कोरोना के बाद से ही लोगों को वर्चुल प्लेटफ़ॉर्म में रहने की आदत सी पड़ गयी है। जिसके जरिये ना लोग सिर्फ अपना काम कर रहे हैं, दूर रहकर अपनों से मिल रहे है, वहीं दूसरी तरफ बात वर्चुअल स्पीड डेटिंग की करें तो इसमें दोस्तों, सहकर्मियों, सहपाठियों से ऑनलाइन कांटेक्ट करने का सबसे शानदार तरीका है।  सिर्फ 5 मिनट से कम समय में एक वर्चुअल स्पीड डेटिंग इवेंट बनाने के लिए आप ज़ूम का इस्तेमाल कर सकते हैं। जो वीडियो कॉल के लिए के मंच के तौर पर बनाया गया है। लेकिन यदि हम कहें कि इन जूम मीटिंग को करने से पहले कुछ सावधानियां भी जरूरी है।

आज हम इस लेख के माध्यम से आपको इसके दोनों पहलुओं से रूबरू कराएंगे पहले जाने वर्चुअल मीटिंग के लिए रूम की तैयारी और उसके बाद जाने सावधानियां।

1. कैसे करें इस्तेमाल– स्पीड डेटिंग के लिए ज़ूम आजकल सबसे ज्यादा पसंद किये जाने वाला वर्चुल एप है। जिसकी मदद से आप किसी से भी आसानी से जुड़ सकते हैं। आप मीटिंग से लेकर कई बड़े इवेंट्स तक में शामिल हो सकते हैं। आप इसमें मैन्युअल रूप से कई जूम ब्रेकआउट रूम बनाने और उन्हें लगातार घुमाने के बजाय  आप जूम चैट के माध्यम से एक नये रूम में शामिल होने के लिए एक लिंक भेज सकते हैं। जिसके बाद सामने वाले के एक्सेप्ट करने के बाद आप वीडियो कॉल में शामिल हो सकते हैं। जूम और ग्लोब का उपयोग करके स्पीड-डेटिंग ईवेंट सेट करने के तरीके के बारे में कई बाते बताई गयी हैं।

2. कैसे बनाएं रूम– आपको इसके लिए वेबसाइट पर जाने के बाद आप मुख्य रूप से वीडियो कालिंग करने की शुरुवात करते हैं। इसके लिए आपको लॉग इन भी करना होता है। लॉग इन करने के लिए आप इसे अपने रजिस्टर फोन नम्बर, जीमेल या फेसबुक में अकाउंट में जाना होगा और अपनी प्रोफाइल को लिंक करना होगा। एक बार प्रोफिल कम्प्लीट होने के बाद आप वीडियो कालिंग के लिए रूम बना सकते हैं।

क्या आप वर्चुअल मीटिंग के लिए तैयार हैं जानिए कुछ जरूरी बातें

3. इवेंट के लिए चुने सेटिंग– अगर आप वीडियो कालिंग क्र लियर रूम बना रहे हैं तो उससे पहले आप सेटिंग को चुनें और उसे ठीक कर लें। अब इसे शुरू करने के लिए आप  रूम के नाम को उठाकर उस इवेंट के नाम से जोड़कर ब्रांड कर सकते हैं। इसके बाद आप उसमें उपस्थित कई विकल्पों में से कसी का चुनाव करके अनुकूलित कर सकते हैं। और ये भी चेक कर सकते हैं कि, हर जोड़े का मैच कितनी देर के लिए किया जाता है। आपको इसके लिए ये जानने की जरूरत है कि मैच एक्सटेंशन की संख्या और उसमें ऐड हुए लोगों की संख्या बराबर हो। आप इसमें कोई पर्सनली एक्सटेंशन भी जोड़ सकते हैं। 

4. बनाएं ज़ूम मीटिंग– ज़ूम में मीटिंग का ऑप्शन भी आपको मिलेगा। इसके लिए आपको इसमें जाने के लिए मीटिंग रूम को खोलना होगा। और उस रूम का लिंक उसे भेजना होगा जिसे आप मीटिंग में शामिल करना चाहते हैं। ज़ूम मीटिंग में सभी को एक साथ लाने के लिए आपको इससे जुडी पूरी समरी के बारे में जानना होगा। और दूसरों को भी बताना होगा। साथ ही आप कैसे स्पीड डेटिंग इवेंट चलेगा। जैसा की हम पहले ही बता चुके हैं कि आपको इसके लिए लिंक और रूम दोनों ही ज्वाइन करना और करवाना पड़ेगा।

देखा जाए तो स्पीड वर्चुल डेटिंग का मतलब ही है कि आप वर्चुअल तौर पर बिना किसी से मिले कहीं से भी किसी मीटिंग, इवेंट्स, क्लास, वीडियो कालिंग का मजा ले सकते हैं। अगर आपको इसका इस्तेमाल नहीं आया या आप नये हैं तो आपके लिए ये लेख बहुत काम आने वाला है, जो आपका काम आसान कर देगा।

ज़ूम में ऑनलाइन क्लासरूम को कंट्रोल करने, दिक्कतों को  रोकने और शिक्षकों को प्रभावी ढंग से दूरस्थ रूप से सिखाने में मदद करने के लिए डिज़ाइन की गई है। जिसमें कई सुरक्षा विशेषताओं को भी ध्यान में रखा गया है। ज़ूम का उपयोग करके आप अपने वर्चुअल क्लासरूम को सुरक्षित कर सकते है। जिसमें आप अपने हिसाब से कई बदलाव भी कर सकते हैं। और कई तरह के विकल्पों को सीखकर आप अपने ज़ूम क्लासरूम को बेहतर सिक्योर कर सकते हैं। ये सब करना आसान है। इसके लिए कई सेटिंग्स होती हैं। जिसका इस्तेमाल करना होता है। आप भी अपना ज़ूम क्लासरूम सिक्योर कर सकते हैं।

