googlenews
Eyelash Curler
Eyelash Curler Credit: Instagram

Eyelash Curler: मेकअप करते हुए महिलाएं अपनी आंखों पर सबसे अधिक ध्यान देती हैं और उसमें भी अगर आपकी आईलैश थिक और कर्लिंग नजर आएं तो कहना ही क्या। आमतौर पर आईलैश को कर्ल करने के लिए आईलैश कर्लर का इस्तेमाल किया जाता है। इसकी मदद से आईलैशेज को नेचुरली बेहद ब्यूटीफुल दिखाया जा सकता है।

हालांकि, फिर भी कुछ महिलाएं इसे इस्तेमाल करने से डरती हैं या फिर बहुत सी महिलाएं इसे इस्तेमाल करती हैं, लेकिन इससे उनकी लैशेज को नुकसान पहुंचता है। हो सकता है कि आपके साथ भी कभी ना कभी ऐसा हुआ हो। लेकिन आपको वास्तव में घबराने की जरूरत नहीं है। अगर आपको आईलैश कर्लर से एक परफेक्ट रिजल्ट नहीं मिलता, तो यह आपकी कुछ गलतियों के कारण हो सकता है, जिसके बारे में आज हम आपको इस लेख में बता रहे हैं-

मस्कारा के बाद आईलैश कर्लर का इस्तेमाल करना

Eyelash Curler
Mascara

बहुत सी महिलाओं की आदत होती है कि वह पहले अपना आई मेकअप कंप्लीट करती हैं। यहां तक कि, वह मस्कारा भी पहले ही लगा लेती हैं और उसके बाद आईलैश कर्लर का इस्तेमाल करती हैं। जबकि आपको वास्तव में ऐसा नहीं करना चाहिए क्योंकि, ऐसा करने से आपकी पलकें सख्त हो जाती हैं और अधिक दबाव आपकी लैशेज को डैमेज कर सकता है। इसलिए, अगर आप आईलैश कर्लर से एक अच्छा रिजल्ट चाहती हैं, तो इसे इसे अपने मेकअप रूटीन का सबसे पहला स्टेप बनाएं। आप आई मेकअप करते समय सबसे पहले अपनी पलकों को कर्ल करें और उसके बाद ही आई मेकअप शुरू करें।

अच्छी क्वालिटी के आईलैश कर्लर का इस्तेमाल ना करना

Eyelash Curler
Use best quality product

चाहे बात मेकअप प्रॉडक्ट्स की हो या फिर मेकअप टूल्स की, यह बेहद आवश्यक है कि आप एक अच्छी क्वालिटी की चीजों का इस्तेमाल करें। यही नियम आईलैश कर्लर पर भी लागू होता है। कई बार महिलाएं पैसे बचाने के चक्कर में सस्ते आईलैश कर्लर खरीद लेती हैं, जो बाद में उन्हीं की लैशेज को नुकसान पहुंचाते है। इसलिए, यदि आप अपनी पलकों को कर्ल करने का प्लान कर रही हैं, तो एक अच्छी क्वालिटी के आईलैश कर्लर का इस्तेमाल करें। ऐसे कर्लर्स से दूर रहें जिनकी ग्रिप फिसलन भरी हो, क्योंकि ये आपकी पलकों पर फंस सकते हैं और उन्हें बाहर खींच सकते हैं। जिससे आपको आईलैशेज हेयर फॉल हो सकता है।

आईलैश कर्लर को सही तरह से पंप ना करना

Eyelash Curler
Pump should be done five to eight times and hold for few seconds

यह भी एक मिसटेक है, जो अक्सर महिलाएं कर बैठती हैं। वह आईलैश कर्लर का इस्तेमाल तो करती हैं, लेकिन उसे सही तरह से यूज नहीं करतीं, जिससे वह लंबे समय तक नहीं चल पाता। ऐसे में आपको एक लॉन्ग लास्टिंग कर्ल पाने के लिए आईलैश कर्लर को लगभग पांच से आठ बार पंप करना चाहिए और कुछ सेकंड के लिए होल्ड करना चाहिए। हमेशा लैशेज को बेस से कर्ल करते हुए टिप तक ले जाएं, ताकि एक फाइनल कर्ल लुक आपको मिल सके।

