्ष्मियों को लोग कम आंकते है,लेकिन मेरी नजर में एक गृह लक्ष्मी की वैल्यू बाहर काम करने वाले से कहीं ज्यादा है। क्योंकि एक हॉउस अगर होम बनता है तो सिर्फ एक गृहलक्ष्मी की वजह से।एक गृहलक्ष्मी ही अपने त्याग ,मेहनत से एक घर बनाती है। वो बाहर काम करने वालों से कहीं ज्यादा दलायु होती हैं।उनकी इज्ज़त हर किसी को करना चाहिए।

शोभिता की फ़िल्म मेज़र हिंदी के अलावा तेलगु भाषा मे भी बन चुकी है। रीजनल और बॉलीवुड में फर्क में पूछे जाने पर शोभिता ने कहा कि दोनों ही इंडस्ट्री में बहुत ज्यादा फर्क नहीं है।बस थोड़ा सा दोनों का काम करने का तरीका अलग है। वो कहती हैं कि मेरे लिए एक्टिंग सिर्फ एक्टिंग है,चाहे वो किसी भी भाषा में हो या वेब सीरीज़ हो या फ़िल्म हो ।
शोभिता नेसाउथ की फिल्मों के साथ हॉलीवुड फिल्म मंकी मैन में भी काम किया है।इसके अलावा उनकी आने वाली फिल्मों ने साउथ की फ़िल्म है जिसमें उनके साथ ऐश्वर्या रॉय बच्चन भी हैं। फ़िल्म को मणि रत्नम बना रहे हैं।
शोभिता धूलिपाला कहती है कि उन्होंने कई प्रोजेक्ट पर काम किया है ,लेकिन लॉक डाउन की वज़ह से वो फिल्में अभी तक लोगों के सामने नहीं आ पाई हैं।

Leave a comment