हम तब बहुत बड़ी मुसीबत में फंस जाते हैं, जब हमारी कोई चीज चोरी या गुम हो जाए। और जब यह कोई चीज आपका फोन हो तो मुसीबत बहुत बड़ी लगती है। इसमें हमारे सारे संपर्क, बैंक के डिटेल्स, पर्सनल फोटोज और न जाने कितनी तरह की व्यक्तिगत चीजें स्टोर रहती हैं। व्हाट्सप्प भी कोई और इस्तेमाल न करे, इसका भी डर बना रहता है। यहां आपको ठंडे दिमाग से काम लेना है ताकि कोई अन्य व्यक्ति आपके फोन से आपके व्हाट्सप्प का इस्तेमाल न कर सके।

फोन के गुम हो जाने की स्थिति में क्या करना चाहिए

 

सबसे पहले तो आपको अपना सिम कार्ड लॉक कर देना चाहिए। इसके लिए आपको अपने मोबाइल प्रदाता को कॉल करना पड़ता है। ऐसा करने पर आपके चोरी या खोए हुए फोन पर अकाउंट को फिर से वेरिफाई नहीं किया जा सकेगा। ऐसा इसलिए क्योंकि अकाउंट को एसएमएस या फोन कॉल के जरिए ही वेरिफाई किया जा सकता है।

सिम कार्ड लॉक करा देने के बाद आपके पास दो विकल्प बचते हैं।

पहला, आप नए मोबाइल फोन पर पहले वाले नंबर का इस्तेमाल करके व्हाट्सप्प एक्टिवेट करेंगे। आपके ऐसा  करने से आप पाने नए फोन पर पुरानी नंबर का प्रयोग करके ही व्हाट्सप्प एक्टिवेट कर सकते हैं। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपके चोरी हुए या खोए गए फोन पर आपका व्हाट्सप्प अकाउंट तुरंत बंद हो जाएगा। ऐसा इसलिए क्योंकि एक बार में आप एक ही फोन पर व्हाट्सप्प को एक्टिवेट कर सकते हैं।

दूसरा, आप व्हाट्सप्प को ईमेल करके यह बताएं कि आपका फोन खो या गुम हो गया है। इसके लिए आपको उस ईमेल की बॉडी में यह लिखाण होगा : ‘खो गया/ चोरी हो गया : कृपया मेरे अकाउंट को डिएक्टिवेट कर दें।‘ साथ में अपना फोन नंबर अंतरराष्ट्रीय फॉर्मैट में लिखें।

कृपया ध्यान दें

अगर आप अपना व्हाट्सप्प अकाउंट डिएक्टिवेट करने के लिए व्हाट्सप्प से संपर्क नहीं करेंगे तो सिम कार्ड लॉक करवाए जाने और फोन सेवा अक्षम हो जाने के बावजूद वाई फाई पर व्हाट्सप्प का इस्तेमाल कोई भी कर सकता है।

हम आपके फोन को ढूंढने में आपकी किसी तरह की मदद नहीं कर सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि किसी अन्य फोन से व्हाट्सप्प को डिएक्टिवेट करना संभव नहीं है।

यदि आपने अपने फोन के गुम हो जाने या खो जाने से पहले गूगल ड्राइव, आईक्लाउड या वनड्राइव पर बैकअप बनाया हुआ है, तो आप अपने सभी चैट्स को रिस्टोर कर सकते हैं।

जब आपका अकाउंट डिएक्टिवेट हो जाता है तो

आपके अकाउंट को पूरी तरह से डिलीट करना असंभव है।

आपके संपर्कों को अभी भी आपकी प्रोफाइल पर देखा जा सकता है।

आपके संपर्क के लोग आपको मैसेज भेजने में सक्षम रहेंगे लेकिन वे 30 दिनों तक पेंडिंग ही रहेंगे।

यदि आप अपने अकाउंट के डिलीट होने से पहले उसे फिर से एक्टिवेट करेंगे तो आपको वे सभी पेंडिंग मैसेज अपने नए फोन पर मिलेंगे।

आप अभी भी अपने सभी समूह चैट में दिखेंगे।

यदि आप अपने अकाउंट को 30 दिनों तक फिर से एक्टिवेट नहीं करते हैं, तो इसे पूरी तरह से डिलीट कर दिया जाता है।

 

अकाउंट चोरी हो जाने की स्थिति में क्या करना चाहिए

कई बार ऐसा भी होता है कि आपका व्हाट्सप्प अकाउंट चोरी कर लिया जाता है। यह आपके द्वारा किसी अन्य के साथ कोड शेयर करने की वजह से होता है। ऐसे में आप अपने अकाउंट का एक्सेस खो देते हैं। यही वजह है कि आपको अपने व्हाट्सप्प एसएमएस वेरीफिकेशन कॉड को किसी के साथ भी शेयर नहीं करना चाहिए। किसी  अन्य के द्वारा धोखे से कोड का इस्तेमाल कर लेने के बाद उसे रिकवर करने के लिए आपको कुछ बातों के बारे में जानना चाहिए।

