बरसात में भीगना किसे पसंद नहीं होता। हर कोई इस मौसम का भरपूर लुत्फ उठाना चाहता है, पर यह मौसम बालों के लिए नुकसानदायक भी होता है। एक्सपर्ट का मानना है कि बरसात का पानी अम्लीय और गंदा होता है, जो नमी को बढ़ाता है, जिससे बाल चिपचिपे हो जाते हैं। इसकी वजह से डैंड्रफ, बालों का झड़ना और दोमुंहे बालों जैसी समस्याएं शुरू हो जाती हैं। ऐसे में बालों को देखभाल की जरूरत होती है। यहां हम आपको कुछ ऐसे तरीके बता रहे हैं, जिसको अपनाकर आप बालों की सुंदरता को इस मौसम में भी कायम रख सकती हैं।

बारिश का पानी बालों पर न पड़ने दें 

बारिश के मौसम में हम कभी न कभी भीग जाते हैं। कोशिश ये करें की बारिश का पानी आपके बालों में न पड़े। इसके लिए बारिश में छतरी का प्रयोग करें और बालों को किसी कपड़े या दुपट्टे से ढककर ही निकलें। यदि बारिश का पानी बालों में पड़ भी जाए तो बालों को अच्छे शैंपू से धो लें, जिससे पानी का असर बालों पर न पड़े। 

कंडीशनर का प्रयोग करें 

मॉनसून में बाल चिपचिपे हो जाते हैं खासतौर पर तैलीय बाल और ज्यादा चिपचिपे हो जाते हैं, जिससे उनमें गंदगी इकठ्ठा होकर बालों के टूटने की समस्या बढ़ जाती है। ऐसे में आपको चाहिए की शैंपू करने के बाद अच्छे ब्रांड के कंडीशनर का इस्तेमाल करें। आप घर पर भी प्राकृतिक कंडीशनर बना सकते हैं जैसे- बालों को शैंपू करने के बाद एक मग पानी में नींबू का रस मिला लें और इससे बालों रिंस करें। नींबू से डैंड्रफ की समस्या कम होती है और बालों में चमक भी आ जाती है। प्राकृतिक कंडीशनर के लिए हिना में अंडे का सफेद भाग मिलाकर बालों में लगाएं। इसके अलावा दही में बेसन मिलाकर लगाएं और आधे घंटे बाद पानी से धो लें इससे बालों की चमक और ज्यादा बढ़ जाती है। 

बालों को बहुत देर तक गीला न छोड़ें  

बालों को धोने के बाद बहुत देर तक गीला न रहने दें इसके लिए मोटे तौलिये को बालों में लपेटकर अच्छी तरह सुखा लें। कभी-कभी हेयर ड्रॉयर का भी प्रयोग बालों को सुखाने के लिए कर सकती हैं लेकिन इसका इस्तेमाल ज़्यादा नहीं करें, क्योंकि इसके ज़्यादा प्रयोग से बाल ड्राई हो जाते हैं। गीले बालों पर कंघा न करें, क्योंकि गीले बालों पर कंघा करने से बाल ज़्यादा टूटते हैं।

यह भी पढ़ें –कहीं ब्यूटी न बिगाड़ दे आपका पार्लर

आपको हमारे ब्यूटी टिप्स कैसे लगे? अपनी प्रतिक्रियाएं हमें जरूर भेजें। ब्यूटी-मेकअप से जुड़े टिप्स भी आप हमें ई-मेल कर सकते हैं-editor@grehlakshmi.com