googlenews
अरावली की पहाड़ियां

 

रोमांच प्रेमियों को यह जगह बेहद आकर्षित करती है। वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में जानवरों को उनके बेफिक्र अंदाज में देखना आपको बिल्कुल अद्भुत अनुभव करवाएगा। सर्दियों का मौसम यहां के पर्यटन के हिसाब से सबसे सुहाना समझा जाता है। दरअसल गर्मियों में जानवर गर्मी और धूप से बचने के लिए किसी छायादार आश्रय में छिपे रहना चाहते हैं और खुले जगाहों पर बहुत कम ही नजर आते हैं। इस कारण सर्दियों में इन दस वाइल्ड लाइफ सेंचुरी की सैर की जा सकती है।

 

ये हैं इंडिया के टॉप 10 वाइल्ड लाइफ डेस्टिनेशन 13

 

1. रणथम्भौर नेशनल पार्क/टाइगर रिजर्व , राजस्थान

सवाईमाधोपुर जिले में स्थित रणथम्भौर नेशनल पार्क अरावली और विंध्याचल पहाड़ियों के संगम स्थल पर फैला है। रणथम्भौर नेशनल पार्क को टाइगर रिर्जव परियोजना के तहत जाना जाता है। यहां टाइगरों की अच्छी खासी संख्या भी है। यहां की सबसे खास बात यह है कि समय-समय पर जब यहां बाघिन शावकों को जन्म देती हैं तो ऐसे मौके यहां के वन विभाग ऑफिसरों और कर्मचारियों के लिए किसी उत्सव से कम नहीं होते। यहां बड़ी संख्या में अन्य वन्यजीवों की मौजूदगी भी है। इनमें तेंदुआ, नील गाय, जंगली सूअर, सांभर, हिरण, भालू और चीतल आदि शामिल हैं।

कैसे पहुँचे यहाँ –

बाए एअर – नजदीक एअरपोर्ट कोटा (110 कि.मी)
बाए ट्रेन- नेशनल पार्क सवाईमाधोपुर शहर के रेलवे स्टेशन से 11 कि.मी. की दूरी पर है। सवाईमाधोपुर रेलवे स्टेशन से नजदीकी जंक्शन कोटा है, जहाँ से मेगा हाइवे के जरिए भी रणथंभौर तक पहुंचा जा सकता है।

 

ये हैं इंडिया के टॉप 10 वाइल्ड लाइफ डेस्टिनेशन 14

 


2. कॉर्बेट नेशनल पार्क, उत्तराखंड
 

जो प्रकृति की शांत गोद में आराम करना चाहते हैं उन वन्य जीव प्रेमियों के लिए कॉर्बेट नेशनल पार्क एक स्वर्ग है। यह उत्तराखंड के पहाड़ों में स्थित है। इसे भारत का पहला नेशनल पार्क भी कहा जा सकता है।
नैनीताल के खूबसूरत वादियों में स्थित यह पार्क 521 वर्ग किलोमीटर में फैला है। कार्बेट नेशनल पार्क टाइगर प्रोजेक्ट के अंतर्गत एक टाइगर रिजर्व भी है। आज इसमें टाइगरों की संख्या 200 से अधिक है। इसके अलावा यहां भालू, तेंदुआ, जंगली सूअर, पैंथर, बारहसिंगा, नीलगाय, सांभर, चीतल, हाथी और कई अन्य प्राणी देखे जा सकते हैं। यहाँ पर पक्षियों की 600 से अधिक प्रजातियां भी पाई जाती हैं। पर्यटक कॉर्बेट वॉटरफॉल्स (पानी के झरने) का आनंद भी उठा सकते हैं जो यहाँ से लगभग 60 फुट की ऊँचाई पर स्थित हैं। पहले इसे जिम कॉर्बेट के नाम से जाना जाता था। साल 1957 में इसका नाम कॉर्बेट नेशनल पार्क रखा गया।

कैसे पहुँचे यहाँ –

बाए एअर – नजदीक एअरपोर्ट देहरादून (154.7 कि.मी)
बाए ट्रेन– यहाँ पहुँचने के लिए दो रेलवे स्टेशन हैं- रामनगर और हल्द्वानी। रामनगर से धिकाला के लिए 47 कि.मी. की पक्की सड़क है। जिससे कॉर्बेट नेशनल पार्क पहुँचा जा सकता है।
बाए रोड– यह जगह दिल्ली से मात्र 240 किलोमीटर दूर है। सड़क मार्ग से 290 किलोमीटर है। बसों, टैक्सियों और कार द्वारा यहाँ 5-6 घंटे में पहुँचा जा सकता है।

 अगले पेज पर जाने के लिए यहाँ किल्क करें….