अगर आपको यह लग रहा एही कि कोई अन्य व्यक्ति आपके व्हाट्सप्प अकाउंट का प्रयोग कर रहा है, तो आपको इस बारे में अपने परिवार, दोस्तों और समपर्क के अन्य लोगों को जरूर बताना चाहिए। ऐसा इसलिए, ताकि उन्हें पता चल सके कि आपका अकाउंट किसी अन्य ने धोखेबाजी से ले लिए है और वे सतर्क हो जाएं। वह व्यक्ति उन्हें आपके नाम पर मैसेज भेजकर उन्हें मूर्ख बना सकता है। आपके लिए यह जानना जरूरी है कि व्हाट्सप्प एंड टू एंड स्क्रिप्टेड है और इसके सारे मैसेज आपकी डिवाइस पर सेव रहते हैं। यदि कोई अन्य व्यक्ति किसी दूसरे डिवाइस पर आपके अकाउंट को एक्सेस कर रहा है, तो वह आपके पहले के मैसेज को नहीं पढ़ सकता है।

आपका वहाट्सप्प अकाउंट कोई और न चोरी कर सके, इसके लिए कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए :

एसएमएस के जरिए प्राप्त हुए अपने 6 अंकों के रजिस्ट्रेशन कोड को कभी भी किसी के साथ शेयर न करें।

टू स्टेप वेरीफिकेशन को इनेबल कर लें। इसमें आपको बस एक पिन क्रिएट करनी होती है।

अपने डेटा को सुरक्षित रखने के लिए सिर्फ अपने संपर्कों को अपना प्रोफाइल फोटो देखने की अनुमति दें।

रुपए- पैसे की मांग करने वालों से सावधान रहें।

किसी भी तरह के रुपए- पैसे के ट्रांसफर से पहले सामने वाले की पहचान जरूर कन्फर्म कर लें।

ऐसे करें अपना अकाउंट रिकवर

अपने फोन नंबर से व्हाट्सप्प में साइन करके एसएमएस के जरिए आए 6 अंकों के कोड को डाल कर आपको अपना नंबर वेरफाई करना है। आपका डिवाइस चाहे एंड्रॉयड हो या आईफोन, आपको ऐसे ही करना है। जैसे ही आप अपना 6 अंकों का कोड डालेंगे, आपके अकाउंट को चोरी से इस्तेमाल करने वाला व्यक्ति अपने आप लॉग आउट हो जाएगा।

संभव है कि आपसे टू स्टेप वेरीफिकेशन कोड भी मांगा जाए। यदि आप इस कोड को नहीं जानते हैं, तो इसका मतलब यह है कि आपके अकाउंट का चोरी से प्रयोग कर रहा व्यक्ति टू स्टेप वेरीफिकेशन को ऑन कर चुका हो। ऐसे एमन अगर आप टू स्टेप वेरीफिकेशन कोड के बिना साइन इन करना चाहते हैं तो आपको 7 दिनों तक इंतजार करना पड़ेगा। तब आपको वेरीफिकेशन कोड की जरूरत नहीं पड़ेगी। आप जैसे ही एसएमएस में आए 6 अंकों वाले कोड को अपने डिवाइस पर डालेंगे, आपके अकाउंट को चोरी से इस्तेमाल करने वाला व्यक्ति अपने आप लॉग आउट हो जाएगा।

ध्यान दें :

यदि आप अपने अकाउंट को एक्सेस कर पा रहे हैं, फिर भी आपको ऐसा महसूस हो रहा है कि कोई अन्य व्यक्ति व्हाट्सप्प वेब या डेस्कटॉप से आपके अकाउंट का प्रयोग कर रहा है, तो यहां यही सुझाव दिया जाता है कि आप अपने फोन की मदद लेकर सभी कंप्यूटर से लॉग आउट कर लें।

अब कोई भी आपके फोन नंबर से व्हाट्सप्प अकाउंट रजिस्टर करना चाहेगा, तो व्हाट्सप्प आपके पास नोटिफिकेशन भेजेगा कि कोई अन्य आपके अकाउंट में लॉग इन करना चाह रहा है। यह आपके अकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है।  

 

ये भी पढ़ें : 

Whatsapp Help : डार्क मोड, मैसेज भेजना, अकाउंट बैन और जब आपका नंबर पहेल से व्हाट्सप्प पर हो 

Whatsapp Help : व्हाट्सप्प पर स्टोरेज कैसे खाली करें 

 

Whatsapp Help : जानें खोए और चोरी हुए फोन के साथ चोरी हुए अकाउंट के बारे में टेक्नॉलजी सम्बन्धी यह आलेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही टेक्नॉलजी से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com