googlenews
morning walk

गठिया और ऑस्टियोपोरोसिस का इलाज

सुबह के सैर से जोड़ों के दर्द और अकड़न से निजात मिलता है। सुबह की सैर से हड्डियों के साथ-साथ मांसपेशियों की क्षमता को भी बढ़ाती हैं। ऑस्टियोपोरोसिस के मरीजों के लिए सुबह की सैर फायदा पहुंचा सकती है।

डिप्रेशन से मुक्ति

अगर तनाव से आप ग्रसित हैं, तो रोजाना 20 से 40 मिनट की सैर जरूर करें। मॉर्निंग वॉक करने से मस्तिष्क में रक्त का संचालन बेहतर होता है। जिससे तनाव का स्तर कम होता है इसलिए, डिप्रेशन से मुक्त होने के लिए आप रोजाना नियमित सुबह की सैर कर सकते हैं।

दिल की बीमारियों को दूर रखता है

केवल सुबह की सैर मात्र से ही दिल से संबंधी जोखिम 31 प्रतिशत और इससे मरने का जोखिम 32 प्रतिशत तक कम हो जाता है। दिल को स्वास्थ्य रखने के लिए आप रोज सुबह की सैर का आनंद जरूर लें।

बढ़ती है मस्तिष्क की कार्यक्षमता

मस्तिष्क की कार्यक्षमता को बढ़ाने के लिए भी सुबह की सैर जरूरी है। इससे आपकी याददाश्त बढ़ती है और मस्तिष्क की कार्यक्षमता को बेहतर बनाता है। जब आप सुबह सैरकरते हैं, तो मस्तिष्क को पर्याप्त ऑक्सीजन मिलती है और रक्त की आपूर्ति में तेजी आती है।

इम्यून सिस्टम होता है मजबूत

यह सभी को पता है कि सैर से शरीर में रक्त संचार बेहतर बना रहता है, जिस कारण ऑक्सीजन की आपूर्ति में सुधार आता है। प्रतिदिन 30 मिनट की सैर करने से इम्यून सिस्टम को मजबूत कर बीमारियों से लड़ने में मदद करता है।

ये भी पढ़े-

बड़े काम के हैं नींबू के ये घरेलू नुुस्खें

वेट लॉस के लिए ट्राई करें ये 7 होम रेमेडीज़

जब कॉन्स्टिपेशन हो, तो ट्राई करें ये 7 टिप्स

आप हमें फेसबुक , ट्विटर और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।