googlenews
Dirty Talks
Dirty Talks During Sex

Dirty Talks: रोमांस में रोमांच लाने के लिए सेक्सटिंग भी कमाल का काम करता है। सेक्सटिंग यानी डर्टी टॉक्स के जरिए लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में वर्चुअल सेक्स का भी मजा ले सकते हैं और हमेशा अपने पार्टनर के करीब महसूस कर सकते हैं, वो भी सिर्फ सेक्सी मैसेज के जरिए।

सेक्सटिंग शब्द सेक्स क्रियाओं के साथ जुड़ा है। सेक्सटिंग यानी कि सेक्स टेक्सटिंग। इसका अर्थ है पार्टनर को सेक्सी मैसेज या फोटो भेजना और जब आप फोन पर अपने सेक्सुअल फोटोज, सेक्सी टेक्स्ट मेसेज एक-दूसरे को भेजते हैं, तो उसे ‘सेक्सटिंग’ कहा जाता है।

सेक्सटिंग के माध्यम से अलग रहने वाले कपल्स के बीच इंटिमसी बनी रहती है। आजकल युवाओं में सेक्सटिंग का चलन तेजी से बढ़ रहा है। कपल्स अपने रिलेशनशिप को स्पाइसी बनाने के लिए सेक्सटिंग की मदद ले सकते हैं।

सेक्स तमाम कपल के लिए रोज के काम की तरह बन कर रह जाता है। पर सेक्सटिंग द्वारा अपने वैवाहिक जीवन तथा लांग डिस्टेंस रिलेशनशिप में फन, रोमांच और स्पाइस ऐड कर सकते हैं। यह एक्टीविटीज आपको और आपके पार्टनर को टर्न ऑन करती है और धीरे-धीरे सेक्स की ओर ले जाती है।

यह एक प्रकार की चैट (बातचीत) होती है। बस, इसमें फर्क इतना होता है कि नार्मल बातों के बजाय इसमें थोड़ी नॉटी, डर्टी और सेक्सुअल टॉक होती है। अगर आप बढ़िया सेक्स लाइफ की इच्छा रखती हैं तो सेक्सटिंग के इन उपायों को जरूर अपनाएं-

अगर आप पार्टनर के साथ रोमांटिक डेट प्लान कर रही हैं तो सुबह से शाम तक उसे रोमांटिक और सेक्स मेसेज भेज कर उसके अंदर के एक्साइटमेंट को बढ़ा सकती हैं।
आप पार्टनर से उसकी सेक्स फैंटेसी के बारे में पूछ सकती हैं। इससे समय आने पर उसका परफॉर्मन्स आपके लिए यादगार बन सकता है।

अगर आप सीधी बात मैसेज में टाइप नहीं कर सकतीं तो आप डर्टी इमोजी की भी मदद ले सकती हैं। सेक्सटिंग के लिए यह बढ़िया उपाय है। आपको पार्टनर के साथ बिताया समय अथवा किस बहुत अच्छी लगी हो तो आप उसे किस का अथवा कोई अन्य नॉटी इमोजी भेज सकती हैं।

सेक्सटिंग द्वारा आप किसी भी समय और कहीं भी अपने पार्टनर की आशाओं और इच्छाओं को बढ़ा सकती हैं। आप रात के पहले सीन क्रिएट करने के लिए उसे ऑफिस से घर जल्दी आने के लिए मजबूर कर सकती हैं।

जब कपल एक-दूसरे की तारीफ करते हैं, तो उनके बीच का अंतर घट जाता है और वे सहज अनुभव करते हैं। इससे सेक्सटिंग द्वारा अपने पार्टनर की तारीफ करने से दोगुना असर होता है। इसमें पार्टनर के तमाम अंगों की तारीफ करना है, जिसे पढ़ कर वह शर्म से लाल हो जाए। 

सेक्सटिंग द्वारा पार्टनर के घर आने के बाद क्या स्पेशल मिलना है, उसकी एक झलक दिखाने के लिए पार्टनर को ऐक्ट का प्रिव्यू टेक्स्ट भेजें। इसके लिए आप सेक्सी लांजरी पहन कर फोटो भेज सकती हैं।

सेक्सटिंग के दौरान न्यूड फोटो भेजने का भी चलन बढ़ गया है। पर इस दौरान सुरक्षा की दृष्टि से फोटो सही जगह भेजने सहित उसे डिलीट करने जैसी बातों का ध्यान रखना दोनों पार्टनर के लिए जरूरी है, क्योंकि सुरक्षा में जरा भी चूक हुई तो परेशानी हो सकती है।

सेक्सटिंग के फायदे

सेक्सी मैसेज या जिसे सेक्सटिंग का नाम दिया गया है, वह कुछ समय पहले विकृत मानसिकता वाला और असामान्य व्यवहार के रूप में देखा जाता था। पर आज के आधुनिक समय में जब संबंधों के बीच परिवर्तन देखने को मिल रहा है, तब सेक्सटिंग को सहजता से स्वीकार किया जा रहा है। इसके पीछे सेक्सटिंग के फायदे जिम्मेदार हैं। संबंधों में प्रगाढ़ता के लिए सेक्सटिंग से बहुत फायदा होता है।