 

ये हैं इंडिया के टॉप 10 वाइल्ड लाइफ डेस्टिनेशन 15

 

3. गिर फॉरेस्ट नेशनल पार्क, गुजरात

गिर नेशनल पार्क, भारत की एक मात्र सफारी है जहां एशियाई शेर वास करते हैं। यह ‘टाइगर रिजर्व क्षेत्र’ है, जो ‘एशियाई बब्बर शेर’ के लिए विश्व प्रसिद्ध है। नदियां और पहाड़ों से बहते झरने गिर नेशनल पार्क की खूबसूरती बढ़ा देती है। यहाँ आम तौर पर तीन सफारी राइड्स होती हैं सवेरे 6.30 बजे, सुबह 9 बजे और दोपहर 3 बजे। वैसे सुबह की सफारी सबसे अच्‍छी मानी जाती है, क्‍योंकि उस वक्‍त शेर सबसे ज्‍यादा सक्रिय होते हैं। दक्षिणी अफ्रीका के छोड़कर यह विश्‍व का ऐसा एकलौता स्थान है , जहां शेरों को अपने प्राकृतिक आवास में रहते हुए देखा जा सकता है। जंगल के शेर के लिए अंतिम आश्रय के रूप में गिर का जंगल, भारत के मुख्य वाइल्डलाइफ सेंचुरी में से एक है।

 

कैसे पहुँचे यहाँ –

बाए एअर – नजदीक एअरपोर्ट केशोध (90 कि.मी) और राजकोट (140 कि.मी)।
बाए ट्रेन – यहाँ पहुँचने के लिए सासन गिर रेलवे स्टेशन हैं । जो कि गुजरात के मुख्य रेलवे मार्ग से जुड़ी है। जिससे कुछ ही कि.मी की दूरी तय कर के गिर नेशनल पार्क पहुँचा जा सकता है।

 

ये हैं इंडिया के टॉप 10 वाइल्ड लाइफ डेस्टिनेशन 16

 

4. सरिस्का नेशनल पार्क, राजस्थान

राजस्थान में अरावली की बिखरी हुई पहाड़ियों में स्थित है सरिस्का नेशनल पार्क। यहाँ पर टाइगरों को दोबार बसाया गया है। कहा जाता है कि पांडवों ने अपने वनवास के दौरान सरिस्का में आश्रय लिया था। इसके अलावा यहां लक्कड़बग्गा, जंगली बिल्ली, चौसिंगा, चिंकारा, बिज्जू और तेंदुए आदि देखे जा सकते हैं। इन वनों में सलाई, जामुन, अर्जुन, बहेड़ा, ढोक आदि के पेड़ की छाया वन्यजीवों को आश्रय देती है। यहाँ के वनों में सुनहरी पीठवाला कठफोड़वा पर्यटकों के आर्कषण का क्रेन्द रहता है।

कैसे पहुँचे यहाँ –

बाए एअर – नजदीक एअरपोर्ट दिल्ली (200कि.मी) और जयपुर (107 कि.मी)
बाए ट्रेन– यहाँ पहुँचने के लिए अलवर रेलवे स्टेशन हैं । वहां से 47 कि.मी की दूरी तय कर के सरिस्का नेशनल पार्क पहुँचा जा सकता है।

 

अगले पेज पर जाने के लिए यहाँ किल्क करें…

 

ये हैं इंडिया के टॉप 10 वाइल्ड लाइफ डेस्टिनेशन 17

 

 

5. कान्हा नेशनल पार्क, मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश में स्थित सतपुड़ा की पहाड़ियों से घिरा हुआ कान्हा नेशनल पार्क अपनी मनोरमता के खासा जाना जाता है। यहां आपको दुर्लभ जीव-जंतुओं के आलवा पेड़-पौधे की मिली-जुली प्रजातियाँ भी देखने को मिलेगी। यहाँ टाइगर आसानी से देखे जा सकते हैं। यह भी एक टाइगर रिजर्व है, जिसके चलते यहां बाघों को संरक्षण प्राप्त हुआ है। इस पार्क में आप बारहसिंगा की अनोखी प्रजाति देख सकेंगे जो भारत में सिर्फ यहीं मिलता है।

