googlenews
एक्सट्रा मेरिटल अफेयर

‘रितु को ऐसे रोते हुए तो मैंने कभी नहीं देखा। वो मेरी बचपन की सहेली है और उसे ऐसे रोते हुए मैं नहीं देख सकती हूं। कुछ तो करना ही पड़ेगा।’ पद्मा को आज रितु ने अपने पति के एक्सट्रा मेरिटल अफेयर के बारे में बताया है। उनका रो-रोकर बुरा हाल है। तो पद्मा भी ये सब देख कर हैरान हैं। लेकिन पद्मा एक चीज मानती हैं कि ये समय रोने का बिलकुल नहीं है। बल्कि ये समय स्थिति को ग्रेसफुली संभालने का है। ऐसे करने के लिए       रितु को कुछ खास कदम उठाने होंगे। इन कदमों के बिना उनकी जिंदगी पटरी पर आ ही नहीं पाएगी। पति के किसी और महिला से अफेयर के बाद सहेली होने के नाते पद्मा रितु को क्या सलाह देंगी। क्या समझाएंगी ऐसा कि रितु की स्थिति में आने वाली हर महिला के काम आए, चलिए जान लेते हैं-

तुम अकेली काफी हो-

जब भी किसी महिला को अपने पति के अफेयर का पता चलता है तो सबसे पहले उसे अपने अकेले होने का अहसास होता है। इस वक्त अगर उन्हें ये समझाया जाए कि वे अकेले ही काफी हैं तो इसका उनके वर्तमान पर अच्छा असर पड़ेगा। वो खुद को पहचान पाएंगी और अपनी क्षमताएं भी। किसी भी तरह सबसे पहले उन्हें उनके मजबूत होने और कुछ भी कर गुजरने की ताकत का अहसास कराना ही होगा। यह एक सोच है, जिसके सहारे आपकी सहेली अपनी जिंदगी आसानी से काट पाएंगी और स्थिति का सामना भी कर पाएंगी। 

वो किसी का नहीं-

यकीन मानिए, अगर कोई शादीशुदा जिंदगी में खुश नहीं है तो तलाक का विकल्प है। लेकिन सामाजिक छवि बनाए रखने के लिए वो तलाक भी नहीं दे रहे और साथ में भी रह रहे। इसके बाद वो किसी और से अफेयर भी कर रहे हैं तो ये पूरी तरह से गलत है। ऐसा शख्स किसी का भी नहीं हो सकता है। ना ही वो आपका होगा और ना ही दूसरी महिला का। ऐसे इंसान के लिए अपना समय और मानसिक स्वास्थ्य खराब करने का कोई फायदा नहीं होगा।  

स्थिति का सामना करें-

ऐसी स्थिति में ज्यादातर महिलाएं किसी तरह मामले को छुपा लेने की कोशिश करने लगती हैं जबकि इस वक्त ऐसा करना गलत को सहने जसा होता है। लेकिन ऐसा ना करके स्थिति का सामना करें और स्वीकार करें कि हां, ऐसा आपके साथ हुआ है। आपकी सहेली को ये बात भी समझनी होगी। उन्हें सामाजिक डर से कोई भी बात ना छुपाने को कहिए बल्कि इस स्थिति का डट कर सामना करने को कहिए। आपकी बात वो मानेंगी तो गलत को गलत कहने की समझ उन्हें जरूर आएगी। 

बच्चों की बात-

ये बात भी सही है कि सालों तक एक साथ रहने के बाद अचानक से एक गलती पर रिश्ता खत्म कर देना भी सही नहीं रहेगा। एक गलती माफ की जा सकती है लेकिन तब जब ऐसा दोबारा ना होने की गारंटी मिले। दरअसल शादी सिर्फ दो लोगों की नहीं होती है। इसमें दो परिवार, मां, पिता, रिश्तेदार और खासतौर पर बच्चे जुड़े होते हैं। उनकी खातिर एक गलती माफ की जा सकती है। और आमतौर पर महिलाएं ऐसा करती हैं। हालांकि ये सुझाव बहुत सोच-समझकर देने वाला ही है। 

बैठकर कर सुलझा लें-

पति का किसी दूसरी औरत की ओर मन भटक जाने के कई कारण हो सकते हैं। अब इन कारणों पर बात की जाएगी तो समझ लीजिए कि मामला सुलझेगा जरूर। इसके लिए आप उस दूसरी महिला से सवाल-जवाब करना तो सही नहीं रहेगा लेकिन अपने पति से शांत मन से बात कर लेना फलदायी जरूर होगा। उनसे ऐसा करने के बारे में पूछिए और कहिए कि उन्हें ऐसा करने की जरूरत नहीं थी। ऐसा करके उन्होंने आपका दिल तोड़ दिया है। यकीन मानिए दिल से कही बातें आपके पति को जरूर समझ आएंगी और आगे वो ऐसी गलती करने के बारे में सोचेंगे भी नहीं। अभी के लिए आपसे माफी भी जरूर मांगेंगे। 

अकेलापन तो नहीं-

कई बार ऐसा होता है, जब कोई इंसान अकेला महसूस करने लगे तो वो किसी में अपना सहारा ढूंढता है। इस वक्त उनका साथ देने के लिए पत्नी इसलिए भी नहीं होती हैं कि उनके ऊपर घर संभालने की ज़िम्मेदारी होती है। वो अक्सर घर के कामों में लगी रह जाती हैं और इसी वक्त पति को उनके साथ की जरूरत महसूस हो रही होती है। सहेली को कहिए कि पति के इस अकेलेपन को समझें और इसको खत्म करने की कोशिश भी करें। 

ये भी पढ़ें-

क्या दूसरी शादी पहली के मुकाबले कामयाब है