आई लैश कर्लर को गर्म ना करना

Eyelash Curler
Don’t get the curler too hot, so as not to damage your eyelashes

कुछ महिलाएं आईलैश कर्लर का इस्तेमाल करती हैं और उनकी लैशेज कर्ल भी हो जाती हैं, लेकिन फिर भी उनकी लैशेज कुछ वक्त में ही पहले जैसी हो जाती हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि ऐसा क्यों होता है? दरअसल, आईलैश कर्लर को अगर गर्म ना किया जाए तो आपको एक बेस्ट लुक नहीं मिल सकता। यह एक जीनियस हैक है जो सीधी और ड्रूपी पलकों पर भी कर्ल रखता है। जैसे आप अपने सीधे बालों को कर्ल करने के लिए हीट टूल्स का इस्तेमाल करते हैं, वैसे ही अपने कर्लिंग टूल को अपनी लैशेज में कर्ल को लॉक करने के लिए भी गर्म करें। इसके लिए, आप अपने हेयर ड्रायर को लगभग 10 इंच दूर रखें और आईलैश कर्लर को कुछ सेकंड के लिए जल्दी से गर्म करें और फिर उसे लैशेज पर इस्तेमाल करें। हालांकि, यह सुनिश्चित करें कि कर्लर बहुत अधिक गर्म ना हो, ताकि आपकी पलकों को कोई नुकसान ना पहुंचे।

आईलैश कर्लर को बहुत जोर से दबाना

Eyelash Curler
Pressing too hard can cause your eyelashes to fall out

कुछ महिलाएं ऐसा सोचती हैं कि अगर वह आईलैश कर्लर को इस्तेमाल करते समय बहुत अधिक जोर से इस्तेमाल करेंगी, तो इससे उन्हें एक परफेक्ट लुक मिलेगा और उनकी लैशेज लंबे समय तक कर्ल रहेंगी। जबकि वास्तव में ऐसा कुछ भी नहीं है। लैशेस को बहुत ज़ोर से दबाने से आपको वांछित परिणाम नहीं मिलेंगे, बल्कि इससे आपकी लैशेज ही डैमेज होंगी। बहुत जोर से दबाने से आपकी पलकें झड़ सकती हैं और आपको कर्ल नेचुरल दिखने के बजाय काफी अजीब नजर आ सकते हैं। इसलिए, आईलैश कर्लर को बेहद जेंटल तरीके से इस्तेमाल करें।

आईलैश कर्लर को क्लीन ना करना

Eyelash Curler
Clean after use

इस स्टेप पर अधिकतर महिलाएं ध्यान नहीं देती हैं और इस कारण आपके लैशेज एरिया को नुकसान पहुंच सकता है। दरअसल, आपके मेकअप ब्रश और अन्य मेकअप टूल्स की तरह, आपके आईलैश कर्लर को भी समय-समय पर क्लीन करना आवश्यक होता है। आप सप्ताह में एक बार इन्हें क्लीन कर सकती हैं। अब आप यह सोच रही होंगी कि आईलैश कर्लर को क्लीन करना क्यों जरूरी है,? दरअसल, पैड इंसर्ट पर प्रॉडक्ट के अवशेष, बैक्टीरिया और गंदगी जमा हो जाती है जो स्टाई अर्थात् पलक पिंपल्स का कारण बन सकती है। इसलिए, हर हफ्ते रबिंग अल्कोहल या माइक्रेलर वॉटर और कॉटन से आईलैश कर्लर से जमी हुई गंदगी को साफ करें।

Leave a comment