कैसे पहुँचे यहाँ –

बाए एअर – नजदीक एअरपोर्ट जबलपुर और नागपुर ।
बाए रोड– जबलपुर शहर (150 कि.मी.) से सड़क मार्ग द्वारा कान्हा नेशनल पार्क तक पहुँचा जा सकता है।

 

 

ये हैं इंडिया के टॉप 10 वाइल्ड लाइफ डेस्टिनेशन 18

 

 

6. दुधवा नेशनल पार्क, उत्तर प्रदेश

शहरो की भीड़ से दूर तराई तलहटी में प्राकृतिक शांति के साथ कुछ समय बिताने के लिए लखीमपुर स्थित दुधवा नेशनल पार्क उपयुक्त स्थान है। गहरे हरे जंगलों के बीच बहने वाली नदियां आपको जंगल का पूर्ण अनुभव देती है। इस जंगल का उत्तरी किनारा नेपाल की अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगा हुआ है और इसके दक्षिण में सुहेली नदी बहती है। यह नेशनल पार्क हिरण, हाथी और पंछियों समेत बाघ, तेंदुएं और विभिन्न विभिन्न पक्षियों के लिए घर है।

कैसे पहुँचे यहाँ –

बाए एअर – नजदीक एअरपोर्ट लखनऊ।
बाए ट्रेन– यहाँ पहुँचने के लिए दुधवा रेलवे स्टेशन हैं । वहां से 4 .मी की दूरी तय कर के आप गंतव्य तक पहुँच सकते हैं।
बाए रोड– लखनऊ शहर (238 कि.मी.) से सड़क मार्ग द्वारा दुधवा नेशनल पार्क तक पहुँचा जा सकता है।

 

 अगले पेज पर जाने के लिए यहाँ किल्क करें….

 

 

ये हैं इंडिया के टॉप 10 वाइल्ड लाइफ डेस्टिनेशन 19

 

7. सुन्दरवन नेशनल पार्क, पश्चिम बंगाल

सुंदरवन या सुंदरबोन भारत और बांग्लादेश में स्थित विश्व का सबसे बड़ा नदी डेल्टा है। यहां के नरभक्षी बाघ ‘बंगाल टाइगर’ के नाम से विश्व भर में प्रसिद्ध हैं। इस जगह को भी विश्व धरोहर में शामिल किया गया है। इस दलदली क्षेत्र में बड़ी तादाद में सुन्दरी पेड़ मिलते हैं जिनके नाम पर ही इन वनों का नाम सुन्दर वन पड़ा है। यहाँ के बंगाल टाइगर अपनी सुन्दरता और फूर्ति के लिए विश्व विख्यात है। यहाँ 400 से अधिक टाइगरों का आशियाना है, जिसमें रॉयल बंगाल टाइगर प्रमुख है। यह क्षेत्र नमकीन पानी में रहने वाले मगरमच्छ, जंगली बिल्ली, तेंदुआ आदि का भी आर्कषण केंद्र है।

कैसे पहुँचे यहाँ –

बाए एअर – नजदीक एअरपोर्ट नेताजी सुभाष चंद्र बोस, कलकत्ता(112 कि.मी.)।
बाए ट्रेन– यहाँ पहुँचने के लिए दो रेलवे स्टेशन हैं। पहला कैनिंग और दूसरा सिआलदा। वहां से नदी के रास्ते कुछ कि.मी की दूरी तय कर के आप गंतव्य तक पहुँच सकते हैं।
बाए रोड– कलकत्ता शहर (110 कि.मी.) से सड़क मार्ग द्वारा सुंदरवन नेशनल पार्क तक पहुँचा जा सकता है।

 

 

ये हैं इंडिया के टॉप 10 वाइल्ड लाइफ डेस्टिनेशन 20

 

 

