बुनाई क्लास
 
इससे पहली क्लास में हमने आपको बताया था कि सीधी और उल्टी सिलाई की बुनाई कैसे की जाती है। बुनाई के चौथे चरण में आज हम आपको बतायेंगे यहां कि फंदे कैसे घटाएं और बढ़ाएं जाते हैं।सलाई पर फंदों की संख्या को घटा अथवा बढ़ाकर परिधान को बड़ा या छोटा किया जा सकता है। यह काम दोनों छोरों पर अथवा पंक्ति के बीच में अधोलिखित के अनुसार किसा जा सकता है। 
फंदा घटाना
 
फंदा घटाना इस कार्य का सबसे सरल तरीका दो फंदों पर इकट्ठा काम करना हैं। यह आमतौर पर पंक्ति के शुरु या आखि़र में किया जाता हैं दाएं हाथ वाली सलाई को बाएं हाथ वाली सलाई के दो फंदों के बीच से गुज़ार कर दोनो फंदों को एक फंदा मानते हुए सीधा (अथवा उल्टा) बुनें।
 
 
 
 
फंदा बढ़ाना
 
फंदे बढ़ाने का सबसे सरल तरीका एक ही फंदे को दो बार बुनना हैं फंदे को सीधा (अथवा उल्टा) बुनें। फिर उसे सलाई पर उतारने की अपेक्षा उसी फंदे के पीछे की ओर से एक बार फिर सीधा (अथवा उल्टा) बुनें अब मूल फंदे को बायीं ओर की सलाई से उतार लें दायी ओर की सलाई पर मूल फंदे से बने हुए अब दो फंदे होगें। फंदा घटाना इस कार्य का सबसे सरल तरीका दो फंदों पर इकट्ठा काम करना हैं। यह आमतौर पर पंक्ति के शुरु या आखि़र में किया जाता हैं दाएं हाथ वाली सलाई को बाएं हाथ वाली सलाई के दो फंदों के बीच से गुज़ार कर दोनो फंदों को एक फंदा मानते हुए सीधा (अथवा उल्टा) बुनें।