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में अंतर घटता है। प्रेम किसी को देख कर नहीं किया जाता। कभी-कभी प्रेम देखे बगैर बातों से हो जाता है। ऐसे तमाम संबंध हैं, जो दूर होने पर भी बन जाते हैं और निभाए भी जाते हैं। दुनिया भर में कई प्रेम संबंध हैं, जिनमें अलग-अलग शहरों में रहते हुए भी एक-दूसरे को प्यार करते हैं और अपने संबंध को बड़ी ही प्रामाणिकता से निभाते हैं। परंतु लांग डिस्टेंस रिलेशनशिप में रहने वाले लोग पार्टनर के साथ इंटिमेट होने या सेक्स करने का मौका बहुत कम मिलता है, इससे वे दूर रहते हुए भी जब चाहें, तब पार्टनर के साथ रोमांटिक बातें करके एक-दूसरे की सेक्स की इच्छा पूरी कर सकते हैं।

संकोच दूर होता है। अक्सर आप पार्टनर से बहुत कुछ कहना चाहती हैं, पर संकोच की वजह से कह नहीं पातीं। खासकर जब आप किसी रिलेशनशिप में हों। अक्सर पत्नी या गर्लफ्रेंड पार्टनर से अपनी फैंटसी शेयर नहीं कर पाती। सेक्सटिंग एक ऐसा माध्यम है, जिससे आपका संकोच और शर्म दूर हो जाएगा। अगर आप पार्टनर से नॉटी बातें करने की हिम्मत नहीं कर पा रही हैं तो सेक्सटिंग से आप इस बोल्ड पहलू की शुरुआत कर सकती हैं।

तनाव दूर होता है। आजकल युवाओं में काम के प्रेशर अधिक रहता है, जिसके कारण वे तनाव में रहते हैं। ऐसी स्थिति में सेक्सटिंग करने से पार्टनर को तन के साथ मन को भी शांति मिलती है। सेक्सटिंग करने के दौरान पार्टनर के शरीर में फील गुड हार्मोन पैदा होते हैं और तनाव कम होने लगता है। यह मेल-फीमेल दोनों पार्टनर पर बराबर लागू होता है। 

सेक्स करने की फीलिंग्स आती है। नए कपल्स, लांग डिस्टेंस रिलेशनशिप में रहने वाले कपल्स, प्रेग्नेंसी से घबराने वाले कपल्स अथवा जो शादी से पहले सेक्स करना अनुचित मानते हैं, उनके लिए सेक्सटिंग सचमुच बढ़िया है। इससे उन्हें सेक्स करने का अनुभव होता है और जब सचमुच में सेक्स करने का समय आता है, तब उनके अंदर किसी तरह का संकोच या घबराहट नहीं होती।

सेक्सटिंग के नुकसान 

एक वेबसाइट के सर्वे के अनुसार माडर्न कपल की सेक्सुअल आदतों में परिवर्तन आया है। इस सर्वे के अनुसार लोगों का अब सेक्सुअल ट्रेंड्स भी बदल चुका है। अब लोग अपना तनाव दूर करने के लिए और पार्टनर के बीच अंतर घटाने के लिए सेक्सटिंग का सहारा लेने लगे हैं। लेकिन आप सेक्सटिंग में नई हैं तो शुरुआत करने से पहले कुछ बातों का खास ध्यान रखें। वरना आप मुश्किल में फंस सकती हैं। याद रखिए अगर सेक्सटिंग में फायदा है तो नुकसान भी है। 

सेक्सटिंग करने के दौरान आपके अंदर सेक्स करने की इच्छा तेजी से बढ़ेगी। इसकी वजह से आप पॉर्न देखने की आदी बन सकती हैं। 

एक तरह से देखा जाए तो सेक्सटिंग बहुत एक्साइटिंग हो सकती है। बस ध्यान रखें कि आपकी सुरक्षा और प्राइवेसी खतरे में न पड़े और आपका फोन या फिर चैट किसी दूसरे के हाथ न लगे।
सेक्सटिंग द्वारा कपल्स एक-दूसरे को न्यूड फोटो भेजते हैं, जिसकी वजह से भविष्य में ब्लैकमेलिंग भी हो सकती है। इसलिए कमिटेड पार्टनर या होने वाले पति के साथ सोच-विचार कर किसी तरह का खतरा न लगता हो, तभी आगे बढ़ें।

सेक्सटिंग के चक्कर में युवा पीढ़ी समय बरबाद करती है, क्योंकि दिन-रात सेक्स मैसेज उनके दिमाग में घूमा करते हैं, जिसकी वजह से वे कैरियर पर ध्यान नहीं दे पाते। 
सेक्सटिंग से उत्तेजना बढ़ती है। सेक्स की इच्छा पूरी नहीं होती, जिससे लोग अजीबो-गरीब हरकत कर बैठते हैं। इससे चरित्र और व्यक्तित्व दोनों पर लांछन लग सकता है।

Leave a comment