8. काजीरंगा नेशनल पार्क, असम

असम में स्थित काजीरंगा नेशनल पार्क एक सींग वाले गैंडे का सबसे बड़ा आवास माना जाता है। जोकि विश्व विख्यात है। यह पूर्वी भारत के अंतिम छोर का एक ऐसा पार्क है जहां इंसान नहीं रहते। काजीरंगा नेशनल पार्क गैंडा, बाघ, हाथी, चीते, भालू, लंगूर, भेड़िया और अजगर के अलावा सैकड़ों चिड़ियों के आवास हैं। साथ ही, बड़ी-बड़ी एलिफेंट ग्रास, दलदली स्थान और उथले तालाब से भरा है। पर्यटक यहां का भम्रण हाथियों पर बैठ कर करते हैं।

कैसे पहुँचे यहाँ –

बाए एअर – नजदीक एअरपोर्ट गोवाहाटी ( 250 कि.मी.) और जोरहट (97 कि.मी.)।
बाए ट्रेन– यहाँ से नज़दीकी रेल सेवा 75 किलोमीटर दूर है।
बाए रोड– काज़ीरंगा जाने के लिए नियमित रूप से राज्‍य सरकार की बसें, ट्रैवल एजेंसीज के द्वारा चलाई जा रही बसें, टैक्‍सी आदि भी उपलब्‍ध हैं।

 

 अगले पेज पर जाने के लिए यहाँ किल्क करें….

 

ये हैं इंडिया के टॉप 10 वाइल्ड लाइफ डेस्टिनेशन 21

9. पन्ना नेशनल पार्क, मध्य प्रदेश

मध्यप्रदेश में खजुराहो से मात्र 20-22 कि.मी. दूर पन्ना नेशनल पार्क भी एक बेहद खूबसूरत जगह है। यहां साल तथा अन्य प्रकार के वृक्षों से घिरे हरे-भरे वनों में बाघ, तेंदुआ, सांभर, चीतल, भेड़िया, भालू के अलावा घड़ियाल और मगरमच्छ भी देखने को मिलते हैं।

कैसे पहुँचे यहाँ –

बाए एअर – नजदीक एअरपोर्ट खुजराहो (45 कि.मी.)।
बाए ट्रेन– यहाँ से नज़दीकी रेल सेवा सतना रेलवे स्टेशन (90 कि.मी.) है।

ये हैं इंडिया के टॉप 10 वाइल्ड लाइफ डेस्टिनेशन 22

10. बंदीपुर नेशनल पार्क, कर्नाटक

कर्नाटक स्थित बांदीपुर नेशनल पार्क दक्षिण भारत का एक प्रसिद्ध नेशनल पार्क है। इसे हाथियों का प्राकृतिक घर भी कहते हैं। यहां आपको हाथियों के झुंड-के-झुंड आसानी से अठखेलियां करते नजर आ जाएंगे। यहीं नहीं यहां पर लुप्त हुई कई प्रजातियाँ भी निवास करती है। यह नेशनल पार्क 1973 में प्रोजेक्‍ट टाइगर की शुरूआत के समय भारत में बनाए गए नौ टाइगर रिजर्व में से एक है।

कैसे पहुँचे यहाँ –

बाए एअर – नजदीक एअरपोर्ट बैंगलौर (220 कि.मी.)।
बाए ट्रेन- यहाँ से नज़दीकी रेल सेवा मैसूर रेलवे स्टेशन (80 कि.मी.) है।

अगले पेज पर जाने के लिए यहाँ किल्क करें….

 

 

 

इन बातों का रखें ध्यान –

– सर्दियों के मौसम में ही आप जानवरों को देखने का लुफ्त उठा सकते हैं।
-मानसून में इन जगहों पर यात्रियों के लिए प्रतिबंध लगा दिया जाता है।
– लगभग इन सभी नेशनल पार्कों में यात्रियों के ठहरने के लिए अतिथि गृह और विश्रम गृह उपलब्ध होते हैं।
– ध्यान रखें कि यहां ठहरने के लिए पहले से बुकिंग करानी होती है।
– जंगल भ्रमण के लिए आप अपने निजी वाहनों का प्रयोग नहीं कर सकते हैं।
– इन जगहों की सबसे रोमांचक बातें ये हैं कि यहां जंगल के अंदर घूमने के लिए आपको जीप या फिर हाथी से सैर कराई जाती है। जिसका अनुभव वास्तव में अद्भुत होता है।
– ध्यान रखें कि जंगल के अंदर जाने के लिए सुरक्षा की दृष्टि से गाइड के द्वारा बताए मार्गदर्शन पर चलें।