1. क्लास लॉक ऑप्शन- क्या आपको बता है कि ज़ूम में आप अपने क्लासरूम को लॉक भी कर सकते हैं। जब सब शामिल हो जाएं तो आप उसे दोबारा ज्वाइन कर सकते हैं। इसके लिए ज़ूम विंडो के नीचे सेव बटन पर क्लिक करें और पॉप-अप में लॉक मीटिंग के बटन पर क्लिक करें।

2. स्क्रीन करें कंट्रोल– क्लासरूम में ज्वाइन बच्चों को सब आपकी ओर से सब कुछ दिखाई दे ऐसा जरूरी नहीं है। इसे आप कंट्रोल कर सकते हैं। ज़ूम के अपडेट वर्जन में डिफ़ॉल्ट स्क्रीन-शेयरिंग सेटिंग्स का ऑप्शन है।

3. वेटिंग रूम– ज़ूम में वेटिंग रूम का ऑप्शन आपके वर्चुअल क्लासरूम की सुरक्षा करने और उन लोगों को बाहर रखने के लिए यूज़ किया जा सकता है, जिन्हें आप वहां नहीं रखना चाहते। 

4. बंद करें चैट– टीचर चाहे तो इन-क्लास चैट करने के ऑप्शन को बंद भी कर सकते हैं। ताकि बच्चे पर्सनली भी एक दूसरे से चैट ना कर पाएं। इस ऑप्शन से बच्चे सिर्फ टीचर से जरूरत पड़ने पर ही बातचीत कर सकते हैं।

5. प्रतिभागी को निकाल सकते हैं– जी हां आप ज़ूम क्लासरूम के बीच से ऐसे इंसान को बाहर भी निकला सकते हैं। इसके लिए आपको एग्जिट पार्टिसिपेंट का ऑप्शन दिखेगा। जिसे क्लिक कर आप उन्हें क्लास से निकाल सकते हैं। और उन्हें वापस ज्वाइन करने की अनुमति नहीं होगी।

6. रिपोर्ट का ऑप्शन आएगा काम– टीचर जूम के ट्रस्ट एंड सेफ्टी टीम को रिपोर्ट कर सकते हैं जो प्लेटफ़ॉर्म के किसी भी संभावित दुरुपयोग की समीक्षा करेंगे और उचित कार्रवाई करेंगे। 

7. अनुचित गतिविधि करने वाले को हटाएं– अगर आपकी क्लास किसी की एक्टिविटी से बाधित हो रही है तो, सेव आइकन में क्लिक कर सभी वीडियो, ऑडियो, इन-मीटिंग चैट, एनोटेशन, स्क्रीन शेयरिंग और रिकॉर्डिंग को अस्थायी रूप से रोकने के लिए “सस्पेंडेड प्रतिभागी गतिविधियाँ” चुनें और ब्रेकआउट रूम को खत्म करें। 

8. क्लास का पास-कोड करें सेव– आप ज़ूम में ही स्कूल ई-मेल के जरिये अपने स्टूडेंट्स के साथ एक पासकोड बनाएं और शेयर करें ताकि जो लोग जुड़ना चाहते हैं वे एक जुड़ सकें।

9. रैंडम मीटिंग आईडी का करें यूज– अपनी क्लास के लिए रैंडम मीटिंग आईडी बनाना सबसे अच्छा है। इसलिए इसे कई बार शेयर नहीं किया जा सकता है। यह आपकी पर्सनल मीटिंग आईडी का उपयोग करने का बेहतर विकल्प है। 

10. केवल प्रमाणित उपयोगकर्ताओं को ही शामिल होने की अनुमति दें: इस बॉक्स को जाँचने का मतलब है कि आपके स्कूल के केवल वे सदस्य जो किसी स्वीकृत ईमेल पते के साथ अपने ज़ूम खाते में साइन इन हैं, इस विशेष वर्ग तक पहुँच प्राप्त कर सकते हैं।

11. वीडियो कर सकते हैं बंद– कक्षा के दौरान अगर कोई भी इशारे या अप्रिय काम कर रहा है तो आप उस छात्र का वीडियो बंद भी कर सकते हैं।

12. म्यूट का ऑप्शन– आप एक बार में पर्सनल, छात्रों या उन सभी को म्यूट कर सकते हैं। म्यूट ऑन एंट्री का ऑप्शन आपकी इसमें मदद कर सकते हैं। 

13. प्रोफाइल पिक्चर करें हाईड– सेव ऑप्शन के साथ टीचर उन सभी प्रतिभागियों की प्रोफ़ाइल पिक्चर छिपा सकते हैं, जिनके पास उनका वीडियो नहीं है। केवल उनके नाम दिखते हैं। आप इस विकल्प को अपनी ज़ूम सेटिंग्स के इन मीटिंग में डिफ़ॉल्ट के रूप में भी सेट कर सकते हैं।

ज़ूम के इस दौर में हर टीचर को क्लासरूम की मदद से स्टूडेंट से जुड़े रहने का बेहतर विकल्प मिलता है। अगर आप भी ज़ूम का इस्तेमाल करते हैं तो न बेसिक विकल्पों को यूज करके आप अपना क्लासरूम और भी सिक्योर कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें-

ऑनलाइन शिक्षा- कुछ फायदे, कुछ नुकसान

4 प्रकार के परवरिश तरीके और उनका आप के बच्चों पर प्रभाव