हरियाली हर किसी को अच्छी लगती है। अपने बगीचे में पेड़-पौधे लगाने के शौकीनों को बारिश के मौसम में इनका खास ख्याल रखना होता है क्योंकि पौधारोपण यानी प्लांटेशन करना बड़ी बात नहीं है बल्कि उन्हें किसी भी मौसम की मार से बचाना महत्वपूर्ण है। कम तापमान और आर्द्रता के कारण मानसून प्लांटेशन का सबसे अच्छा समय है। वे जड़ों को संभावित विकास प्रदान करते हैं। आपके इनडोर प्लांट्स हवा में नमी को अवशोषित कर सकते हैं और गर्मी के मौसम में होने वाली अतिरिक्त धूप से छुटकारा पा सकते हैं। लेकिन साल के इस मौसम में आपको अपने पौधों का ज्यादा ध्यान रखना होता है। पानी डालने से लेकर खाद डालने तक, कई चीजों पर ध्यान देना चाहिए। यहां कुछ सुझाव दिए हैं जो आपको बारिश के मौसम में अपने इनडोर प्लांट्स को बचाने में मदद करेंगे।

  • पौधों को पानी देने से पहले उनके पॉट्स को एक बार जांच लें। इस समय के दौरान, उन्हें पानी की बहुत कम मात्रा की जरूरत होती है। ओवरवॉटरिंग से जड़ों को नुकसान पहुंच सकता है।
  • अगर आप पौधों को पानी देते हैं तो इस बात का ख्याल रखें कि दोपहर 3 बजे के बाद कभी पौधों को पानी नहीं दें।
  • इस बात को सुनिश्चित कर लें कि पॉट्स की जल निकासी की व्यवस्था सही हो क्योंकि कोई भी स्थिर पानी नहीं हो।
  • मानसून के मौसम में पौधों को कीड़े लग जाते हैं। इसलिए किसी भी संक्रमण के लिए नियमित रूप से प्लांट बेड की जांच करना न भूलें। हालांकि, केंचुए उनके लिए अच्छे हैं क्योंकि वे मिट्टी में छेद करते हैं जो नाइट्रेटिंग में मदद करता है।
  • मानसून के दौरान आर्द्रता यानी ह्यूमिडिटी का स्तर अधिक होता है, इसलिए यह सुनिश्चित करें कि पौधों को उचित वेंटिलेशन और प्रकाश मिले।
  • यदि आपको अपने पौधे में उर्वरक डालने की जरूरत हो तो इसे सुबह 7 से 11 बजे के बीच करें।
  • अपने इनडोर पौधों में कीटों और बीमारियों से बचने के लिए सप्ताह में एक बार कीटनाशक और फफूंजनाशक लगाएं क्योंकि वे मानसून के दौरान कीटों को आसानी से पकड़ लेते हैं।
  • यदि पौधे छत या बरामदे में हैं तो उन्हें ढकने के लिए प्लास्टिक शीट्स के बजाए छिद्रित शीट्स का उपयोग कर सकते हैं। यह उन पर पानी छिड़कने में मदद करेगा।
  • मानसून के पहले पौधों की छंटाई करना हमेशा सही होता है।
  • बारिश से बचाने के लिए पौधों को उचित स्थान पर रखना न भूलें।
  • बारिश में अपने आप उग जाने वाले खरपतवार को नियमित रूप से हटाते रहें क्योंकि ये अन्य पेड़-पौधों को विकसित होने से रोकते हैं। इतना ही नहीं गार्डन की खूबसूरती भी इससे प्रभावित होती है।
  • बारिश के मौसम में क्या उगाएं ये भी एक टेंशन रहती है। बारिश में कई तरह की सब्जियां और फल उगा सकते हैं जिसमें मूली, पालक, गोभी, चुकंदर, टमाटर, भिंडी, चीकू, नीबू, पपीता, आम, जामुन आदि शामिल हैं। आप गुलमोहर और गुड़हल के पौधे भी लगा सकते हैं क्योंकि ये खासतौर पर बारिश में ही खिलते हैं।

डल स्किन वालों के लिए बड़े काम के हो सकते हैं ये 5 फ्रूट फेस मास्क

वर्टिकल गार्डन या ग्रीन वॉल के बारे में सोच रहे हैं, तो ये 6 आइडियाज़ काम के हो सकते हैं